कोरोना काल में छाई मंदी से उभरने की तैयारियों में जुटे उद्यमी, सरकार से भी लगाई मदद ही गुहार

कोरोना काल के मंदी के दौर से उभरने और उद्योगों की उन्नति के लिए गोष्ठी का आयोजन। उद्यमियों को स्कीम जानकारी देने के लिये आयुक्त उद्योग रहे मौजूद।आईआईए ने गोष्टी का किया आयोजन।

By: Rahul Chauhan

Published: 04 Sep 2021, 01:13 PM IST

नोएडा। बीते दो साल उद्योगों के लिए एक बुरे सपने के समान रहे हैं। कोरोना काल में उद्योगों को काफी बड़ा झटका लगा था और उद्योग मंदी के दौर से गुजर रहे हैं। इस बीच अब मंदी के दौर से उभरने के लिये उद्योग उन्नति के की नई संभावनाओं को तलाशने में जुट गए हैं। इसके लिये इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन (आईआईए) ने नए बिजनेस की संभावनाओं को तलाशने के लिए बिजनेस नेटवर्किंग ग्रुप बनाया है। इस ग्रुप के माध्यम से लघु और मध्यम उद्योगों आपस में बातचीत कर व्यापार के नए रास्ते तलाशने में जुटे हैं।

यह भी पढ़ें: रंग लाई मुहिम, महिला शिक्षकों को मैरिटल स्टेटस की जानकारी देना जरूरी नहीं, केवल योग्यता के आधार पर होगा चयन

इसके लिए नोएडा के सेक्टर 27 फॉर्चून होटल में एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद, दिल्ली, हापुड, मेरठ, और बुलंदशहर के उद्यमियों ने भाग लिया और अपने उद्योगों को आगे बढ़ाने के बारे में चर्चा की। साथ ही इस गोष्ठी में इस बात पर भी विचार विमर्श किया गया कि सरकार के साथ अपनी बात कैसे रखी जाए, जिससे कि उद्योगों की जो नीति बने वह उद्योगों के हित में हो।

यह भी पढ़ें: अब गंदगी फैलाने पर सिंगापुर की तर्ज पर लगेगा भारी-भरकम जुर्माना, सरकार लाई नया कानून

आईआईए के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजीव बंसल बताते हैं कि आईआईए एक राष्ट्रीय संस्था है, जिसके दस हजार से ज्यादा मेंबर हैं। उत्तर प्रदेश की हर जिले में शाखाएं हैं। इसके अलावा हरियाणा दिल्ली उत्तराखंड में भी सदस्य हैं। पिछले 36 साल से उद्योग की कैसे उन्नति हो सके, इस बारे में यह संस्था कार्यरत है। गोष्टी में लघु और मध्यम उद्योगों के लिये जो भारत सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार ने बनाई है स्कीमों के बारे में उद्यमियों को जानकारी देने के लिये आयुक्त उद्योग गौतमबुद्ध नगर अनिल कुमार अपने अधिकारियों के साथ यहां मौजूद रहे।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned