VIDEO: नो पावर कट जोन होने के बावजूद घंटों गुल रहती है बिजली, हर दूसरे दिन ट्रांसफार्मरों में होते हैं 'धमाके'

VIDEO: नो पावर कट जोन होने के बावजूद घंटों गुल रहती है बिजली, हर दूसरे दिन ट्रांसफार्मरों में होते हैं 'धमाके'

Rahul Chauhan | Updated: 13 Aug 2019, 05:44:01 PM (IST) Noida, Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh, India

खबर की मुख्य बातें

-ट्रांसफार्मरों में हो रहे फॉल्ट से दिखने वाले चिंगारी दिवाली की याद दिलाता है

-ये बिजली के जर-जर्र और ढीले पड़े तारों के आपस में टकराने से हो रहा है

-तारों में फॉल्ट होने के बाद तेज रोशनी के साथ ही पूरा सेक्टर अंधेरे की चादर में डूब गया

नोएडा। बिजली विभाग के अधिकारी नोएडा शहर को नो पावर कट जोन घोषित कर चुके हैं। बावजूद इसके नोएडा में कई ऐसे सेक्टर हैं, जहां सही मेंटिनेंस न होने के कारण आए दिन बिजली के तारों और ट्रांसफार्मर में खराबी के कारण बिजली गुल हो जाती है। जिसके चलते लोगों को गर्मी की ये उमस भरी राते सड़कों पर टहल के गुजारनी पड़ती है।

यह भी पढ़ें : लूट की प्लानिंग कर रहे बदमाशों को पुलिस ने ऐसे किया गिरफ्तार, अवैध हथियार भी हुए बरामद- देखें वीडियाे

लोगों का कहना है कि ट्रांसफार्मरों में हो रहे फॉल्ट से दिखने वाले चिंगारी दिवाली की याद दिलाता है। ये बिजली के जर-जर्र और ढीले पड़े तारों के आपस में टकराने से हो रहा है। ताजा मामला सेक्टर 71 स्थित शिव शक्ति अपार्टमेंट के ए ब्लॉक का है। जहां तारों में फॉल्ट होने के बाद तेज रोशनी के साथ ही पूरा सेक्टर अंधेरे की चादर में डूब गया। सेक्टरवासी कहते हैं कि इस तरह के नजारे आए दिन देखने को मिलते हैं और इन्हें उमस भरी गर्मी से निजात पाने के लिए सड़कों पर निकलने के लिए मजबूर होना पड़ता है।

 

निवासी रोहित कुमार का कहना है कि दिनभर ऑफिस में खटने के बाद जब घर पहुंचते हैं, तो सोचते हैं कि कुछ पल सकून से गुजर जाएंगे, लेकिन बिजली के इस प्रकार गुल होने से सुकून के पल भी नसीब नहीं मिल पाते हैं। इसका खामियाजा ये होता है कि लोग बीमार पड़ने लगे हैं।

यह भी पढ़ें: Samsung के मैनेजर ने लगाई फांसी तो TCS की कर्मचारी ने काट ली हाथ की नस, जानिए पूरा मामला

इसी सेक्टर में रहने वाले प्रमोद कुमार कहते हैं कि यहां जनता फ्लैट होने के कारण कोई सुनवाई नहीं होती है। यहां लगे तार बीसियों साल पुराने हैं। इसलिए अक्सर तार टूटने और आग लागने की घटना होती रहती है। न आरडबल्यूए और न ही बिजली विभाग के लोग सुनते हैं। किसी दिन बड़ा हादसा होगा तब इनकी नींद टूटेगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned