scriptschools up to 8th in noida ghaziabad and hapur are being closed | ओमिक्रोन के बढ़ते मामलों और बढ़ती शीतलहर के कारण 8वीं तक के सरकारी स्कूल बंद | Patrika News

ओमिक्रोन के बढ़ते मामलों और बढ़ती शीतलहर के कारण 8वीं तक के सरकारी स्कूल बंद

उत्तर प्रदेश सरकार के फैसले के बाद आल नोएडा स्कूल पैरेंट्स एसोसिएशन ने जिला प्रशासन से 12वीं तक के सभी स्कूलों में ऑफलाइन कक्षाएं बंद करने की मांग की है।

नोएडा

Published: December 31, 2021 05:24:41 pm

दिल्ली-एनसीआर में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के बढ़ते मामलों के बीच बढ़ती शीतलहर और कड़ाके की ठंड के चलते के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने नोएडा, ग्रेटर नोएडा, हापुड़ और गाजियाबाद में 8वीं तक के स्कूल 15 दिन के लिए बंद किए जाने की घोषणा की गई है। इस ऐलान के बाद 31 दिसंबर से अगले साल 14 जनवरी तक 8वीं तक के सरकारी स्कूल बंद रहेंगे। निजी स्कूलों के लिए कोई दिशानिर्देश नहीं है।
school_closed.jpg
यह भी पढ़ें

UP Weather: कड़ाके की ठंड के साथ होगी नए साल 2022 की शुरुआत, कुछ शहरों में बारिश की संभावनाएं

बेसिक शिक्षा अधिकारी धर्मेंद्र सक्सेना ने बताया कि शासन ने शीतकालीन अवकाश के लिए आदेश दिए हैं। इसके तहत सभी सरकारी विद्यालयों को शुक्रवार से विद्यालय बंद करने के आदेश दे दिए गए हैं। निजी स्कूलों के लिए कोई दिशानिर्देश नहीं है। बढ़ती शीतलहर और कड़ाके की ठंड के चलते उत्तर प्रदेश सरकार ने यह फैसला लिया है। बेसिक शिक्षा विभाग के टाइम एंड मोशन स्टडी के आदेश के तहत पहली बार शीतकालीन अवकाश दिया जा रहा है। इससे पहले जिलाधिकारी के आदेशों के तहत विभिन्न जिलों में स्कूलों में छुट्टी की जाती रही हैं।
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने इस बाबत विस्तार से एक गाइडलाइन भी जारी की है। इसके तहत स्कूलों को विकल्प के तौर पर ऑनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था करानी होगी। अगर स्कूल में किसी को भी जुकाम, बुखार के लक्षण दिखते हैं तो उसे तुरंत घर पहुंचाने की व्यवस्था स्कूल को करनी होगी।
यह भी पढ़ें

कोरोना के बढ़ते केस और नए वैरिएंट ओमिक्रोन के कारण बंद हो सकते हैं यूपी के स्कूल, ऑनलाइन पढ़ाई की तैयारी का निर्देश

उत्तर प्रदेश सरकार के फैसले के बाद आल नोएडा स्कूल पैरेंट्स एसोसिएशन ने जिला प्रशासन से 12वीं तक के सभी स्कूलों में ऑफलाइन कक्षाएं बंद करने की मांग की है। संगठन के अध्यक्ष यतेंद्र कसाना ने कहा कि दिल्ली, एनसीआर में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए दिल्ली की तरह नोएडा में भी प्रशासन यह कदम उठाए। संगठन के अध्यक्ष यतेंद्र कसाना ने कहा कि टीकाकरण न होने से बच्चों में संक्रमण का खतरा ज्यादा है। कहा जा रहा है कि ओमिक्रोन और कोरोना की तीसरी लहर के चलते भी यह फैसला लिया गया है। वहीं, निजी के साथ सरकारी शिक्षक, कर्मचारी और छात्र-छात्राओं के लिए मास्क पहनना अनिवार्य है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

संसद में फिर फूटा कोरोना बम, बजट सत्र से पहले सभापति नायडू समेत अब तक 875 कर्मचारी संक्रमितRepublic Day 2022 parade guidelines: बिना टीकाकरण और 15 साल से छोटे बच्चों को परेड में नहीं मिलेगी इजाजतकोरोना ने टीका कंपनियों को लगाई मुनाफे की बूस्टरदेश में कोरोना के बीते 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा नए मामले, जानिए कुल एक्टिव मरीजों की संख्यासुप्रीम कोर्ट में 6000 NGO के FCRA लाइसेंस रद्द करने के खिलाफ याचिका पर सुनवाई आजसुप्रीम कोर्ट के वकीलों को मिला रिकॉर्डेड कॉल, दिल्ली में कश्मीर का झंडा फहराने की धमकीसेल्स एंड टाइल्स व्यापारी के घर GST का छापा, सुबह-सुबह पहुंची टीम, घर, गोदाम और दुकान में खंगाले दस्तावेजमुठभेड़ में ढेर हुआ ईनामी नक्सली कमांडर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.