scriptIndia's 75th Independence Day Celebrations | Independence Day 2021 : फिल्मी गीत बनाते हैं माहौल, लोगों में जगाते हैं देशप्रेम की भावना | Patrika News

Independence Day 2021 : फिल्मी गीत बनाते हैं माहौल, लोगों में जगाते हैं देशप्रेम की भावना

Independence Day 2021 : फिल्मों में आजादी और देशभक्ति से ओतप्रोत गीतों के लिए गीतकारों और संगीतकारों को भी धन्यवाद देना चाहिए।

नई दिल्ली

Published: August 14, 2021 10:26:41 am

सुशील गोस्वामी, सदस्य, सीबीएफसी

Independence Day 2021 : 'अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो', नामालूम-सी किसी जगह से लाउड स्पीकर गूंज उठता है। खुदा की नेमत मोहम्मद रफी की पुरकशिश आवाज हमें पूरे भाव के साथ बताती है कि देश को स्वतंत्रता मिलने के भाव में सराबोर होना है। तभी पाश्र्व में कहीं मेरे देश की धरती सोना उगलने लगती है, महेंद्र कपूर के चिर-परिचित स्वर की अनुगूूंज छाती में एक जज्बा-सा भरती हुई उठती है। अब दूर कहीं , हवा के संग लहरातीं, सुर की पर्याय लता हैं - 'ए मेरे वतन के लोगों, जरा आंख में भर लो पानी', यह आवाज, ये बोल एक मौका बनते हैं, स्वतंत्रता दिवस के पावन दिन पर अपने अंतस को परिमार्जित कर लेने का। साल- दर - साल यह सिलसिला चल रहा है। ऐसे आवसर पर सुबह आंख खुलने के साथ ही कहीं न कहीं से देशभक्ति के गीत सुनाई देने लगते हैं। इससे अनजाने में ही व्यक्ति के न में देशभक्ति की भावना समाहित हो जाती है।

75th independence day 2021
75th independence day 2021

पुराने सदाबहार गीत जिंदाबाद हैं। 'वन्दे मातरम' से लेकर 'ये देश है वीर जवानों का' ने अब भी धरती नहीं छोड़ी है, पर कुछ बाद के नगमों ने भी ख़ूब जगह बनाई है। विशेषकर रहमान के जादू ने पुरानों की चिर- स्वीकार्यता को भेदा है। उनकी आवाज में 'मां तुझे सलाम' टक्कर देता है। 'मोहे रंग दे बसंती', प्रसून जोशी का लिखा यह क्लासिक स्वाधीनता दिवस और गणतंत्र दिवस पर देशभक्ति को हर बरस झिंझोडऩे आता है। फिल्में आम जीवन से ही उगती-उठती हैं। देशभक्ति की फिल्मों ने ख़ूब कामयाबी का मुख देखा है। देशभक्ति आम तौर पर अभिव्यक्ति ढूंढती है। फिल्में यथार्थ या कल्पना, जिस भी धागे से बुनी जाएं, आम आदमी की उस अभिव्यक्ति को संतुष्ट करती हैं। फिल्मों ने समाज को जो सकारात्मकता दी है, उसमें ये गीत सबसे शानदार तोहफा हैं।

इस महान दिवस के उपलक्ष्य में देश के प्रधानमंत्री का लाल किले से भाषण एक अनिवार्य परम्परा है। भारतवर्ष उसे छोटे पर्दे पर देखता है। साथ ही सुबह से दिन ढलने तक देश-भर में शहर-शहर, गांव-गांव के स्कूलों, सार्वजनिक प्रतिष्ठानों इत्यादि में लाउडस्पीकर से फिल्मी सुर-शब्दों की गंगा बहती है, जिन्हें भले हम ठिठक कर न सुनें, पूरा अटेंशन चाहे न दें, पर सच पूछें तो ये हमारे इस दिन को मुकम्मल बनाते हैं। ये गीत कह जाते हैं कि आज हमारा देश स्वाधीन हुआ था। कल्पना की जा सकती है कि ये फिल्मी गीत इस दिवस न गूंजें, तो कितना खालीपन रह जाएगा।

रक्षा-बंधन का त्योहार भी इन गीतों से अवश्य ही सजता है। 'राखी, धागों का त्योहार' में रफी अपनी मखमली आवाज के जादू से बहन- भाई के प्यार को इस कदर उभारते हैं कि कानों में एकाध बार ये बोल, ये धुन न पड़ें, तो काफी-कुछ अधूरा-सा लगता है यह पवित्र दिन। ये गीत इन पावन दिनों में हम सभी में जज्बा जगाते हैं।

मोहम्मद रफी, लता मंगेशकर, महेंद्र कपूर इत्यादि गायकों व मदन मोहन, सी रामचंद्र , कल्याण जी-आनंद जी या रहमान समेत उन समूचे संगीतकारों व गीतकारों को हमें इसके लिए धन्यवाद ज्ञापित जरूर करना चाहिए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमी100-100 बोरी धान लेकर पहुंचे थे 2 किसान, देखते ही कलक्टर ने तहसीलदार से कहा- जब्त करोराजस्थान में यहां JCB से मिलाया 242 क्विंटल चूरमा, 6 क्विंटल काजू बादाम किशमिश डालेShani Parvat: हाथ में मौजूद शनि पर्वत बताता है कि पैसों को लेकर कितने भाग्यशाली हैं आपफरवरी में मकर राशि में ग्रहों का महासंयोग, मेष से लेकर मीन तक इन राशियों को मिलेगा लाभNew Maruti Wagon R : अनोखे अंदाज में आ रही है आपकी फेवरेट कार, फीचर्स होंगे ख़ास और मिलेगा 32Km का माइलेज़2 बच्चों के पिता और 47 साल के मर्द पर फ़िदा है ‘पुष्पा’ की 25 साल की एक्ट्रेस, जाने कौन है वो

बड़ी खबरें

7 मार्च तक चुनावी एक्ज़िट पोल पर रोक, 2 साल की जेलJammu Kashmir: अनंतनाग के हसनपोरा में आतंकी हमला, पुलिस हेड कांस्टेबल अली मोहम्मद शहीदभरोसा बनाए रखें, प्रिंट मीडिया को कोई खतरा नहींः प्रो. संजय द्विवेदीUP Assembly Elections 2022: राजा भैया के खिलाफ कुंडा से समाजवादी के बाद बीजेपी ने घोषित की प्रत्याशी, जाने कौन है सिंधुजा मिश्रा जो राजा को देगी टक्करमहिला आयोग के नोटिस के बाद झुका SBI, विवादित सर्कुलर लिया वापसBeating the Retreat: गणतंत्र दिवस समारोह के समापन पर विजय चौक पर भव्य शो, 300 साल पुरानी है 'बीटिंग द रिट्रीट' परंपराभाजपा MLA की ‘जाति’ पर सवाल,हाईकोर्ट ने कहा- 90 दिन में सरकार करे समाधानराजनीतिक संरक्षण में हुआ है रीट परीक्षा का पेपर आउट,मंत्रिमंडल तक जुड़े हैं तार-राठौड़
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.