ओलंपिक में भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तानी करेंगी रानी रामपाल

रानी ने कहा, ‘ओलंपिक में भारतीय टीम का नेतृत्व करना सम्मान की बात है। पिछले कुछ वर्षों में कप्तान के रूप में मेरी भूमिका से यह आसान हुआ।

By: भूप सिंह

Published: 21 Jun 2021, 11:26 PM IST

नई दिल्ली। हॉकी इंडिया (Hockey India) ने सोमवार को अनुभवी स्ट्राइकर रानी रामपाल (Striker Rani Rampal) को अगले महीने होने वाले टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olampic) के लिए भारतीय महिला हॉकी टीम (India Women Hockey Team) का कप्तान बनाने की घोषणा की। टोक्यो ओलंपिक का आयोजन अगले महीने 23 तारीख से होना है। इसके लिए हॉकी इंडिया ने कुछ दिनों पहले 16 सदस्यीय भारतीय महिला हॉकी टीम घोषित की थी। हालांकि, उस समय कप्तान का ऐलान नहीं किया गया था। रानी के अलावा डिफेंडर दीप ग्रेस एक्का (Deep Grace Ekka) और गोलकीपर सविता पुनिया (Savita Punia) को टीम का उपकप्तान बनाया गया है।

यह भी पढ़ें:—हॉकी इंडिया को मिला प्रतिष्ठित एटिनी ग्लिचिट्च पुरस्कार

हॉकी इंडिया का नेतृत्व करना सम्मान की बात
रानी ने कहा, ‘ओलंपिक में भारतीय टीम का नेतृत्व करना सम्मान की बात है। पिछले कुछ वर्षों में कप्तान के रूप में मेरी भूमिका से यह आसान हुआ। मैं इस जिम्मेदारी के लिए तैयार हूं और मुझे यह सम्मान देने के लिए मैं हॉकी इंडिया का धन्यवाद करती हूं।’ हॉकी इंडिया ने कहा कि रानी ना सिर्फ अपने ऑनफील्ड प्रदर्शन के लिए बल्कि टीम में युवाओं का मार्गदर्शन करने की उनकी सहज क्षमता के लिए भी कप्तान के रूप में पहली पसंद थीं।

यह भी पढ़ें:—टेस्ट इवेंट के लिए महिला हॉकी टीम घोषित, रानी रामपाल करेंगी कप्तानी

लंबे समय से टीम का हस्सा रही सविता और दीप
हॉकी इंडिया ने कहा,‘सविता और दीप करीब एक दशक से संभावित टीम का हिस्सा हैं और लीडरशीप ग्रुप का अहम हिस्सा रहीं हैं। इन्होंने 2018 में सर्वश्रेष्ठ नौंवीं रैंकिंग हासिल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।’ भारतीय महिला टीम ने पिछले चार वर्षों में कई बेहतरीन नतीजे दिए हैं जिसमें 2017 में एशिया कप जीतना और 2018 एशियाई खेलों में रजत पदक जीतना शामिल है। रानी के नेतृत्व में ही टीम 2018 में लंदन में हुए एफआईएच महिला विश्व कप में पहली बार क्वार्टर फाइनल में पहुंची थी।

Show More
भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned