Pakistan: नेता प्रतिपक्ष शहबाज शरीफ को मनी लॉंड्रिंग मामले में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

HIGHLIGHTS

  • Shahbaz Sharif Sent To Judicial Custody: जवाबदेही कोर्ट ने मनी लॉंड्रिंग मामले में विपक्ष के नेता व पीएमएल-एन प्रमुख शहबाज शरीफ को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।
  • आय से अधिक संपत्ति और मनी लॉंड्रिंग के 700 करोड़ रुपये के मामले में कोर्ट ने सोमवार को शहबाज शरीफ की जमानत अर्जी खारिज हुई थी, जिसके बाद NAB ने गिरफ्तार कर लिया था।

By: Anil Kumar

Updated: 30 Sep 2020, 11:13 PM IST

लाहौर। पाकिस्तान में जारी सियासी बवाल के बीच मनी लॉंड्रिंग मामले में विपक्ष के नेता व पीएमएल-एन प्रमुख शहबाज शरीफ ( Leader of Opposition Shahbaz Sharif ) को जवाबदेही कोर्ट ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत ( Shahbaz Sharif Sent To Judicial Custody ) में भेज दिया है।

सोमवार को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (NAB) ने लाहौर उच्च न्यायालय परिसर में शहबाज शरीफ को गिरफ्तार किया था। आय से अधिक संपत्ति और मनी लॉंड्रिंग के 700 करोड़ रुपये के मामले में कोर्ट ने शहबाज शरीफ की जमानत अर्जी खारिज कर दी, जिसके बाद NAB ने गिरफ्तार कर लिया था।

Pakistan: मनी लॉंड्रिंग मामले में नेता प्रतिपक्ष और पूर्व पीएम नवाज शरीफ का भाई शहबाज शरीफ गिरफ्तार

बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री रह चुके 69 वर्षीय शहबाज को मंगलवार को जवाबदेही कोर्ट में जस्टिस जवाद-उल-हसन के समक्ष पेश किया गया था। कोर्ट में शहबाज शरीफ ने जज से अपील किया कि वे अपने वकील की जगह पर खुद अपनी दलील पेश करना चाहते हैं। इसपर जस्टिस हसन ने उन्हें अपनी दलील पेश करने की इजाजत दे दी।

शहबाज शरीफ ने आरोपों से किया इनकार

आपको बता दें कि कोर्ट में जज के सामने अपनी दलील खुद रखते हुए शहबाज शरीफ ने कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया। उन्होंने अपने उपर लगे सभी आरोपों से इनकार करते हुए प्रधानमंत्री इमरान खान और NAB के बीच गठजोड़ का आरोप लगाया।

शरीफ ने कहा कि इमरान सरकार और NAB की मिलीभगत ने देश में जवाबदेही का मजाक उड़ाया है। वे केवल विपक्षी नेताओं को ही निशाना बना रहे हैं। उन्होंने आगे यह भी कहा कि मेरे खिलाफ मनी लॉंड्रिंग के आरोप आधारहीन हैं। मैं कोई बिजनेस नहीं करता हूं। शरीफ ने कहा कि मेरे अभिभावको ने कड़ी मेहनत से बिजनेस को स्थापित किया और फिर बाद में मेरे बच्चों को हस्तांतरिक कर दिया। इसमें मेरा कोई लेनादेना नहीं है।

नवाज शरीफ के छोटे भाई शहबाज पर शिकंजा कसा, कोर्ट में पेश होने का आखिरी मौका

कोर्ट में अपनी दलील रखते हुए शहबाज शरीफ ने कहा कि जिस समय के मनी लॉंड्रिंग की बात की जा रही है, उस दौरान मैंने पंजाब प्रांत के बतौर मुख्यमंत्री जनता के लिए कुछ ऐसे निर्णय लिए हैं, जिससे उनके बड़े भाई और पुत्र हमजा के व्यापार में करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ है।

दलील सुनने के बाद कोर्ट ने NAB के अनुरोध को स्वीकार कर लिया और शहबाज शरीफ को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। कोर्ट ने कहा शहबाज शरीफ को अब 13 अक्टूबर को फिर से अदालत में पेश किया जाए।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned