scriptNo minister has been made from Pali assembly constituency since 1993 | Rajasthan Assembly Elections 2023: तीन दशक से राज्य की पंचायत में नहीं पाली का पंच | Patrika News

Rajasthan Assembly Elections 2023: तीन दशक से राज्य की पंचायत में नहीं पाली का पंच

locationपालीPublished: Dec 01, 2023 09:56:20 am

Submitted by:

Rajeev Dave

पाली विधानसभा क्षेत्र से वर्ष 1993 से अब तक नहीं बना कोई मंत्री, पिछली विधानसभा को छोड़कर हर विधानसभा में रहा है पाली जिले का मंत्री।

Rajasthan Assembly Elections 2023: तीन दशक से राज्य की पंचायत में नहीं पाली का पंच
Rajasthan Assembly Elections 2023: तीन दशक से राज्य की पंचायत में नहीं पाली का पंच

पाली की पंचायत पूरे राज्य व देश में प्रसिद्ध है, लेकिन पाली विधानसभा से कोई प्रत्याशी तीन दशक से विधानसभा में पंच (मंत्री) नहीं बना है। पाली से अंतिम बार भाजपा से जीती पुष्पा जैन वर्ष 1990 में मंत्री बनी थी। उसके बाद से पाली विधानसभा क्षेत्रवासी इंतजार कर रहे हैं। जबकि पाली जिले की अन्य विधानसभाओं से कोई न कोई मंत्री पद पर रहा है। वर्ष 1993 में तो मुख्यमंत्री ही पाली की बाली विधानसभा सीट से जीते भैरोसिंह शेखावत बने थे। खास बात यह है कि पाली विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं ने वर्ष 1998 से 2018 तक लगातार एक ही प्रत्याशी ज्ञानचंद पारख को जीताकर विधानसभा भेजा। वे पिछले 25 साल से प्रतिनिधित्व कर रहे हैं, इसके बावजूद कोई मंत्री पाली से नहीं बना है।

पाली जिले से ये रहे मंत्री पद पर
पाली की बाली विधानसभा से भैरोसिंह शेखावत जीते और मुख्यमंत्री रहे। जैतारण विधानसभा से भाजपा से सुरेन्द्र गोयल मंत्री रहे। कांग्रेस के दिलीप चौधरी भी संसदीय सचिव बने। सुमेरपुर विधानसभा से कांग्रेस की बीना काक मंत्री रही। भाजपा के मदन राठौड़ उप मुख्य सचेतक दूसरी बार जीत कर ही बने। सोजत विधानसभा से कांग्रेस सरकार में दीवान माधोसिंह मंत्री रहे। भाजपा से लक्ष्मीनारायण दवे पहली बार जीतकर मंत्री बने। बाली से पुष्पेन्दसिंह राणावत मंत्री बने।

पाली जिले में विधानसभावार इन्होंने दर्ज की थी जीत
वर्ष 1993: जैतारण से बीजेपी के सुरेन्द्र गोयल, सोजत से कांग्रेस के माधवसिंह दीवान, पाली से निर्दलीय भीमराज भाटी, बाली से भैैरोसिंह शेखावत, सुमेरपुर से कांग्रेस की बीना काक।
वर्ष 1998: जैतारण से बीजेपी के सुरेन्द्र गोयल, सोजत से कांग्रेस के माधवसिंह दीवान, पाली से भाजपा के ज्ञानचंद पारख, बाली से भाजपा के भैरोसिंह शेखावत, सुमेरपुर से कांग्रेस की बीना काक।
वर्ष 2003: जैतारण से भाजपा के सुरेन्द्र गोयल, सोजत से भाजपा के लक्ष्मीनारायण दवे, पाली से भाजपा के ज्ञानचंद पारख, बाली से भाजपा से पुष्पेन्द्रसिंह राणावत, सुमेरपुर से भाजपा के मदन राठौड़।
वर्ष 2008: जैतारण से कांग्रेस के दिलीप चौधरी, सोजत से भाजपा की संजना आगरी, पाली से भाजपा के ज्ञानचंद पारख, मारवाड़ जंक्शन से भाजपा के केसाराम चौधरी, बाली से भाजपा के पुष्पेन्द्रसिंह राणावत, सुमेरपुर से कांग्रेस की बीना काक।
वर्ष 2013: जैतारण से भाजपा के सुरेन्द्र गोयल, सोजत से भाजपा की संजना आगरी, पाली से भाजपा के ज्ञानचंद पारख, मारवाड़ से भाजपा के केसाराम चौधरी, बाली से भाजपा के पुष्पेन्द्रसिंह राणावत, सुमेरपुर से भाजपा के मदन राठौड़।
वर्ष 2018: जैतारण से भाजपा के अविनाश गहलोत, सोजत से भाजपा की शोभा चौहान, पाली से भाजपा के ज्ञानचंद पारख, मारवाड़ जंक्शन से निर्दलीय खुशवीरसिंह, बाली से भाजपा के पुष्पेन्द्रसिंह राणावत, सुमेरपुर से भाजपा के जोराराम कुमावत। वर्ष 2003 में भाजपा की सरकार बनी। पार्टी के 120 विधायक जीते।

कब-कब किसकी सरकार
प्रदेश में वर्ष 1993 में भाजपा की सरकार बनी। वर्ष 1998 में कांग्रेस की सरकार बनी। वर्ष 2003 में भाजपा की सरकार बनी। वर्ष 2008 में कांग्रेस की सरकार बनी। वर्ष 2013 में भाजपा की सरकार बनी। उस समय तक पाली के ज्ञानचंद पारख ने चौथी बार जीत हासिल की थी, लेकिन मंत्री बनने का सपना पूरा नहीं हुआ।

ट्रेंडिंग वीडियो