script Medical and Health: प्रदेश में किस कारण से यह जिला क्याें आगे | Pali ahead in medicine distribution, Jalore and Sirohi behind | Patrika News

Medical and Health: प्रदेश में किस कारण से यह जिला क्याें आगे

locationपालीPublished: Jan 15, 2024 09:46:33 am

Submitted by:

Rajeev Dave

दवा वितरण में पाली आगे, जालोर व सिरोही पिछड़े, मुख्यमंत्री निशुल्क दवा व जांच योजना, रैंकिंग में पाली कई माह से चल रहा बेहतर।

Medical and Health: प्रदेश में किस कारण से यह जिला क्याें आगे
bangar medical collage hospital

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा व जांच करने में पाली जिले की सुविधाएं प्रदेश में श्रेष्ठ है। जिले के बांगड़ मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में आने वाले मरीजों के साथ सीएचसी में भी मरीजों को सभी दवाएं मिल रही है। वहीं जालोर व सिरोही में दवाएं उपलब्ध नहीं करवाई जा रही। जांच भी बेहतर ढंग से नहीं की जा रही है। यह बता रहे हैं जनवरी में जारी आंकड़े। इनके अनुसार प्रदेश में पहले पायदान पर बीकानेर रहा है। वहीं पाली, झु़ंझुनूं के साथ संयुक्त रूप से चौथे नम्बर पर। जालोर जिला 33वें व सिरोही 31वें नम्बर पर रहा है। प्रदेश में सबसे खराब हालात जैसलमेर जिले के हैं, जो 34वें नम्बर पर आया है। खास बात यह है कि पाली नवम्बर से लगातार चौथे नम्बर पर है और एक नम्बर प्राप्त करने के प्रयास में है।

दवाओं की उपलब्धता रही पूरी
सरकारी नियमों के अनुसार जिला ड्रग वेयर हाउस में 849 तरह की दवाओं की उपलब्धता होनी चाहिए, जो योजना के तहत मरीजों को अस्पताल में मिलनी चाहिए। पाली में लगभग ये सभी दवाएं रही, जो सीएचसी व पीएचसी पर उपलब्ध भी करवाई गई। वहीं जालोर, सिरोही में दवाओं की उपलब्धता का आंकड़ा कम रहने और कम मरीजों को देने से वे पिछड़ गए। पाली के नोडल अधिकारी डॉ. जितेन्द्र जैतावत व स्टोर मैनेजर रवि बालोटिया ने बताया कि पाली में मेडिकल कॉलेज अस्पताल के साथ 88 पीएचसी, 26 सीएचसी व दो उप जिला अस्पताल में दवा उपलब्ध करवाई जाती है।
पाली में यह है िस्थति
बलाड़ा पीएचसी जिले में एक नम्बर एक
सोजत रोड सीएचएसी जिले में नम्बर एक
उप जिला अस्पताल में बाली पहले व व सोजत दूसरे नम्बर पर जिले में

टॉपिक एक्सपर्ट
पाली में दवाओं की पूरी उपलब्धता है। पाली के सभी अस्पतालों में दवा उपलब्ध कराने में हमारे यहां कभी 800 तरह दवा जिला अस्पताल व सीएचसी पर उपलब्ध रहती है। हम दवाओं का स्टॉक रखने के साथ मरीजों को दवा उपलब्ध कराने पर भी पूरा ध्यान दे रहे है। इसी कारण लगातार चौथे नम्बर पर बने हुए है। अभी हम एक नम्बर पर आने के लिए भी प्रयास कर रहे हैं।
डॉ. इन्द्रसिंह राठौड़, सीएमएचओ, पाली
इतनी दवा होनी चाहिए चिकित्सा संस्थानों में
500 तरह की पीएचसी पर
700 सीएचसी पर
849 जिला अस्तपालों में
प्रदेश में रैंकिंग
जिला- सुविधाएं- कुल गतिविधियां- अधिकतम अंक- प्राप्त अंक - औसत - रैंक
बीकानेर-79-8-6320-6068.49- 9.6-1
हनुमानगढ़-80-8-6400-5889.36-9.2-2
धौलपुर-48-8-3840-3476.85-9.05-3
पाली-114-8-9120-8192.44-8.98-4
झुंझुनूं-148-8-11840-10615.95-8.97-5
ये जिले रह गए पीछे
सिरोही-41-8-3280-2630.33-8.02-31
दौसा-67-8-5360-4207.94-7.85-32
जालोर-88-8-7040-5522.67-7.84-33
जैसलमेर-40-8-3200-2330.26-7.28-34

ट्रेंडिंग वीडियो