Bihar के CM House में वेंटिलेटरयुक्त अस्पताल, Tejashwi Yadav ने दागे सवाल

  • बिहार के CM आवास में Corona की दस्तक के बाद वहां वेंटिलेटरयुक्त अस्पताल बनवाया गया
  • Tejashwi Yadav और कांग्रेस के ललन कुमार ने CM Nitish Kumar पर निशाना साधा

By: Mohit sharma

Updated: 08 Jul 2020, 07:55 AM IST

नई दिल्ली। बिहार के मुख्यमंत्री आवास ( Bihar Chief Minister's residence ) में कोरोना की दस्तक Coronavirus in Bihar ) के बाद वहां वेंटिलेटरयुक्त अस्पताल ( Ventilated hospital ) बनवाया गया है, जिसमें बाजाब्ता पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल ( PMCH ) के चिकित्सकों और नर्सो की ड्यूटी लगाई गई है। इस पर विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ( Tejashwi Yadav ) और कांग्रेस के ललन कुमार ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ( CM Nitish Kumar ) पर निशाना साधा है। नीतीश कुमार की भतीजी कोरोना पॉजिटिव ( Corona positive ) पाई गई हैं। इसके बाद पटना में मुख्यमंत्री आवास पर एक वेंटिलेटर युक्त अस्पताल बनवाया गया है। पीएमसीएच ने वहां छह डॉक्टरों, तीन नर्सो और एक वेंटिलेटर ऑपरेटर को तैनात करने का आदेश जारी किया है।

Corona Crisis के बीच CBSE ने घटाया 9वीं से 12वीं तक का पाठ्यक्रम, जानें क्या हुआ फेरबदल

पीएमसीएच के अधीक्षक द्वारा जारी आदेश में डॉक्टरों और नर्सो की प्रतिनियुक्ति की गई है। आदेश में कहा गया है कि स्वास्थ्य विभाग के अपर सचिव द्वारा दिए गए निर्देश के आलोक में मुख्यमंत्री आवास पर वेंटिलेटर युक्त अस्पताल के संचालन के लिए डॉक्टरों, नर्सो की प्रतिनियुक्ति की गई है। इस आदेश के बाद राजद नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, "मुख्यमंत्री की मात्र 2 घंटे में कोरोना जांच हो जाती है और रिपोर्ट भी आ जाती है। उनकी भतीजी को कोरोना होने पर घर में ही वेंटिलेटर युक्त अस्पताल बन गया। 6 डॉक्टर, 2 नर्स और स्वास्थ्यकर्मियों की फौज लगा दी गई है। मगर 4 महीने बाद भी आम आदमी के लिए ये सुविधा क्यों नहीं?"

India-China Dispute: Satellite Pictures से हुई China की फजीहत, India के दावे को मिला बल

India-China Dispute: के बीच Pakistan ने 411 बार तोड़ा Ceasefire, 2019 में संघर्ष विराम उल्लंघन की 3,168 घटनाएं

इधर, कांग्रेस नेता और बिहार प्रदेश युवक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार ने कहा कि इस सरकार को आम लोगों की चिंता नहीं है। उन्होंने कहा कि आज 'राजा' खुद अपनी चिंता कर रहे हैं जबकि आम जनता भगवान भरोसे है। आज आम लोगों की कोरोना जांच तक नहीं हो रही है, जबकि मुख्यमंत्री आवास में अस्पताल खुल जाता है। अस्पताल में डॉक्टरों की कमी है, लेकिन मुख्यमंत्री आवास के अस्पताल में डॉक्टरों की प्रतिनियुक्ति की जा रही है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि यही 'सुशासन' की नई परिभाषा है।

Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned