लॉकडाउन: नीतीश कुमार की लोगों से अपील- बिहार से प्रेम है तो फिलहाल जहां हैं वहीं रहें, नहीं तो...

  • ऐसे तो प्रधानमंत्री मोदी का लॉकडाउन पूरी तरह से फेल हो जाएगा
  • बसों में भर भर कर घर आने से फेल हो जाएगा लॉकडाउन
  • बढ़ सकता है कोरोना संक्रमण का खतरा

By: Prashant Jha

Updated: 28 Mar 2020, 03:43 PM IST

नई दिल्ली। कोराना वायरस को लेकर लॉकडाउन के बाद दिल्ली से यूपी और बिहार के मजदूरों के लिए बसों से भेजने के फैसले पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सवाल खड़े किए हैं। नीतीश कुमार ने कहा कि ऐसे तो प्रधानमंत्री मोदी का लॉकडाउन पूरी तरह से फेल हो जाएगा। नीतीश ने कहा कि बिहार सरकार चाहती है कि फिलहाल जो जहां है वहीं उनके खाने-पीने और ठहरने की व्यवस्था की जाए। बसों से लोगों को बुलाने से लॉकडाउन लागू करने का कोई मतलब नहीं रह जाएगा। नीतीश कुमार ने बताया कि जिस तरह से बसों में भर भरकर लोग आ रहे हैं। कोरोना संक्रमण का खतरा काफी बढ़ सकता है।

योगी सरकार ने मजदूरों को लाने के लिए लगाई बसें

दरअसल, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली, यूपी बॉर्डर पर जमा लोगों को घर पहुंचाने के लिए बसों की व्यवस्था की घोषणा की है। ऐसे में बिहार के लोग भी अपने गांव पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं। लोगों के अपने गांव आने से इस वायरस का खतरा काफी बढ़ जाएगा।

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन पर घर वापसी का दर्द: भूखे-प्यासे मजदूर, हजारों किलोमीटर सफर तय को मजबूर

लॉकडाउन में फंसे लोग सीधे सीएम हाउस से संपर्क करें

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार से बाहर फंसे लोगों से कहा कि अगर बिहार को बचाना है, बिहार से प्रेम है और अपने लोगों को सुरक्षित देखना चाहते हैं तो फिलहाल जो जहां हैं वहीं रहें। सरकार उनके रहने खाने की व्यवस्था कर रही है। सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि किसी को कोई दिक्कत नहीं होगी। लॉकडाउन में फंसे लोगों को हेल्पलाइन पर फोन के जरिए अपनी लोकेशन बतानी होगी जिससे मदद मिल जाएगी। इसके अलावा हेल्पलाइन नंबर पर फोन ना लगे तो मुख्यमंत्री ऑफिस में फोन लगाएं।उन्हें हर संभव सहायता दी जाएगी।

ये भी पढ़ें: प्रशांत किशोर का मोदी सरकार पर तंज, कोरोना से निपटने में खुद की तारीफ से पहले लाखों लोगों के बारे में सोच लेते..

बड़ी संख्या में दिहाड़ी मजदूर पलायन को मजबूर

गौरतलब है कि देशभर में लागू लॉकडाउन के बाद बिहार यूपी से बाहर रह हे दिहाड़ी मजदूर और फैक्ट्री वर्कर्स काम बंद होने से खासे परेशान हैं। ये सभी अब अपने-अपने घर लौटने की तैयारी कर रहे हैं। दिल्ली और यूपी बॉर्डर पर हज़ारो लोग अपने घर जाने के लिए जमा हैं। बहुत सारे लोग पैदल ही अपने गांव की ओर पैदल ही निकल पड़े हैं। नीतीश कुमार का कहना है कि ऐसे में कोरोना का संक्रमण फैला तो उसे संभालना मुश्किल हो जाएगा।

coronavirus
Show More
Prashant Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned