कांग्रेस ने तूतीकोरिन की तुलना जलियांवाला बाग से की, गोलीबारी को बताया नरसंहार

तूतीकोरिन प्रदर्शन में मरने वाले लोगों की संख्या 13 पहुंच गई है।

By: Saif Ur Rehman

Published: 24 May 2018, 11:16 AM IST

चेन्नई। तमिलनाडु के तूतीकोरिन में तनाव बना हुआ है।सुरक्षा बढ़ाते हुए भारी सुरक्षाबल तैनात किए गए हैं। धारा 144 लागू है और अगले पांच दिन तक तूतीकोरिन में इंटरनेट सेवा पर भी रोक लगा दी गई है। मरनेवालों का आंकड़ा 13 पहुंच गया है। फायरिंग में 70 से ज्यादा लोग जख्मी हुए हैं। इस बीच कांग्रेस ने राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए इस घटना की तुलना जालियांवाला बाग में हुए हत्याकांड से की है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा, "राज्य सरकार को पता था कि प्रदर्शन के 100 दिन होने की वजह से ये बढ़ सकता है। उन्हें पहले से ही कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए बेहतर तैयारी करनी चाहिए थी, पर ऐसा कुछ किया नहीं गया। उन्होंने सीधी गोली चलाना ठीक समझा। ये बिल्कुल जालियांवाला बाग की तरह ही नरसंहार था"।

बगदाद से बड़ी खबर: आत्मघाती हमले में 7 लोगों की मौत, सुसाइड बॉम्बर ने खुद को उड़ाते हुए किया धमाका

डीएमके भी कर चुकी है तुलना

वहीं इससे पहले विपक्षी दल डीएमके के एक नेता शर्वणन ने भी तमिलनाडु सरकार को फासिस्टवादी करार दिया और इस घटना की तुलना जलियांबाला बाग जैसे नरसंहार से की थी। उन्होंने कहा था, 'हाल में हुए एक सर्वे बताता है कि तमिलनाडु में सबसे ज्यादा विरोध प्रदर्शन होते हैं। ये आंकड़े बताते हैं कि राज्य सरकार प्रशासन चलाने में नाकाम रही है। यह जलियावाला बाग जैसा नरसंहार था। सरकार को अब अपना बोरिया बिस्तर बांध कर चले जाना चाहिए।' आपको बता दें कि प्रदर्शन में मारे गए लोगों को लेकर राज्य के मुख्य विपक्षी दल द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) ने राज्यभर में 25 मई को बंद की घोषणा की है। इसके साथ ही पार्टी वेदांता स्टरलाइट कॉपर यूनिट को हमेशा के लिए बंद करने का भी मुद्दा उठाएगी़। डीएमके नेता पीड़ितों से भी मिले हैं।

तूतीकोरिन में 5 दिनों तक इंटरनेट सेवा ठप, मरने वालों का आंकड़ा पहुंचा 13

Congress
Show More
Saif Ur Rehman
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned