कोरोना वायरस: सरकारी कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की सेवा शुरू, मरीजों की संख्या 181 हुई

  • केंद्र सरकार के कार्मिक विभाग DoPT ने जारी किया सर्कुलर
  • केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए उठाया ये बड़ा कदम
  • कोरोना वायरस से मरीजों की संख्या हुई 181

By: Prashant Jha

Published: 19 Mar 2020, 06:16 PM IST

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस का पहला मामला 25 फरवरी को सामने आया था। आज देशभर में इस वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। गुरुवार को खबर लिखे जाने तक कोरोना से मरने वालों की संख्या 4 हो गई है। जबकि संक्रमित मरीजों की संख्या 181 तक पहुंच गई है। इसमें सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में है। महाराष्ट्र में कोरोना से मरीजों की संख्या 49 तक पहुंच गई है। सरकार बीमारी की रोकथाम के लिए हर मोर्चें पर काम कर रही है। एहतियात के तौर पर कई फैसले भी ले चुकी है। लेकिन हालात दिन प्रतिदिन काबू से बाहर होते जा रहे हैं।

50 फीसदी कर्मचारियों को बुलाया जाएगा दफ्तर

सरकार ने इस महामारी से निपटने के लिए बड़ा फैसला लेते हुए सरकारी कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की सेवा शुरू कर दी है। केंद्र सरकार के कार्मिक विभाग DoPT ने सर्कुलर जारी कर इसकी जानकारी दी है। जिसमें बताया गया है कि एक दिन में ग्रुप बी और सी के सिर्फ 50% कर्मचारियों को ऑफिस बुलाया जाएगा। बाकी कर्मचारी अपने घर से काम करेंगे। कार्मिक विभाग की ओर से जारी एडवाइजरी में बताया गया है कि एक दिन में 50 फीसदी कर्मचारी भी अलग-अलग शिफ्ट में दफ्तर आएंगे।

ये भी पढ़ें: Coronavirus: बच्चों और बुजुर्गों को घर में रहने की सलाह, 22 मार्च से विदेशी उड़ानों की लैंडिंग नहीं

निजी कंपनियों ने भी घर से काम करने की अनुमति दी

सरकार का मानना है कि इस फैसले से इस बीमारी पर ब्रेक लगाई जा सकती है। इधर कई निजी कंपनियों ने भी अपने कर्मचारियों को घर से काम करने की अनुमति जारी कर दी है। आईटी की कई कंपनियों ने एडवाइजरी जारी कर वर्क फ्रॉम होम करने को कहा है।

ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस: केंद्र सरकार ने सभी परीक्षाएं स्थगित की, IIT और JEE की परीक्षाएं भी टलेगी

कोरोना से 9 हजार से ज्यादा लोगों की मौत

गौरतलब है कि कोरोना वायरस की वजह से दुनियाभर में दहशत का माहौल बना हुआ है। भारत भी इस वायरस से पूरी तरह सहमा है। इसी कड़ी में गुरुवार रात 8 बजे प्रधानमंत्री मोदी राष्ट्र के नाम संबोधन करेंगे। कयास है कि पीएम मोदी देश में मेडिकल इमरजेंसी घोषित कर सकते हैं। गौरतलब है कि दुनिया में कोरोना से मरने वालों की संख्या 9 हजार के पार हो गई है। उसमें एशिया में 3416 लोगों की मौत हो गई है। चीन से निकला यह वायरस आज पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले चुका है।

Prashant Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned