Farmer Protest:: हरियाणा किसानों में आक्रोश, नष्ट किया दुष्यंत चौटाला का हेलिपैड

  • कृषि कानूनों को लेकर किसानों का धरना प्रदर्शन जारी
  • हरियाणा में किसानों ने दुष्यंत चौटाला का हेलिपैड किया नष्ट

By: Mohit sharma

Updated: 24 Dec 2020, 04:42 PM IST

नई दिल्ली। कृषि कानूनों को लेकर किसानों का धरना प्रदर्शन जारी है। इस बीच सरकार की ओर से मांग न माने जाने को लेकर किसानों का आक्रोश लगातार बढ़ता जा रहा है। यही वजह है कि हरियाणा के जींद जिले में किसानों ने राज्य के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के हेलीपैड को फावड़े से खोद डाला। यह घटना जिले के उचाना क्षेत्र की बताई जा रही है। यहां दुष्यंत चौटाला आने वाले थे, लेकिन उनके आने से पहले ही किसानों ने उनके हेलिपैड को नष्ट कर दिया। यही नहीं किसानों ने इस बीच दुष्यंत चौटाला गो बैक के नारे भी लगाए।

बच्चों को नहीं दी लगाई जाएगी Corona vaccine, जानिए किस उम्र के लोग ज्यादा असुरक्षित

दुष्यंत चौटाला ने कार्यक्रम रद्द कर दिया

वहीं, किसानों के आक्रोश को देखते हुए दुष्यंत चौटाला ने कार्यक्रम रद्द कर दिया। दरअसल, किसानों का कहना है कि जब तक दुष्यंत चौटाला कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन का समर्थन नहीं करते, तब तक उनकों क्षेत्र में नहीं घुसने दिया जाएगा। किसानों की मांग है दुष्यंत चौटाला डिप्टी सीएम पद से इस्तीफा देकर किसानों के बीच पहुंचें। इस बीच आक्रोशित किसानों ने ऐलान किया है कि जो भी नेता उनके क्षेत्र में आएगा, उसका इसी तरह से विरोध किया जाएगा।

Coronavirus: नए साल के जश्न पर लगी रोक, इन राज्यों ने सेलिब्रेशन पर लगाया बैन

किसानों ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को काले झंडे दिखाए

आपको बता दें कि एक दिन पहले गुस्साए किसानों ने राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को काले झंडे दिखाए थे। कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों न खट्टर के काफीले को रोक लिया था और जमकर नारेबाजी की थी। इस दौरान पुलिस ने किसानों को काबू करने के लिए लाठी चार्ज किया था। दरअसल, खट्टर यहां निकाय चुनावों के लिए पार्टी के उम्मीदवारों के समर्थन के लिए सभा करने आए थे।

Corona Vaccine को लेकर खुशखबरी: जानें दिल्ली कब पहुंच रही टीके की पहली खेप?

वहीं, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को दिल्ली में विजय चौक से राष्ट्रपति भवन तक पार्टी सांसदों के साथ एक मार्च निकाला। ये सभी पुलिस प्रतिबंधों के बावजूद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलने जा रहे थे। राहुल गांधी सितंबर में लागू किए गए कृषि कानूनों के खिलाफ दो करोड़ हस्ताक्षर का ज्ञापन राष्ट्रपति को देने जा

Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned