Mahagathbandhan में वामदलों की एंट्री, आरजेडी के साथ सीट बंटवारे को लेकर फैसला जल्द

 

  • Left parties ने धर्मनिरपेक्ष ताकतों को प्रदेश में मजबूती देने के लिए एक साथ चुनाव लड़ने का ऐलान किया।
  • सत्ताधारी गठबंधन के खिलाफ वामदलों का मिलकर चुनाव लड़ने से Mahagathbandhan की ताकत बढ़ी।
  • महागठबंधन में शामिल सियासी दलों के बीच आपसी सहमति से सीटों का आवंटन होगा।

By: Dhirendra

Updated: 28 Aug 2020, 09:50 AM IST

नई दिल्ली। बिहार विधानसभा चुनाव 2020 ( Bihar Assembly Election 2020 ) की सरगर्मी के बीच सियासी गठबंधन का सिलसिला जारी है। इस बीच सत्ताधारी पार्टी को विधानसभा चुनाव में पटखनी देने के लिए महागठबंध में वामदलों ( Left parties ) के शामिल होने के संकेत मिले हैं। जानकारी के मुताबिक आरजेडी ( RJD ) के साथ सीट बंटवारे का ऐलान जल्द होने की संभावना है। वामपंथी दलों ने भी धर्मनिरपेक्ष ( Secular ) ताकतों को प्रदेश में मजबूती देने के लिए एक साथ चुनाव लड़ने का ऐलान किया है।

इस बात की चर्चा सीपीआई ( CPI ) और सीपीआई ( CPI-M ) की 9 सदस्यीय टीम आरजेड़ी प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ( RJD state president Jagdanand Singh ) से मुलाकात के बाद से जोरों पर है। इस मुलाकात में वामदलों ने महागठबंधन में शामिल होने पर मुहर लगाई है। सीपीआई सचिव रामनरेश पांडेय ने कहा कि वामदल भी अब महागठबंधन में शामिल हो गया है। हालांकि कितनी सीट पर वामदलों की सहमति बनी है, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि सीटों के विषय मे सभी दल मिलकर बात करेंगे।

NDA में शामिल हो सकते हैं जीतन राम मांझी, नीतीश कुमार से मिलने के बाद डील पक्की

महागठबंधन की ताकत बढ़ी

विधानसभा चुनाव में वामदलों के महागठबंध में शामिल होने के बाद आरजेडी नेता और प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने बताया कहा कि वामदलों के महागठबंधन में शामिल होने के बाद महागठबंधन की ताकत बढ़ी है। सभी धर्मनिरपेक्ष और लोकतांत्रिक पार्टियों को इसका लाभ मिलेगां उन्होंने कहा कि आज ही जहानाबाद से एनडीए ( NDA ) के पूर्व प्रत्याशी आरजेडी में शामिल होंगे।

सीटों के बंटवारे का ऐलान जल्द

महागठबंधन में शामिल सियासी दलों के बीच इस बात पर सहमति बनी है कि राष्ट्रीय जनता दल, कांग्रेस, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी व अन्य वामपंथी दल एवं लोकतांत्रिक पार्टियां मिलकर सभी 243 सीटों पर एकजुट होकर चुनाव लड़ेंगे। सभी दलों के बीच सम्मानजनक तरीके से सीटों के बंटवारे पर जल्द ही सहमति बना ली जाएगी। बैठक में यह भी सहमति बनी कि किसी भी परिस्थिति में व्यापक गठबंधन के बीच किसी प्रकार की अड़चन नहीं आने दी जाएंगी। सभी पक्ष आपसी समझदारी और व्यापक राजनीतिक जरूरतों को ध्यान में रखते हुए आगे बढ़ेंगे।

कांग्रेस आलाकमान ने 'G-23' को किया साइडलाइन, इन्हें मिली मोदी सरकार को घेरने जिम्मेदारी

220 सीटों जीतेगा एनडीए

दूसरी तरफ केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ( Union Minister of State for Home Affairs Nityananda Rai ) ने कहा है कि है बिहार सरकार विकास के पथ पर है। प्रधानमंत्री का नाम और काम भी है। बिहार में विपक्ष की कोई ताकत नहीं है। तेजस्वी यादव ( Tejashwi Yadav ) कोई चुनौती नहीं हैं। 2020 में एनडीए 220 सीट जीतेगा। नीतीश कुमार फिर मुख्यमंत्री बनेंगे।

लालू ने किय दलितों का अपमान

बीजेपी नेता नित्यानंद राय ने कहा कि एनडीए में कोई विवाद नहीं है। हमारा मन से गठबंधन है न कि स्वार्थ का गठबंधन। एक सवाल के जवाब में कहा कि लालू प्रसाद ने हमेशा अति पिछड़ों का अपमान किया। रामविलास और मांझी जी को अपमानित किया। बिहार को अपमानित औऱ अपने परिवार को सम्मानित करना ही लालू परिवार की राजनीति का हिस्सा है।

कांग्रेस में घमासान जारी : कपिल सिब्बल बोले - अपनों पर नहीं, बीजेपी पर सर्जिकल स्ट्राइक की जरूरत

bihar assembly election
Show More
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned