script568 voters came to cast their vote, counting reached 618 | EVM का खेला.. वोट डालने पहुंचे 568 वोटर, गिनती में हो गए 618, परिणाम के बाद हुआ बड़ा खुलासा | Patrika News

EVM का खेला.. वोट डालने पहुंचे 568 वोटर, गिनती में हो गए 618, परिणाम के बाद हुआ बड़ा खुलासा

locationरायपुरPublished: Dec 09, 2023 05:04:16 pm

EVM fraud case : इस दौरान आंकड़ों के मिलान से पता चला कि इस बूथ में कुल 568 मत पड़े थे, (CG Election news) जबकि मशीन में कुल मतों की संख्या 618 दिखाई जा रही थी....

evm_news.jpg
Chhattisgarh assembly election 2023 : उत्तर विधानसभा क्षेत्र के एक मतदान केंद्र के 568 वोट गिने बिना ही परिणाम जारी कर दिए गए। मॉकपोल के ईवीएम टेस्टिंग के दौरान डाले गए वोट डिलीट नहीं किए गए। जिससे 568 वोटर पहुंचे और 618 वोट ईवीएम में दिखाई दे रहे थे। बूथ क्रमांक 65 पंडरीतराई में मतदान के पूर्व जिला प्रशासन की ओर से मॉकपोल किया था। मॉकपोल के दौरान पड़े मतों को डिलीट नहीं किया गया है और मतगणना के लिए मशीन को ले आया गया। इस दौरान आंकड़ों के मिलान से पता चला कि इस बूथ में कुल 568 मत पड़े थे, जबकि मशीन में कुल मतों की संख्या 618 दिखाई जा रही थी।
ईवीएम को अलग कर दिया गया और अन्य बूथों में पड़े मतों की गणना की गई। अंत में जब सभी मतदान केंद्रों और बूथों की गणना हो गई, तब जीत हार का अंतर 23 हजार से भी ज्यादा निकला। ऐसी स्थिति में पर्यवेक्षकों व प्रत्याशियों की सहमति पर इस मशीन से गणना ही नहीं की गई और बिना मतगणना के ही नतीजे जारी कर दिए गए।
हार जीत पर कोई असर नहीं
रायपुर उत्तर में कुल 1,12,374 कुल वोट डाले गए। जिसमें पुरंदर मिश्रा को 54,279 मत मिले। उन्होंने 23,054 वोट से कुलदीप जुनेजा को हराया था। ऐसे में 568 वोट के कम होने से हार जी पर कोई फर्क नहीं पड़ता। इसकी वजह से सभी प्रत्याशियों से सहमति लेकर ईवीएम में पड़े वोट की गणना ही नहीं की गई।
यह है नियम
गणना के दौरान जिन ईवीएम में गड़बड़ी सामने आती है, तो उसका निर्णय अंतिम होता है। उनके मतों की गणना अंत में की जाती है। अंत में अगर हार जीत का अंतर मशीन में पड़े मतों से ज्यादा हो तो फिर उसकी गणना अमान्य की जाती है। यदि हार जीत का अंतर इसके करीब है तब माकपोल में पड़े वोटों अलग करके गिनती की जाती है।
पंडरीतराई बूथ में मॉकपोल के डेटा को रिसेट नहीं किया गया था, इसकी वजह से मतदान और मशीन के आंकड़ों के अंतर देखने को मिला। हार जीत का अंतर काफी ज्यादा होने की वजह से पर्यवेक्षक और प्रत्याशियों की सहमति से इस मशीन से मतों की गणना नहीं की गई। -बीबी पंचभाई, रिटर्निंग आफिसर, रायपुर उत्तर विधानसभा

ट्रेंडिंग वीडियो