परीक्षा से पहले शिक्षा विभाग का बाबू 500 रुपए में बेच रहा था 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा के प्रश्न बैंक

जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) कार्यालय में 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा के प्रश्न बैंक बेचने के मामले में प्रारंभिक जांच के बाद रायपुर जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के क्लर्क (सहायक ग्रेड-2) पन्नालाल यादव को निलंबित कर दिया गया है।

रायपुर. जिला शिक्षा अधिकारी (DEO) रायपुर कार्यालय में 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा के प्रश्न बैंक बेचने के मामले में प्रारंभिक जांच के बाद रायपुर जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के क्लर्क (सहायक ग्रेड-2) पन्नालाल यादव को निलंबित कर दिया गया है। वहीं, सहायक संचालक डॉ. आरएस चौहान को विभाग ने अभयदान दे दिया है।

डॉ. चौहान को शहर के शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल माना बस्ती का अस्थायी प्राचार्य बनाया गया है। प्रश्न बैंक बेचने की शिकायत कुछ लोगों ने लोक शिक्षण संचनालय के संचालक से की थी। सिर्फ क्लर्क पर कार्रवाई होने से तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ ने नाराजगी जताई है। संघ के महामंत्री विजय झा ने जिला शिक्षा कार्यालय में प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है।

बताया जाता है कि प्रश्न बैंक 500 रुपए में बेचे जाने की शिकायत के बाद विभाग की तरफ से संयुक्त संचालक एसके भारद्वाज को जांच के लिए नियुक्त किया गया था। प्रारंभिक जांच में प्रश्न बैंक बेचे जाने की शिकायत सही पाई गई है।

प्रारंभिक रिपोर्ट मिलने पर स्कूल शिक्षा विभाग के संचालक जीतेंद्र शुक्ला ने पन्नालाल को निलंबित तथा डॉ. आरएस चौहान को माना बस्ती स्कूल में संलग्न करने का आदेश जारी कर दिया है। उन्होंने संयुक्त संचालक संभाग रायपुर को 7 दिन के भीतर जांच कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के लिए भी कहा है।

रायपुर जिला शिक्षा अधिकारी जी. आर. चंद्राकर ने कहा, कोई प्रारंभिक जांच नहीं हुई है और न ही प्रश्न बैंक बेचा जा रहा था। बच्चों और शिक्षकों के लिए ही नवाचार की पहल करने की हम कोशिश करते है।

संभागीय कार्यालय संयुक्त संचालक एस. के. भारद्वाज ने कहा, मुझे जांच के आदेश की कॉपी नहीं मिली है, इस कारण मैं कुछ नहीं बता पाऊंगा। जब मुझे जांच का आदेश मिलेगा तो मैं जांच करूंगा।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned