scriptNo victory or defeat, now discussion about CM's face | chhattisgarh election 2023: हार-जीत नहीं, अब सीएम के चेहरे की चर्चा | Patrika News

chhattisgarh election 2023: हार-जीत नहीं, अब सीएम के चेहरे की चर्चा

locationरायपुरPublished: Nov 24, 2023 07:15:48 pm

Submitted by:

Rahul Jain

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के बाद प्रत्याशियों के हार-जीत का चर्चा बंद हो गई है। अब आम जनता भावी सीएम के चेहरे को लेकर चर्चा कर रही है।

chhattisgarh election 2023: हार-जीत नहीं, अब सीएम के चेहरे की चर्चा
chhattisgarh election 2023: हार-जीत नहीं, अब सीएम के चेहरे की चर्चा
छत्तीसगढ़ में दोनों चरण के चुनाव होने के बाद अब चौक-चौराहों पर प्रत्याशियों के हार-जीत की चर्चा धीरे-धीरे बंद हो गई है। अब राजनीतिक गलियारों से लेकर शहर और गांव की गलियों में भावी सीएम कौन होगा, इस पर चर्चा तेज हो गई है। खास बात यह है कि कांग्रेस-भाजपा में सीएम पद के लिए कई दावेदार भी अघोषित रूप से सामने आने लगे हैं। एक तरह से अपने पक्ष में माहौल बनाने का प्रयास कर रहे हैं। फिलहाल जनता अपनी चर्चा में ओबीसी और आदिवासी वर्ग के मुख्यमंत्री बनाने की उम्मीद जता रही है। उनका मानना है कि कुछ परिस्थितियां बदलने पर सामान्य वर्ग से भी सीएम बन सकता है।
कांग्रेस-भाजपा दोनों ने अपनी सरकार बनाने का दावा किया है। पिछली बार मिली हार के बाद भाजपा ने सीएम का चेहरा जनता के सामने नहीं रखा था। वहीं कांग्रेस ने सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लड़ने की बात कहीं थी। हालांकि पूरे चुनाव में मुख्यमंत्री भूपेश ही सबसे ज्यादा सक्रिय नजर आए। उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशियों के पक्ष में करीब 72 चुनावी सभाओं को भी संबोधित किया। इसके अलावा स्थानीय स्तर पर बनाए गए स्टार प्रचार अपने-अपने चुनावी क्षेत्रों में ज्यादा सिमटे नजर आए थे।
कांग्रेस-भाजपा में संभावनाओं का दौर

कांग्रेस-भाजपा में सीएम पद को लेकर बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है। सभी प्रमुख दावेदार सीएम बनने की मंशा जो जता रहे हैं, लेकिन सारा फैसला पार्टी हाईकमान पर छोड़कर बच रहे हैं। सीएम पद को लेकर अब तक कांग्रेस में टीएस सिंहदेव, कवासी लखमा और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष दीपक बैज का बयान सामने आया है। वहीं भाजपा से पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव और नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल का बयान सामने आया है।
दुर्ग संभाग से सबसे अधिक सीएम

राज्य निर्माण के बाद यह पांचवां विधानसभा चुनाव है। इन चुनाव में सबसे अधिक सीएम दुर्ग संभाग से बने हैं। राज्य निर्माण के बाद बिलासपुर संभाग से दिवंगत अजीत जोगी पहले मुख्यमंत्री बने। इसके बाद डॉ. रमन सिंह लगातार तीन बार सीएम रहे। वे दुर्ग संभाग से आते थे। इसके बाद भूपेश बघेल सीएम बने, वो भी दुर्ग संभाग से आते हैं। अब तक रायपुर, बस्तर और सरगुजा संभाग से कोई भी सीएम नहीं बना है। हालांकि यह बात अलग है कि कांग्रेस सरकार ने सरगुजा संभाग के टीएस सिंहदेव को डिप्टी सीएम बनाया है।

ट्रेंडिंग वीडियो