scriptPeople forced to bathe in dirty pond | सफाई के अभाव में जलकुंभी से अटा पड़ा लवन का ऐतिहासिक बूढ़ा तालाब | Patrika News

सफाई के अभाव में जलकुंभी से अटा पड़ा लवन का ऐतिहासिक बूढ़ा तालाब

locationरायपुरPublished: Dec 24, 2023 03:41:26 pm

Submitted by:

Gulal Verma

नगर पंचायत लवन का बूढ़ा तालाब प्राचीन और ऐतिहासिक है। यह वार्ड क्रमांक 8, 9, 10 के बीच स्थित 115 एकड़ में फैला बूढ़ा तालाब गंदगी और जलकुंभी से इन दिनों अटा पड़ा है। निस्तारी करने वाले महज कुछ जगह को छोडक़र बाकी जगह मैदान जैसा प्रतीत हो रहा है। तालाब के घाट को छोडक़र बाकी जगह पर यदि नजर घुमाई जाए तो यह प्राचीन तालाब किसी खेल के मैदान जैसा प्रतीत होता है।

सफाई के अभाव में जलकुंभी से अटा पड़ा लवन का ऐतिहासिक बूढ़ा तालाब
कोरदा (लवन)। नगर पंचायत लवन का बूढ़ा तालाब प्राचीन और ऐतिहासिक है। यह वार्ड क्रमांक 8, 9, 10 के बीच स्थित 115 एकड़ में फैला बूढ़ा तालाब गंदगी और जलकुंभी से इन दिनों अटा पड़ा है। निस्तारी करने वाले महज कुछ जगह को छोडक़र बाकी जगह मैदान जैसा प्रतीत हो रहा है। तालाब के घाट को छोडक़र बाकी जगह पर यदि नजर घुमाई जाए तो यह प्राचीन तालाब किसी खेल के मैदान जैसा प्रतीत होता है। स्थानीय वार्डवासी निस्तारी की समस्या को लेकर पिछले कई वर्षों से जूझ रहे हैं। फिर भी समस्या हल नहीं हो पाई है। नगरवासियों की निस्तारी की समस्या को देखते हुए बूढ़ा तालाब के लिए 1.93 लाख रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति मिली थी। जिसके सौंदर्यीकरण के लिए ठेकेदार जितेन्द्र केशरवानी को दिया गया था। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ठेकेदार के द्वारा 40 लाख रुपए का काम कराकर अधूरा छोड़ दिया गया।

उल्लेखनीय है कि चार वर्ष पहले 1.93 लाख रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति मिलने के बावजूद इस तालाब का सौन्दर्यीकरण नहीं हो पाया है। तालाब की पूरी तरह से सफाई नहीं होने की वजह से यह तालाब फिर से जलकुंभी से पट गया है। अब बहुत कम लोग इस तालाब में नहाते है। जनप्रतिनिधियों व नगर पंचायत की उदासीनता के कारण यह प्राचीन तालाब अपना अस्तित्व खोता जा रहा है। एक तरफ जहां अमृत सरोवर के तहत गामीण क्षेत्रों में नवीन तालाबों का निर्माण कराया जा रहा है, वहीं दूसरी ओर नगर पंचायत लवन में प्राचीन तालाबों की देखरेख को लेकर जिम्मेदार सजग दिखाई नहीं दे रहे है। बूढ़ा तालाब 115 एकड़ में फैला हुआ है। इस संबंध में ठेकेदार जितेन्द्र केशरवानी से चर्चा करने के लिए उसके मोबाइल नंबर के माध्यम से सम्पर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन उसने मोबाइल रिसिव करना मुनासिब नहीं समझा।

बूढ़ा तालाब की सौंदर्यकरण के लिए लगभग 2 करोड़ रुपए की राशि की स्वीकृति प्रदान हुई थी। 4 से 5 साल बीतने को है, अब तक बूढ़ातालाब की सफाई नहीं की गई है। जिसके चलते लोग गंदे पानी में नहाने को मजबूर है।
- अयोध्या जायसवाल, पूर्व पार्षद, नगर पंचायत लवन

बरसात के सीजन की वजह से काम बंद था। चूंकि, इस तालाब का सौंदर्यीकरण का कार्य पूरा नहीं हो पाया है, इस वजह से तालाब के पानी को खाली कराकर सौंदर्यीकरण के कार्य को फिर से कराया जाएगा।
- मीना बार्वे, अध्यक्ष, नगर पंचायत लवन

बरसात के नाम से काम रुका हुआ था। तालाब की पूरी तरह से सफाई नहीं हो पाने की वजह से जलकुंभी पुन: उग आई है। तालाब का पानी गंदा हो गया है, जिससे फिर से खाली कराकर गहरीकरण का कार्य कराया जाएगा। क्योंकि, इस तालाब का सौंदर्यीकरण का कार्य पुराने दर पर स्वीकृत हुआ है, जिसमें स्वीकृति राशि बढ़वाकर सौंदर्यीकरण के कार्य को कराया जाएगा।
- रामकुमार साहू, उपाध्यक्ष, नगर पंचायत लवन

ट्रेंडिंग वीडियो