scriptRajim corridor will be built on the lines of Ujjain-Kashi | छत्तीसगढ़ में 5 शक्ति पीठ होंगे विकसित, अब उज्जैन-काशी की तर्ज पर बनेगा राजिम कॉरिडोर | Patrika News

छत्तीसगढ़ में 5 शक्ति पीठ होंगे विकसित, अब उज्जैन-काशी की तर्ज पर बनेगा राजिम कॉरिडोर

locationरायपुरPublished: Feb 01, 2024 01:22:52 pm

Submitted by:

Khyati Parihar

Raipur News: पर्यटन व संस्कृति मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने बुधवार को नई दिल्ली में केंद्रीय पर्यटन मंत्री जी. किशन रेड्डी से उज्जैन और काशी की तर्ज पर राजिम में कॉरिडोर बनाने के लिए सहयोग मांगा है।

brijhmohan_agrwal_meet.jpg
Chhattisgarh Tourism: पर्यटन व संस्कृति मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने बुधवार को नई दिल्ली में केंद्रीय पर्यटन मंत्री जी. किशन रेड्डी से उज्जैन और काशी की तर्ज पर राजिम में कॉरिडोर बनाने के लिए सहयोग मांगा है। इस दौरान उन्होंने छत्तीसगढ़ की पर्यटन विकास की संभावनाओं पर चर्चा करते हुए छत्तीसगढ़ की ऐतिहासिक धरोहरों के संरक्षण और विकास के लिए केंद्रीय बजट से राशि स्वीकृत करने का आग्रह किया। मंत्री ने शक्तिपीठ परियोजना के अंतर्गत प्रदेश के पांच शक्तिपीठों को जोड़ने एवं विकसित करने, राजिम कॉरीडोर के निर्माण सहित पुरखौती मुक्तांगन में कन्वेन्शन सेंटर बनाने के लिए केंद्र से सहयोग मांगा।
कन्वेन्शन सेंटर के लिए 50 करोड़ देने का आग्रह : छत्तीसगढ़ के पांच शक्तिपीठ सूरजपुर के कुदरगढ़, चन्द्रपुर के चन्द्रहासिनी मंदिर, रतनपुर के महामाया मंदिर, डोंगरगढ़ के बम्लेश्वरी मंदिर और दंतेवाड़ा के दंतेश्वरी मंदिर में चरणबद्ध ढंग से पर्यटक सुविधाएं विकसित की जाएंगी। उन्होंने इसे पर्यटन मंत्रालय की योजना में शामिल कर स्वीकृति प्रदान करने का आग्रह किया। इसी तरह पुरखौती मुक्तांगन में देश-विदेश से आने वाले लोक कलाकारों और अतिथियों के साथ संवाद स्थापित करने के लिए कन्वेन्शन सेंटर के लिए 50 करोड़ की राशि स्वीकृत करने का आग्रह किया। उन्होंने केंद्रीय मंत्री को मां बम्लेश्वरी देवी प्रसाद योजना के उद्घाटन कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ आने का निमंत्रण भी दिया।
यह भी पढ़ें

Raipur: NIT के छात्र ने खुद को बम से उड़ाया, पहले बहन को फोन पर कहा- मैं अपनी जान...मची अफरा-तफरी

स्मारकों, संग्रहालयों के लिए 19.65 करोड़ का प्रस्ताव

केंद्रीय मंत्री से उनके कार्यालय में मुलाक़ात के दौरान संस्कृति मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने बताया कि छत्तीसगढ़ में वर्तमान में कुल 63 राज्य संरक्षित स्मारक हैं। संरक्षित स्मारकों, अवशेषों, पुरास्थलों और संग्रहालयों के अनुरक्षण और विकास कार्य सहित पुरातात्विक गतिविधियों के संचालन के लिए 19.65 करोड़ की राशि का प्रस्ताव तैयार किया गया है। उन्होंने केंद्रीय बजट से स्वीकृत कराने का अनुरोध किया।
कॉरिडोर के लिए 75 करोड़ की राशि की मांग

मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने उज्जैन और काशी में बनाए गए भव्य कॉरीडोर की तरह राजिम मंदिर परिसर को विकसित करने, विकास कार्यों व जीर्णोंद्धार की आवश्यकता बताई। उन्होंने केंद्रीय मंत्री से राजिम मंदिर परिसर को भव्य आकर्षक और गरिमामय ढंग से विकसित करने के लिए कॉरिडोर बनाने के लिए 75 करोड़ की राशि स्वीकृत करने की मांग की। मंत्री अग्रवाल ने बताया कि चार धाम की तर्ज पर छत्तीसगढ़ के महत्वपूर्ण धार्मिक आस्था के केन्द्रों को शक्तिपीठ परियोजना के तहत विकसित किया जाएगा।

ट्रेंडिंग वीडियो