इस वजह से बच्चों से लेकर बूढ़ो तक हो रहें डायबिटीज और BP के शिकार, सामने आए चौकाने वाले आकड़े

तेजी से बढ़ रहे डायबिटीज व हाइपरटेंशन के मरीज, सिर्फ 5 माह में मिले 3046 व 2551 मरीज।

रायपुर . डायबिटीज व हाइपरटेंशन (उच्च रक्तचाप) के मरीजों की संख्या में तेजी से बढोतरी हो रही है। जिले में औसत रोजाना 3 से अधिक डायबिटीज व हाइपरटेंशन के रोगी मिल रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार अप्रैल 2018 से मार्च 2019 तक डायबिटीज के 5371 व हाइपरटेंशन के 3810 पीडि़त मिले थे। वहीं, अप्रैल-2019 से अगस्त तक सिर्फ 5 माह में ही क्रमश: 3046 व 2551 पीड़ित मिल चुके हैं। वहीं, बड़ी संख्या ऐसे मरीजों की भी है जो निजी अस्पतालों में उपचार कराते हैं। गरीबीवश कुछ लोग उपचार भी नहीं करा पाते।

Alert! मौसम विभाग ने की बड़ी भविष्यवाणी, अगले 48 घंटों में इन इलाकों में होगी भारी बारिश

पुरुषों की तुलना में महिलाओं की संख्या डायबिटीज की काफी अधिक है। 5 माह से डायबिटीज के 1506 पुरुष और 1540 महिलाएं व हाइपरटेंशन के 1246 पुरुष व 1305 महिलाएं विभिन्न शासकीय अस्पतालों में इलाज करा रही हैं। सामान्यत: 40 वर्ष से अधिक में होने वाला डायबिटिज अब कम आयु वर्ग के लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। अमीरों की बीमारी कही जाने वाली डायबिटीज आज हर वर्ग के लोगों में बढ़ती जा रही है। खान-पान में अनियमितता व दिनचर्या में बदलाव से लोग इससे अधिक प्रभावित हो रहे हैं।

पुलिस ने तेंदुए तस्करों को रिमांड पर लेने से किया मना, आरोपी के कॉल डिटेल में मिला हाई प्रोफाइल लोगों का नंबर

आंख, किडनी, गुर्दा होता है प्रभावित
विशेषज्ञों के अनुसार, लंबे सयम से डायबिटिक होने से आंख, किडनी व तंत्रिका तंत्र प्रभावित हो सकती है। इससे आंख की रेटिना काफी प्रभावित होती है और मरीज को देखने में समस्या होती है। वहीं, किडनी के फेल व तंत्रिका तंत्र प्रभावित होने में डायबिटिज प्रमुख कारण है। हाइपरटेंशन से दिल का दौरा, गुर्दे की विफलता, स्ट्रोक, लकवा, नेत्र विकार आदि होता है।

CG Vyapam में 106 पदों पर निकली भर्ती, इस तारीख तक कर सकते हैं आवेदन

लक्षण दिखते ही तुरंत कराए जांच
यदि किसी व्यक्ति को सिर के पीछे और गर्दन में दर्द, सांस लेने में तकलीफ, सिर चकराना, थकान और सुस्ती, रात में नींद न आने के साथ दिल की धड़कनों के बढ़ जाती है तो हाइपरटेंशन का रोगी हो सकता है। ऐसी ही अधिक प्यास, बार-बार पेशाब, जल्दी थकान, बात-बात पर चिड़चिड़ाहट, घबराहट आदि डायबिटीज होने के लक्षण हैं। ऐसे में व्यक्ति को तुरंत चिकित्सकों से सलाह लेनी चाहिए।

दशहरा - दीपावली छुट्टी में जाना है बाहर तो इन ट्रेनों में तुरंत करें रिजर्वेशन, कुछ ही सीटें है शेष

अनियमित रहन-सहन, खानपान व दिनचर्या से बड़ी संख्या में लोग डाइबिटीज के शिकार हो रहे हैं। यह हर आयु वर्ग के लोगों में देखने को मिल रहा है। नियमित रूप से व्यायाम करने, तनाव, धूम्रपान व शराब त्याग से हाइपरटेंशन से दूर रहा जा सकता है।
डॉ. वी.एन. मिश्रा, एचओडी, मेडिसिन विभाग, आंबेडकर अस्पताल, रायपुर

Click & Read More Chhattisgarh News.

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned