scriptThis person reached Raipur amid differences between Canada and India | कनाडा-भारत में मतभेद के बीच रायपुर पहुंचा यह शख्स | Patrika News

कनाडा-भारत में मतभेद के बीच रायपुर पहुंचा यह शख्स

locationरायपुरPublished: Nov 25, 2023 10:00:42 pm

Submitted by:

Tabir Hussain

रिसर्च साइंटिस्ट राज बहादुर वर्मा ने सुनाए कनाडा के संस्मरण

कनाडा-भारत में मतभेद के बीच रायपुर पहुंचा यह शख्स
कनाडा-भारत में मतभेद के बीच रायपुर पहुंचा यह शख्स
जो भारतीय कनाडा में रह रहे है वो बिल्कुल सुरक्षित हैं । अभी तक किसी भी प्रकार की असुरक्षा का भाव नहीं आया। हालांकि कनाडा और भारत के बीच राजनैतिक समस्या है लेकिन इसका वहां रह रहे भारतीयों पर कोई असर नहीं हुआ है। यह बताया कनाडा स्थित फूड डेवलपमेंट ग्रुप के रिसर्च साइंटिस्ट राज बहादुर ने। वे कामधेनू यूनिवर्सिटी के रायपुर स्थित कॉलेज ऑफ डेयरी साइंस एंड फूड टेक्नोलॉजी की सेकंड एलुमिनी मीट में शामिल होने आए थे। पत्रिका से खास बातचीत में उन्होंने कहा कि कनाडा में जो चल रहा है सब समान्य है। एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट भी जारी है। भारत-कनाडा के बीच कूटनीतिक अनबन के शुरुआती दिनों में रिश्तेदारों के रोज फोन आया करते थे। मैं उनको कहता था कि यहां सुरक्षित हूं और कोई समस्या नहीं है।
20 वर्षों में बदल जाएगा पूरी दुनिया का फूड सिस्टम

फूड चैन में बदलाव हो रहा है। मुझे लगता है 20 सालों के अंदर पूरी दुनिया का फूड सिस्टम पूरी तहर बदल जाएगा। शाकाहारी और वीगन का दौर लौटने वाला है। कोरोना के बाद स्वास्थ्य के प्रति जागरुकता बढ़ी है। साइंस ने भी प्रमाणित कर दिया है कि शाकाहारी सब्जियों के सेवन से स्वस्थ्य जीवन जिया जा सकता है। बड़ी-बड़ी कंपनिया भी इसी रिसर्च में जुटी हैं।
फूड पैकेजिंग को लेकर कई इनोवेशन

कनाडा में स्वास्थ्य के प्रति विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इस मामले में वह यूरोप को फॉलो करता है। फूड पैकेजिंग को लेकर कई इनोवेशन हो रहे हैं। फूड रिसर्चर के रूप में हम हमेशा ऐसी चीज का उपयोग करने की कोशिश करते है जिससे पैकेजिंग में उपयोग होने वाले पदार्थ का केमिकल खाने में जाकर टॉक्सिक न करे। कनाडियन सकरार प्लाटिक के चम्मचों को बैन करने जा रही है। क्योंकि इससे स्वास्थ्य पर विपरित प्रभाव पड़ता है। ये पर्यावरण को भी नुकसान पहुंचाता है। वहसं कर सरकार वन और जलवायु के बेहतर रखरखाव पर भी विशेष ध्यान दे रही है।
20 साल में किसी को रिश्वत नहीं दी

करप्शन से जुड़े सवाल पर वर्मा ने बताया, मुझे वहां रहते हुए बीस साल हो गए। इस दौरान अपना कोई भी काम करवाने के लिए किसी को रिश्वत देनी नहीं पड़ी। इस मामले में कनाडा की स्थिति ठीक है।

ट्रेंडिंग वीडियो