रामपुर: नेपाल से आए हाथियों को छेड़ा तो युवक का हुआ यह हाल

  • उत्तराखंड की सीमा से सटे बिलासपुर क्षेत्र में दिखा हाथियों का आतंक
  • हाथियों ने पापड़ बेचने वाले को सूंड से पटककर मार डाला, एक की हालत गंभीर
  • वन विभाग और पुलिस की टीमें ढूंढ रही हैं दोनों हाथियों को

By: sharad asthana

Updated: 01 Jul 2019, 03:31 PM IST

रामपुर। उत्तराखंड की सीमा से सटे बिलासपुर क्षेत्र में रविवार को हाथियों का आतंक देखने को मिला। रविवार को दो हाथी दिल्ली-नैनीताल रेलवे ट्रैक से गुजर रहे थे। इस बीच अचानक एक शख्‍स ने हाथी को छेड़ दिया। इसके बाद हाथी ने उस पर हमला कर दिया। इसमें शख्‍स की मौत हो गई। दूसरे ने खुद को बचाने की कोशिश की तो उसे भी हाथी ने अपनी सूंड से पटक दिया। उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है। वन विभाग के अधिकारियों ने हाथियों को उत्‍तराखंड के जंगल में भेजने की योजना बनाई है।

यह भी पढ़ें: यहां इंसानों के दोस्त हैं सांप, करते हैं घर की रखवाली

rampur

नेपाल से भटककर पहुंचे थे बिलासपुर

जानकारी के अनुसार, शनिवार रात को दो नर हाथी नेपाल से भटककर बिलासपुर आ गए। रविवार को हाथी रेलवे ट्रैक पर जा रहे थे। इस बीच बिहार निवासी बैजनाथ अपने कुत्‍ते के साथ दोनों हाथियों को देखने के लिए उनके पास चला गया। लोग उसे पास जाने के लिए मना किया लेकिन वह नहीं माना। वहां उसने हाथी को छेड़ दिया। इसके बाद हाथी ने उसे सूंड से पटक-पटककर मार डाला। साथ ही उसके कुत्‍ते को भी हाथी ने मार डाला। बैजनाथ को बचाने आए एक किसान लखविंदर सिंह को भी हाथी ने अपनी सूंड से पटक दिया। उसे उत्‍तराखंड के अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। बैजनाथ बिहार का रहने वाला था। वह गली-मोहल्लों में पापड़ बेचकर अपने परिवार का गुजारा चलाता था।

यह भी पढ़ें: तिलक में लाए गए थे हाथी-घोड़ा-ऊंट, अचानक से बिदक गया एक हाथी

rampur
IMAGE CREDIT: rampur r

पुलिस, डीएफओ और तहसीलदार पहुंचे मौके पर

वहीं, सूचना मिलने के बाद पुलिस, डीएफओ और तहसीलदार मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्‍टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेजा है। दोनों हाथियों को पकड़ने के लिए वन विभाग की टीम के साथ पुलिस की कई टीमें क्षेत्र में कांबिंग कर रही हैं। सोमवार दोपहर तक टीमें दोनों हाथियों को ढूंढती रही लेकिन सफलता नहीं मिली। माना जा रहा है कि जल्द ही हाथियों को पकड़कर उत्‍तराखंड के वन क्षेत्र में भेज दिया जाएगा। वहीं, इलाके में हाथियों के आतंक से दहशत का माहौल है। रविवार को सूचना मिलने के बाद एसपी डॉ. अजय पाल शर्मा भी बिलासपुर कोतवाली पहुंचे।

यह भी पढ़ें: जंगली हाथियों का उत्पात, किसानों को कुचला, एक की मौत

rampur

रामनगर से भी बुलाई गई टीम

डीएफओ एके कश्‍यप का कहना है क‍ि हाथि‍यों को इंजेक्‍शन से बेहोश करने के लिए रामनगर से भी एक टीम बुलाई गई है। हमले में मारे गए बैजनाथ के परिजनों को पांच लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा। उन्‍होंने ग्रामीणों को अकेले नहीं जाने की सलाह दी है।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर

sharad asthana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned