'अंधाधुंध बिजली कटौती और चेकिंग के नाम पर जनता का हो रहा उत्पीड़न'

सांसद आजम खान के मीडिया प्रभारी ने सरकार पर लगाए आरोप। तंजीन फातिमा बोलीं, बिजली कटौती से लोगों का उत्पीड़न हो रहा है। उच्च अधिकारियों से मिलेगा सपा प्रतिनिधि मंडल।

By: Rahul Chauhan

Published: 13 Jun 2021, 11:35 AM IST

रामपुर। शहर में अघोषित बिजली कटौती (electricity cut) को लेकर समाजवादी पार्टी (samajwadi party) ने रोष जताया है। जिसको लेकर आजम खान (azam khan) के मीडिया प्रभारी फसाहत शानू ने कहा है कि अंधाधुंध बिजली कटौती और चेकिंग कर जनता की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। 24 घंटे में मात्र 4 से 5 घंटे बिजली देकर और असमय घरों में घुसकर चेकिंग के नाम पर जनता के सब्र का इम्तेहान लिया जा रहा है। जिससे लोगों में आक्रोश है।

यह भी पढ़ें: हैलट अस्पताल में बड़ा फर्जीवाड़ा, मुर्दों और डिस्चार्ज मरीजों को लगा दिए रेमडेसिविर इंजेक्शन, होगी जांच

फसाहत शानू ने कहा कि शहर की जनता के साथ बिजली विभाग द्वारा किये जा रहे उत्पीड़न पर शहर विधायिका डॉ तंज़ीन फातिमा ने भी अफसोस जताते हुए कहा कि पिछले 2 वर्षों से जनता कोरोना महामारी के संकट से घिरी है और लॉकडाउन व कर्फ्यू से जनता वैसे ही रोज़गार और काम को लेकर परेशान हैं। ऐसे में बिजली की कटौती और चेकिंग आवाम का उत्पीड़न और अन्याय है।

उन्होंने कहा कि सपा नेता सांसद आज़म खान के सत्ता में रहते 24 घंटे बिजली मिली और न ही किसी तरह चेकिंग के नाम पर जनता का उत्पीड़न हुआ। आख़िर किसके आदेश पर बिना शेड्यूल बिजली कटौती और चेकिंग की जा रही है। जनता के साथ इस तरह का व्यवहार अत्यंत दुख का विषय है। इसमें प्रशासन को भी दख़ल देकर जनता की पीड़ा को समझते हुए जनता के उत्पीड़न को रोकने के लिए आगे आना चाहिए।

यह भी पढ़ें: अयोध्या की तर्ज पर होगा इस शहर का विकास, दुनियाभर में बनेगी अलग पहचान

आज़म खान के मीडिया प्रभारी फसाहत शानू ने बताया कि जल्द ही बिजली विभाग की हठधर्मिता और मनमानी को लेकर सपा का प्रतिनिधि मंडल उच्च अधिकारियों से मुलाक़ात करेगा। ताकि एक तरफ कोरोना महामारी के संकट से जूझती जनता कहीं बिजली विभाग की करतूतों को लेकर सड़कों पर उतरने को मजबूर न हो।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned