script #Ratlam अब इस मोहल्ला के रहवासी उतरे सडक़ पर, लगाए मुर्दाबाद के नारे | Now the residents of this locality came out on the road | Patrika News

#Ratlam अब इस मोहल्ला के रहवासी उतरे सडक़ पर, लगाए मुर्दाबाद के नारे

locationरतलामPublished: Jan 05, 2024 12:07:02 pm

Submitted by:

Kamal Singh

एक पखवाड़े से ज्यादा समय से नाली के पानी की सडक़ पर फैलने और निकलने की समस्या से हैं परेशान

#Ratlam अब इस मोहल्ला के रहवासी उतरे सडक़ पर, लगाए मुर्दाबाद के नारे
#Ratlam अब इस मोहल्ला के रहवासी उतरे सडक़ पर, लगाए मुर्दाबाद के नारे
रतलाम. नाली जाम होने से सडक़ पर फैल रहे गंदे पानी की समस्या से परेशान हाकिमवाड़ा क्षेत्र के लोगों के चक्काजाम के बाद भी समस्या का निदान नहीं हुआ तो गुरुवार को काजीपुरा भोई मोहल्ला के रहवासी भी सडक़ पर उतर आए। मोहल्ले के महिला-पुरुष और बच्चे काजीपुरा पुल पर पहुंचे और लकडिय़ां आड़ी लगाकर पूरा रास्ता जाम कर सडक़ पर ही बैठ गए। इस दौरान महापौर, निगम अधिकारियों और निगम मुर्दाबाद के जमकर नारे लगाए। पुलिस और निगम अधिकारियों ने नाली का पाइप नया डालने का आश्वासन देकर बड़ी मुश्किल से रहवासियों को मनाया।

मकान की दीवार के पास भरा पानी


भोई मोहल्ला के रहवासियों के घरों तक आने-जाने का मार्ग काजीपुरा से होकर ही जाता है। रास्ते में बीच में ही नाली का पाइप डाला हुआ है जो चॉक हो चुका है। एक पखवाड़े से ज्यादा समय से यह चॉक ही है और निगम का कोई जिम्मेदार सुनवाई करने को तैयार नहीं है।

जगह-जगह खोद दिए गडढ़े


नाली में जहां कचरा या पत्थर फसे हैं उन्हें ढूंढने दो जगह खुदाई करने से बड़े गड्ढे में गंदा एकत्रित पानी साबिर के मकान की दीवार के पास खुदाई से मकान को नुकसान पहुंच रहा है। रहवासियों के आने-जाने का मार्ग पूरी तरह कीचड़य़ुक्त हो गया।

एक-दूसरे पर डाल रहे जिम्मेदारी


नाली के लिए पाइप डालने से वह जाम हो चुका है। निकासी नहीं होने से पानी सडक़ पर फैल रहा। अब नगर निगम का लोनिवि इसे स्वास्थ्य विभाग का काम बता रहा और स्वास्थ्य विभाग लोनिवि की जिम्मेदारी बता रहा।

जिम्मेदार अधिकारी भी रुचि नहीं ले रहे


चार दिन से लगातार वहां खड़े रहकर निगम अधिकारियों को मौके पर बुलाकर समस्या का निदान करवाने का प्रयास कर रही लेकिन जिम्मेदार अधिकारी भी रुचि नहीं ले रहे हैं। गड्ढे खोदकर छोड़ रहे लेकिन सुधार नहीं रहे हैं। वार्ड के लोग बहुत परेशान हो चुके हैं। लोगों का रहना और आना-जाना तक मुश्किल हो गया। इसलिए उनके सब्र का बांध टूटने लगा है।
यास्मिन शैरानी, वार्ड पार्षद

ट्रेंडिंग वीडियो