मौत के मुंह में डुबकी, बिना सुरक्षा के गहरे नाले में उतार दिया सफाई कर्मचारी

कर्मचारी की जान से खिलवाड़

By: deepak deewan

Published: 13 Sep 2021, 02:13 PM IST

रतलाम. सूबे के नगरीय प्रशासन मंत्री ओपीएस भदौरिया के रतलाम प्रवास के दौरान ही नगर निगम का अमानवीय कृत्य सामने आ गया। रविवार को शहर मोचीपुरा में सीवर लाइन के करीब 7 फीट गहरे गड्ढे से पानी की निकासी सरल कराने के लिए दैनिक वेतनभोगी सफाईकर्मी सफाईकर्मी संजय साजन व भरत कैलाश की जान जोखिम में डाल दी गई।

स्वच्छता निरीक्षक किरण चौहान के निर्देश के बाद एक डंडा और लोहे का पाइप लेकर सफाईकर्मी भरत कैलाश को गंदे पानी से भरे गड्ढे में बिना किसी सुरक्षा व इंतजाम के कई बार डुबकी लगानी पड़ी। ये पहली मर्तबा नहीं है, जब नगर निगम की सफाई गैंग के कर्मचारियों को इस तरह जान का जोखिम लेकर कार्य करना पड़ा है, पहले भी ऐसे मामले सामने आए है।

nala3.jpg

मामले को लेकर शहर कांग्रेस अजा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष हितेश पैमाल ने कहा कि दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी है तो गंदे नाले में जिंदगी के साथ खिलवाड़ करते हुए उतारना अधिकारियों की गंदी सोच है, हम इसकी निंदा करते है। वहीं, मामले को लेकर नगर निगम के अफसरों से संपर्क किया गया तो स्वच्छता निरीक्षक ने टालमटोल जवाब दे दिया।

अर्थव्यवस्था पर सीएम शिवराजसिंह का बड़ा बयान, कहा— कड़की में हैं

सीवरेज के गड्डे में कर्मचारी को यूं उतार दिए जाने से जहां हर कोई नगर प्रशासन की थू—थू कर रहा है वहीं प्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री ओपीएस भदोरिया को इस घटना पर गहरा दुख है. उन्होंने घटना पर बेहद अफसोस जताया है. उन्होंने कहा कि यह घटना बेहद अफसोसजनक है, इसका दोहराव नहीं हो इसके लिए निर्देश दिए जा रहे हैं।

deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned