Mars Rashi Parivartan june 2021: किन राशियों पर होगा अच्छा व बुरा असर, साथ ही जानें बचाव के उपाय

2 जून 2021 को मंगल का राशि परिवर्तन...
देव सेनापति करेंगे अपनी नीच राशि कर्क में प्रवेश...

देवताओं के सेनापति व वर्तमान में चल रहे नवसंवत्सर राक्षस के राजा व मंत्री मंगल एक बार फिर अपनी चाल में परिवर्तन करते हुए अपनी नीच राशि कर्क में प्रवेश करने जा रहे हैं। दरअसल देव सेनापति मंगल जून के ठीक दूसरे दिन यानि 2 जून 2021 को सुबह 6 बजकर 39 मिनट पर मिथुन Rashi से कर्क राशि में प्रवेश करेंगे और करीब डेढ़ माह तक यानि 20 जुलाई 2021 को शाम 5 बजकर 30 मिनट तक इसी राशि में रहेंगे।

ज्योतिष के जानकार बीडी शक्टा के अनुसार Mars का यह परिवर्तन देश दुनिया में तनाव का कारण बन सकता है। जहां तक भारत की बात है तो सीमाओं पर तनाव बढ़ने की आशंका के बीच कुछ बड़े टकराव भी संभव हैं, वहीं इस समय कुछ जगह रक्तपात की संभावना (चाहे वह केवल आतंकियों से मुठभेड़ तक ही सीमित क्यों न हो) भी बनती है।

इस दौरान जहां नौकरी करने वालों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है, वहीं ये समय मौसम में बदलाव के संकेत भी देता दिख रहा है। इस समय देश के कई स्थानों पर ज्यादा बारिश की संभावना भी बनी रह सकती है।

MUST READ : 2021 में हनुमान भक्तों को होगा खास फायदा, जानिये नए साल का हनुमान जी से संबंध

https://www.patrika.com/astrology-and-spirituality/things-will-worsen-in-2021-only-mars-will-protect-you-6598664/

वहीं नवसंवत्सर के राजा व मंत्री होने के कारण Mangal का अपनी नीच राशि में प्रवेश जहां एक ओर कुछ राशि वालों को बड़ा नुकसान देता दिख रहा है। वहीं कुछ को इसके चलते लाभ भी मिलने की संभावना है। आइये जानते हैं देवसेनापति मंगल के इस परिवर्तन का आप सहित सभी 12 राशियों पर क्या असर रहने की संभावना है...

 

1. मेष राशि
इस समय मंगल आपसे चौथे घर यानि सुख व माता के भाव में रहेंगे। ऐसे में सुख भाव के साथ ही इनकी दृष्टि आपके कर्म व आय भाव में होने के कारण मंगल आपको कार्यक्षेत्र में पदोन्नति के साथ ही मान सम्मान में वृद्धि के योग बनाते दिख रहे हैं। लेकिन, इस समय आपको अपनी माता का खास ध्यान रखना होगा। वहीं सप्तम भाव पर मंगल की दृष्टि जीवनसाथी से तनाव उत्पन्न कराती दिख रही है।
इस समय आपको किसी भी तरह के समझौते को लेकर अत्यंत सतर्क रहना होगा, अन्यथा ये आपकी बड़ी परेशानी की वजह बन सकते हैं।

उपाय: हनुमानाष्टक का पाठ करें।

 

2. वृषभ राशि
इस समय मंगल आपकी राशि से तीसरे घर यानि पराक्रम व भाई बहनों के भाव में रहेंगे। वृषभ शुक्र के स्वामित्व वाली राशि है और शुक्र से मंगल की शत्रुता होने के कारण इस समय मंगल का पराक्रम भाव में होना आपसे कुछ ऐसा पराक्रम करवा सकता है, जिसके कारण बाद में आपको पछताना पड़े।

MUST READ : अपरा एकादशी कब है? जानें व्रत,महत्व, पूजा-विधि, शुभ मुहूर्त और सामग्री की लिस्ट

https://www.patrika.com/festivals/apara-ekadashi-2021-do-and-don-t-these-things-in-apara-ekadashi-6870648/

इसके अलावा इस समय आपको कार्यक्षेत्र में समस्याओं के चलते मानसिक तनाव का भी सामना करना पड़ सकता है। इस दौरान अपके स्वास्थ्य पर भी इसका असर पड़ता दिख रहा है।

वहीं इस समय मंगल की दृष्टि आपके कर्म भाव पर भी रहेगी, जिसके चलते कार्यस्थल पर कुछ सकारात्मक परिणाम भी मिल सकते हैं। आर्थिक मामलों में समय ठीक रहेगा, लेकिन खर्चों पर खास कंट्रोल रखना लाभप्रद होगा। वहीं तृतीय भाव छोटे भाई बहनों का भी होने के कारण इस समय उनसे किसी मुद्दे को लेकर वाद विवाद की भी संभावना है। वहीं इनकी सेहत लेकर भी आपको कुछ दिक्कतें आ सकती है।

उपाय: देवी माता दुर्गा की पूजा करें।

 

3. मिथुन राशि
इस समय मंगल आपकी राशि से दूसरे घर यानि धन व वाणी भाव में रहेंगे। ऐसे में जहां आपकी वाणी में कठोरता आ सकती है, वहीं ये भाव धन का भी होने के कारण इस समय आपको कुछ लाभ दे सकता है। इस समय मंगल की दृष्टि मुख्य रूप से आपके सुख भाव के अलावा आयु व भाग्य भाव पर भी रहेगी। जिसके चलते पत्नी के घर से लाभ की संभावना के अलावा दुर्घटनाओं व स्वास्थ्य में परेशानी के अतिरिक्त प्रशासन से कुछ लाभ हो सकता है। वहीं यदि आप प्रमोशन या किसी ओर प्रगति को लेकर विचार कर रहे हैं, तो इसमें अभी समय लगेगा।

उपाय: श्री गणेश चालीसा का पाठ हर रोज करें।

 

4. कर्क राशि
इस समय मंगल आपके ही लग्न पर मौजूद रहेंगे। वहीं चंद्र के स्वामित्व वाली आपकी राशि होने के कारण मंगल के आपसे शत्रुता के संबंध हैं। ऐसे में जहां मंगल आपको आक्रमक बना सकते हैं, वहीं ये परिवर्तन आपको तनाव में भी ला सकता है।

इस समय मंगल की दृष्टि आपके विवाह व आयु भाव में रहेगी। ऐसे में जहां जीवन साथी की किसी बात को लेकर आप गुस्से में आ सकते हैं, वहीं कुछ गलतफहमियां भी पैदा हो सकती हैं। इसके अलावा इस समय आपके पास पैसा काफी हल्की रफ्तार से आएगा। इसके अलावा इस समय आपको अपनी सेहत का भी खास ख्याल रखना होगा। साथ ही ये समय आपको व्यवसाय में तरक्की दे सकता है।

उपाय: भगवान शंकर की पूजा करें।

 

5. सिंह राशि
इस समय मंगल आपकी राशि से 12वें घर यानि व्यय भाव मे रहेंगे। ऐसे में आपके जीवन में अनिश्चितताओं के बीच कुछ नए जोखिम आ सकते हैं। इस समय आपको विवादों से दूर रहते हुए बिना किसी के सहयोग के केवल जमकर मेहनत करनी होगी।

वहीं मंगल की दृष्टि इस समय आपके रोग भाव, विवाह भाव के अलावा आय भाव पर भी रहेगी। ऐसे में इस समय आपको अपनी व अपने व जीवन साथी की सेहत पर भी खास ध्यान देना होगा। इस समय आपका पैसा इलाज में भी लग सकता है। जिसके कारण पारिवारिक जीवन में तनाव उत्पन्न होने की संभावना है। उचित होगा इस समय आप न तो किसी नई योजना पर पैसा लगाएं और न ही जीवनसाथी से मतभेद पैदा होने दें।

उपाय: रोज श्री गणेश के समक्ष दीपक जलाने के अलावा हर बुधवार श्री गणेश को दुर्वा अर्पित करें।

 

6. कन्या राशि
इस समय मंगल आपके 11वें घर यानि आय भाव में रहेंगे। जिसके चलते आपको कुछ मामलों में जरूर लाभ मिल सकता है। लेकिन ध्यान रहे इस समय मंगल नीच राशि में हैं। ऐसे में इस समय बड़े फायदे की अपेक्षा न करें। साथ ही लुभावने निवेश से बच कर रहें। ध्यान रहे ये समय आपकी मानसिक चिंताओं को बढ़ा सकता है।

MUST READ : Nirjala Ekadashi 2021 Date: जून 2021 में कब कब हैं एकादशी? साथ ही जानें इनके नियम

https://www.patrika.com/religion-news/june-2021-me-kon-kon-si-ekadashi-hain-or-nirjala-ekadashi-kab-hai-6868967/

इस दौरान मंगल की मुख्य रूप से दृष्टि आपके बुद्धि व पुत्र भाव के अलावा रोग व शत्रु भाव के साथ ही भाग्य भाव पर भी रहेगी। जिसके कारण इस समय आपको नकारात्मक स्थितियों का सामना करना पड़ सकता है, जिसके कारण तनाव बढ़ने की संभावना है। वहीं ये समय स्वास्थ्य की दृष्टि से यूं तो सामान्य रहेगा, लेकिन इस समय कोई चोट आपको परेशान कर सकती है।

मंगल नीच राशि में होने के कारण समय की अनुकूलता में कमी देखी जा सकती है। भाग्य इस समय आपका साथ तो देगा लेकिन बहुत कम ऐसे में जहां बड़े निवेश से आपको बचना होगा वहीं किसी की सलाह पर अचानक से नौकरी में बदलाव जैसा कदम उठाने से भी बचें। यह समय आपमें से कुछ व्यवसाइयों के लिए अनुकूल रह सकता है।

उपाय: हर रोज भगवान शिव का शिवतांडव स्त्रोत सुनें और शिव पंचाक्षरी मंत्र का जाप करें।


7. तुला राशि
इस समय मंगल आपके 10वें घर यानि कर्म भाव में रहेंगे। नीच राशि पर बैठे होने के कारण इस समय मंगल आपके लिए परेशानी उत्पन्न कर सकते है। ऐसे में आप अपने मन के अनुसार कार्य नहीं कर सकेंगे और आपको अनुसान की पालना करनी होगी। साथ ही ये स्थिति आपको तनाव देने का कार्य भी कर सकती है। इस समय आपको स्वास्थ्य सामान्य रह सकता है।

इस दौरान मंगल की मुख्य रूप से दृष्टि आपके सुख भाव व बुद्धि भाव के साथ ही विवाह भाव पर भी रहेगी। ऐसे में जहां आपकी आर्थिक स्थिति सामान्य रहेगी वहीं प्रेम रिश्तों में समस्याएं आ सकती हैं, जबकि विवाहित जातक गलतफेहमी का शिकार हो सकते हैं। वहीं कर्म भाव पर मंगल नौकरी व बिजनेस में प्रतिकूल स्थिति पैदा कर सकता है। उचित होगा इस समय आप खूब मेहनत करें न की लक के भरोसे रहें।

उपाय: भगवान शिव व देवी माता की पूजा करें।

8. वृश्चिक राशि
इस समय मंगल आपके नवें घर यानि भाग्य भाव में रहेंगे। अपनी शत्रु की राशि में होने के कारण मंगल इस समय आपके भाग्य भाव में खलबली मचा सकता है। जो आपको मानसिक तनाव भी दे सकता है। इस समय आपको खुद पर ही भरोसा रखना होगा। इस समय आपके पास पैसा तो आएगा, लेकिन कड़ी मेहनत के बाद...

इस दौरान मंगल की मुख्य रूप से दृष्टि आपके सुख भाव व पराक्रम भाव के साथ ही बुद्धि भाव पर भी रहेगी। इस समय आपको भाग्य का पूरा साथ नहीं मिल पाएगा जिसके कारण आपको कुछ तनाव के साथ ही परेशानियों का भी सामना करना पड़़ेगा।

वहीं इस समय आपके शत्रु व विरोधी आपकी छवि खराब करने की चेष्टा कर सकते हैं। आपको जीत के लिए अपनी बुद्धि का प्रयोग करना होगा, लेकिन क्रोध से दूरी बना कर रखनी होगी। इस दौरान स्वास्थ्य को लेकर सतर्क रहने के साथ ही पिता के साथ वाद विवाद से बचना होगा।

उपाय: श्री कृष्ण व श्री राम की पूजा करें।

 

9. धनु राशि
इस समय मंगल आपके आठवें घर यानि आयु भाव में रहेंगे। इस समय किसी भी तरह का ऋण आपको परेशानी में डाल सकता है। वहीं अष्ठम आयु भाव होने के चलते आपको इस दौरान अत्यंत सतर्क रहना होगा। साथ ही इस समय आपको अत्यंत मेहनत करनी होगी ताकि अपनी स्थिति को बरकरार रखा जा सके।

MUST READ : जून में लगेगा 2021 का पहला सूर्यग्रहण, देश की राजनीति पर पड़ेगा इसका असर!

https://www.patrika.com/religion-and-spirituality/2021-ka-pehla-surya-grahan-kab-hai-or-ye-kaha-kaha-dekhega-6868858/

वहीं इस दौरान मंगल की मुख्य दृष्टि आपके पराक्रम भाव पर रहेगी वहीं एक दृष्टि आपके धन व वाणी भाव पर भी रहेगी। इस समय जल्द गुस्सा आना व किसी भी बात पर विवाद पैदा हो सकता है। उचित होगा इस समय आप खुद को शांत रखें। इस समय जीवन साथी से भी मतभेद हो सकते हैं।

इसके अलावा इस समय आपको अपनी वाणी पर संयम रखना होगा। साथ ही पैसे को लेकर भी चिंता हो सकती है। स्वास्थ्य का भी इस समय खास ख्याल रखना होगा, छोटी सी लापरवाही आपको इस समय भारी पड़ सकती है।

इस समय आपको यात्रा पर भी जाना पड़ सकता है। वहीं घर में कुछ लोगों को बीमारी का भी सामना करना पड़ सकता है। उचित होगा इस समय आप फालतु के खर्चों पर नियंत्रण रखें। साथ ही किसी खतरे वाले काम को हाथ में न लें।

उपाय: किचन में बैठकर ही भोजन करें, साथ ही श्री हरि विष्णु की हर रोज पूजा करें।


10. मकर राशि
इस समय मंगल आपके सातवें घर यानि विवाह भाव में रहेंगे। जिसके चलते वैवाहिक जीवन में तनाव उत्पन्न हो सकता है। वहीं इस समय आपको साझेदारी वाले व्यवसायों में भी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा अभी जो विवाह की तैयारी या योजना बना रहे हैं, उनके सामने भी इस समय कठिनाइयां आने की संभावना है। स्वस्थ्य के मामले में आप अपने साथ ही अपने जीवनसाथी का खास ख्याल रखना होगा।

वहीं इस दौरान मंगल की मुख्य दृष्टि आपके प्रथम यानि लग्न भाव पर रहेगी वहीं एक दृष्टि आपके धन व वाणी भाव पर भी रहेगी। इस समय आप पर तनाव हावी हो सकता है। साथ ही अपने क्रोध पर भी आपको काबू रखना होगा। वहीं आपको अपने व्यवहार को इस समय अत्यधिक संयमित रखने की आवश्यकता है। इस दौरान धन संबंधी परेशानियां भी उत्पन्न होने की संभावना है।

उपाय: हर शनिवार बाबा भैरव की पूजा करें, साथ ही हर रोज हनुमान चालीसा का पाठ करें।

11. कुंभ राशि
इस समय मंगल आपके छठें घर यानि शत्रु व रोग भाव में रहेंगे। इस समय आपको कुछ स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही इस दौरान आपको किसी के साथ भी संघर्ष से बचना होगा। यह समय दांपत्य जीवन में भी कुछ तनाव ला सकता है।

वहीं इस दौरान मंगल की मुख्य दृष्टि आपके प्रथम व द्वादश भाव के साथ ही एकादश भाव पर भी रहेगी। इस समय आपके बॉस की आप पर खास नजर रहेगी। ऐसे में कोई भी गलती आपके लिए परेशानी का कारण बन सकती है। उचित होगा संयम से काम लें।

इसके साथ ही इस समय अचानक खर्चे आने की संभावना भी है।ऐसे में अनावश्यक खर्चों से बचते हुए अधिक से अधिक धन की बचत करें। इस समय आपको जमकर मेहनत करनी होगी।

उपाय: हर रोज बजरंगबाण का पाठ करें।

 

12. मीन राशि
इस समय मंगल आपके पांचवें घर यानि बुद्धि व पुत्र भाव में रहेंगे। इस समय अपने साथियों के साथ वाद विवाद से दूर रहें। वहीं इस दौरान आपको अपने साथ ही बच्चों की सेहत पर भी खास ध्यान देना होगा। वहीं जीवनसाथी के साथ भी आपको दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। इस समय घर को लेकर कोई भी बड़ा फैसला लेने से बचें।

वहीं इस दौरान मंगल की मुख्य दृष्टि आपके एकादश व द्वादश भाव के साथ ही नवम भाव पर भी रहेगी। इस समय आय के अतिरिक्त साधन खोजने की अपेक्षा आने वाले धन को कैसे रोका जाए, इस पर विचार करना होगा। इस दौरान आपके खर्चों में अचानक वृद्धि होने की भी संभावना है।

इस समय भाग्य कुछ हद तक ही साथ देगा ऐसे में आपको अपने खुद के कार्यों पर ही भरोसा रखना होगा। इस समय जीवन में कई रुकावटें पैदा हो सकती हैं, इनसे संभल कर रहें और हिम्मत के साथ इनका सामना करें।

उपाय: हनुमान की हर रोज पूजा करें और उन्हें शनिवार को चोला अर्पित करें।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned