Budh ka Rashi parivartan: बुध ने बदली राशि, जानिये इसके आप पर क्या होंगे असर?

बुध का अक्टूबर 2021 में राशि परिवर्तन ये दिखाएगा असर

Budh Rashi parivartan on 2 October 2021 : ग्रहों की गति के साथ ही दशा व दिशा में हो रहे लगातार परिवर्तन के बीच एक बार फिर आज यानि शनिवार 2 अक्टूबर 2021 को बुद्धि के कारक ग्रह बुध ने अपनी राशि में बदलाव कर लिया है। दरअसल शनिवार की सुबह 03 बजकर 23 मिनट पर बुध तुला से वक्री गति करते हुए पुन: कन्या राशि में जा पहुंचे हैं।

rashi parivartan

02 अक्टूबर का दिन है खास
दरअसल इस बार शनिवार 02 अक्टूबर 2021 को यानि एक ही दिन बुद्धि के कारक बुध व भाग्य के कारक शुक्र अपना राशि परितर्वन कर रहे है। इसके तहत जहां बुध सुबह 03 बजकर 23 मिनट पर बुध वक्री गति करते हुए कन्या राशि में प्रवेश कर गए हैं। वहीं भाग्य के कारक शुक्र भी सुबह 09 बजकर 35 मिनट पर अपनी राशि तुला से निकलकर वृश्चिक राशि में प्रवेश कर गए हैं।

Must Read - Shukra ka Rashi parivartan: शुक्र पहुंचे मंगल की राशि वृश्चिक में, जानिये इसके आप पर असर

August 2021 rashi parivartan

ऐसे समझें बुध की स्थिति को
जानकारों के अनुसार सितंबर से वक्री गति कर रहे बुध शनिवार 2 अक्टूबर 2021 को कन्या राशि में गोचर कर गए हैं। वहीं अब यह कन्या राशि में ही सोमवार, 18 अक्टूबर को मार्गी हो जाएंगे। इसके बाद बृहस्पतिवार, 2 नवंबर 2021 को बुध मार्गी गति करते हुए वापस तुला राशि में आ जाएंगे।

ज्योतिष के जानकारों की मानें तो बुध का वक्री अवस्था में गोचर का सभी 12 राशियों में तो अलग-अलग प्रभाव प्रदान करता ही है, साथ ही ये वक्री गति करते हुए किस राशि में प्रवेश करते हैं इसका भी विशेष असर देखने को मिलता है। ज्योतिष के जानकार सुनील शर्मा के अनुसार बुध वक्री गति के दौरान 2रें भाव, 4थें भाव, 6ठें भाव, 8वें भाव, 10वें भाव और 11वें भाव में शुभ फल देता है, इसके अलावा अन्य सभी भावों में इसका फल सामान्य या तकलीफदेह रहने की संभावना रहती है।

Must Read- October 2021 Rashi Parivartan List : अक्टूबर 2021 में 4 ग्रहों का 5 बार होगा राशि परिवर्तन, जानें कब कौन से ग्रह बदलेंगे अपनी राशि

rashi parivartan

12 राशियों पर बुध के राशि परिवर्तन का असर

1. मेष राशि
वर्तमान वक्री गति में बुध आपकी राशि के छठे यानि शत्रु व रोग भाव में गोचर करेंगे। इस समय आपको शत्रुओं से सावधान रहना होगा। वहीं सेहत का भी खास ध्यान रखना होगा। कार्यक्षेत्र में कुछ परेशानी सामने आ सकती है। जबकि आपमें से कुछ जॉब में परिवर्तन की भी सोच सकते हैं, परंतु ध्यान रखें इस तरह के किसी भी फैसले से पहले अच्छे से सोच-विचार कर लें। साथ ही जल्दबाजी में कोई फैसला न लें।उचित होगा इस दौरान अपने सहकर्मियों से अच्छा व्यवहार बनाए रखें।

2. वृषभ राशि
बुध वर्तमान में अपनी वक्री गति के बीच आपकी राशि के पांचवें यानि बुद्धि व पुत्र भाव में गोचर करेंगे। बुध के इस परिवर्तन से आपका आर्थिक जीवन काफी प्रभावित होगा। इस समय आपके संचार कौशल में वृद्धि होगी, लेकिन इस गोचर के दौरान प्रेम संबंधों को लेकर खास सावधानी रखनी होगी। उचित होगा अपने साथी पर विश्वास करें न कि उससे पुछताछ में जुट जाएं। प्रेमी जीवन में जल्दबाजी में निर्णय लेने से बचते हुए, इस समय उचित रहेगा कि आप शांत बने रहें।

3. मिथुन राशि
वर्तमान वक्री गति में बुध आपकी राशि के चौथे यानि सुख व माता भाव में गोचर करेगा । उचित होगा कि इस दौरान पारिवारिक मामलों के लेकर अतिरिक्त सावधानी बरतें। इस समय घर में शांति बनाए रखें। साथ ही कोई भी परिवार से जुड़ा महत्वपूर्ण फैसला लेने से इस समय बचें। यह गोचर, आपके प्रति लोगों की धारणा में बदलाव ला सकता है। इस समय कुछ पुराने विवाद पुन: उभर सकते हैं। ऐसे में लोगों की बेहिचक मदद लें।

Must Read- Monthly Horoscope 2021: अक्टूबर 2021 में इन राशिवालों का चमकेगा भाग्य, जानें कैसा रहेगा आपके लिए ये माह?

Monthly Rashifal
IMAGE CREDIT: patrika

4. कर्क राशि:
वर्तमान वक्री गति में बुध आपकी राशि के तीसरे यानि पराक्रम व छोटे भाई बहन के भाव में गोचर करेगा। जिसके चलते आपके पराक्रम में बुद्धि का खास योगदान रहेगा। वहीं इस समय छोटे भाई बहनों से व्यवहार में सुधार भी देखने को मिलेगा। कुछ जगहों पर इस दौरान टकराव की स्थिति भी पैदा हो सकती है। वहीं इस समय आपको कुछ मामलों में भाग्य का सहारा भी मिल सकता है। जबकि कुछ स्थितियों इस समय आपको परेशानी में भी डाल सकती हैं।


5. सिंह राशि
वक्री गति में बुध इस समय आपकी राशि के दूसरे यानि धन व वाणी भाव में गोचर करेंगे। ऐसे में आपको खर्चों पर कुछ रोक लगानी होगी। वहीं आय और खर्च को संतुलित करना होगा। इस समय आपको वाणी में मधुरता रखनी होगी। साथ ही यदि आप दूसरों पर निर्भर नहीं हैं और यह समय आपके लिए आत्मनिर्भर होने का है। निवेश में जल्दबाजी से बचते हुए ऐसी जगहों पर ही निवेश करें, जो आने वाले समय में आपको लाभ प्रदान करें। संपत्ति में निवेश से अभी दूर रहें। वक्री गति के दौरान नई आय की योजनाओं को स्थगित रखें।


6. कन्या राशि
बुध इस समय वक्री गति के चलते आपकी ही राशि के प्रथम यानि लग्न भाव में गोचर करेगा। जिसके फलस्वरूप आपके आर्थिक पक्ष में मजबूती आने की संभावना है। नौकरी और व्यापार में लाभ की संभावना के बीच इस समय अधिकारियों के साथ आपके संबंध अच्छे रहेंगे। साथ ही कॅरियर में भी नए अवसर मिलने की संभावना है। पारिवारिक जीवन सुखमय रहने के साथ ही जीवन साथी से भी तालमेल सही रहेगा।


Must Read- श्री गणेशजी पूजा: किसी भी एक मंत्र का हर रोज उच्चारण बदल देता है किस्मत!

August 2021 rashi parivartan

7. तुला राशि
वर्तमान वक्री गति में बुध आपकी राशि के 12वें यानि व्यय भाव में गोचर करेगा। यह समय आपके लिए मिश्रित फलदायी रहेगा। इस दौरान आपको काम में अत्यधिक मेहनत करनी होगी, इसके बाद ही आप कुछ सफलता प्राप्त कर सकेंगे। इस दौरान लंबी दूरी की यात्रा लाभ देंगी।

रुके-अटके कार्य एक बार फिर शुरु होने की संभावना के बीच कुछ विरोधी सक्रिय होते हुए आपके खिलाफ कोई साजिश बना सकते हैं, ऐसे में आपको इन स्थितियों को लेकर सतर्क रहना होगा। इससे बचने के लिए अपनी बुद्धि व रणनीति का इस्तेमाल करना होगा। इस समय आपको विदेशों से लाभ हो सकता है।

8. वृश्चिक राशि
वर्तमान वक्री गति में बुध आपकी राशि के 11वें यानि आय भाव में गोचर करेगा। यह समय आपके लिए कई मायनों में विशेष रहता दिख रहा है। इस समय आय में वृद्धि की संभावना के बीच ही व्यय में भी बढ़ौतरी की संभावना है। यदि आप इस समय व्यय पर लगाम लगाने में सफल रहते हैं तो आपके बैंक बैलेंस में वृद्धि हो सकती है। इस दौरान सोच समझकर ही निवेश करें। साथ ही इस समय षडयंत्रों से आपको सावधान रहना होगा।


9. धनु राशि
वर्तमान वक्री गति में बुध आपकी राशि के 10वें यानि कर्म व पिता भाव में गोचर करेगा। इस समय कार्यों में सफलता के साथ ही आपकी कार्यक्षेत्र में स्थिति मजबूत होगी। नौकरी व व्यापार दोनों ही स्थितियों में ये समय आपके लिए खास रहेगा। आपके कार्यों की तारीख होने के साथ ही आपका आर्थिक पक्ष भी इस समय मजबूत होगा। धन लाभ के साथ ही इस दौरान आपको जीवनसाथी का भी पूरा सहयोग मिलने की उम्मीद है।

Must Read- Shradh Parv : पितृदोष निवारण के लिए ये हैं विशेष उपाय

Rashi Parivartan

10. मकर राशि
वर्तमान वक्री गति में बुध आपकी राशि के 9वें यानि भाग्य भाव में गोचर करेगा। इस समय आप सहयोगियों के कुछ मुद्दों से निराश हो सकते हैं, वहीं इसके कारण आप ध्यान को एकाग्रचित नहीं कर सकेंगे जिससे परेशानियां उत्पन्न होंगी। साथ ही ये गोचर आपके कानूनी मामलों को प्रभावित भी करेगा। जिसके कारण आपकी पकड़ में कमी आ सकती है। इस समय उचित होगा कि यात्राओं से दूर रहें। वहीं उच्च शिक्षा से जुड़ी किसी भी योजना को बुध की वक्री गति की स्थिति तक निरस्त रखें।


11. कुंभ राशि
वर्तमान वक्री गति में बुध आपकी राशि के 8वें यानि आयु भाव में गोचर करेगा। इस दौरान आपके मान सम्मान में वृद्धि के साथ ही आपके सितारे आपको बुलंदियों में ले जा सकते हैं। जिसके चलते पद- प्रतिष्ठा में बढ़ौतरी के साथ ही इस समय आपको भाग्य का भी पूरा साथ मिलने की उम्मीद है। इस दौरान आपका भाग्य साथ देगा। कार्यक्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन के बीच इस समय आपको जीवनसाथी के साथ तनाव से बचना होगा।

Must Read- Ashwin Krishna Amavasya: सर्व पितृ अमावस्या के दिन पितर वापस जाते हैं अपने लोक

12. मीन राशि:
वर्तमान वक्री गति में बुध आपकी राशि के 7वें यानि विवाह भाव में गोचर करेगा। इस समय आपके वैवाहिक जीवन में तनाव में कमी आएगी। वहीं कुछ हद तक आपको धन लाभ की संभावानाएं भी बनती दिख रही है। लेकिन इस दौरान आपके खर्चे बढ़ सकते हैं, जिन्हें संतुलित करना होगा। कार्यस्थल में आपकी मेहनत रंग लाएगी। वहीं इस समय आपको व्यवसाय में कुछ परेशानियों का सामना भी करना पड़ सकता है।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned