पंचायती राज महासम्मेलन में नेता प्रतिपक्ष ने कहा- कांग्रेस की सरकार बनी तो अमीर-गरीब सबका होगा सम्मान, पंचायत प्रतिनिधियों को मिलेगा अधिकार

राजीव गांधी की 27वीं पुण्यतिथि पर पंचायती राज महासम्मेलन का आगाज, प्रदेश में 2 अक्टूबर तक होंगे सम्मेलन

By: Balmukund Dwivedi

Published: 22 May 2018, 05:32 PM IST

रीवा. राजीव गांधी की 27वीं पुण्यतिथि पर कांग्रेस पार्टी ने रीवा में पंचायती राज महासम्मेलन का आगाज किया है। यह सम्मेलन प्रदेश के अलग-अलग जिले में आयोजित होकर आगामी 2 अक्टूबर तक चलेगा। महासम्मेलन का शुभारंभ बतौर मुख्य अतिथि नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनी तो अंतिम छोर के व्यक्ति का सम्मान व स्वाभिमान वापस होगा। कांग्रेस की सरकार में पंचायती एक्ट पूरी तरह से बहाल होगा और पंच, सरपंच सहित जिला एवं जनपद पंचायत सदस्यों को अधिकार और सम्मान मिलेगा।नेता प्रतिपक्ष ने भाजपा को पंचायतीराज व्यवस्था को खत्म करने वाली सरकार बताया। कहा कि पंचायतीराज व्यवस्था पर अफरशाही हावी है।


उद्योग मंत्री पर आरोप
नेता प्रतिपक्ष ने चुटकी लेते हुए कहा कि प्रदेश में तीन पाल ऐसे हैं जो मुख्यमंत्री का खजाना भर रहे हैं, पहला है रामपाल, दूसरा वियज पाल और तीसरे राजेन्द्र पाल यानी राजेन्द्र शुक्ल। उन्होंने उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ल पर आरोप लगाया कि वे रीवा की ऐतिहासिक धरोहरों को बेच रहे हैं।कहा यदि सत्ता परिवर्तन नहीं हुआ तो बची धरोहरें भी समदडिय़ा के हाथ चली जाएगी।


पंचायत प्रतिनिधि तय करेंगे अगली सरकार
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष अभय मिश्रा ने कहा कि पंचायत प्रतिनिधि ही प्रदेश की अगली सरकार तय करेंगे। पंच, सरपंच को मानेदय नहीं दिया जा रहा है, स्कूल के मास्टर की वेतन ६०० से बढ़ कर ६५ हजार हो गई। लेकिन पंच, सरपंच को ३०० रुपए नहीं मिल रहे हैं। अध्यक्ष ने कहा भाजपा सरकार में पीएम, सीएम के अलावा किसी की कदर नहीं है, इस सरकार में कलेक्टर नेतागीरी कर रहे हैं। इस व्यवस्था से मुक्त होने के लिए जाति, पाति से हटकर सच्चा परिवर्तन करना होगा।


भाजपा सरकार में पंचायती राज व्यवस्था खत्म
महासम्मेलन में विधायक सुखेन्द्र सिंह बन्ना ने कहा कि भाजपा सरकार में अधिकारी कहते हैं कि पंच, सरपंच पैसा खाने की मशीन हैं। बताया कि तत्कालीन सीएस राधेश्याम जुलानियां से सिफारिश किया कि पंचायतों को पेयजल संकट से निपटने के एक-एक हैंडपंप दे दिया जाए, तो जुलानियां ने कहा सरपंच पाइप बेच लेंगे। विधायक ने कहा कि भाजपा सरकार में पंचायती राज व्यवस्था पूरी तरह खत्म हो गई है।पंचायत प्रतिनिधियों को टॉयलेट निर्माण कराने का ठेकेदार बना दिया गया है।


अन्नदाता को बीमार कर रही भावांतर
सम्मेलन में डीपी धाकड़ ने कहा कि अन्नदाता को सरकार की भावांतर योजना बीमार कर रही है।जिस भी उपज को भावांतर योजना में लिया उस अनाज की कीमत बाजार में कम हो गईहै। उदाहरण दिया कि जब प्याज भावांतर में नहीं थी तो १२ रुपए किलो बिकती थी, जब से भावांतर में शामिल कर ली गई तब से बाजार में दो रुपए किलो बिक रही है।


ये रहे मौजूद
कार्यक्रम का संचालन जनपद उपाध्यक्ष नईगढ़ी नृपेन्द्र सिंह ने किया।सम्मेलन में किसान कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुर्जर, राजराम त्रिपाठी, बृजभूषण शुक्ला, रमाशंकर मिश्रा, वृंदा प्रसाद, गुरमीत सिंह मंगू, रामाशंकर सिंह पटेल, रामायण सिंह, राकेश तिवारी, कुंवर सिंह सहित जनपद अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह, कमलेश्वर सिंह, सौरभ मिश्रा सहित सैकड़ों की संख्या में पंच, सरपंच मौजूद रहे।

 

Panchayati Raj Mahasammelan
balmukund dwivedi IMAGE CREDIT: patrika

300 पंचायत प्रतिनिधियों ने ग्रहण की कांग्रेस की सदस्यता
जिला पंचायत सदस्य अच्छे लाल साकेत, अंजू यादव, सुमन दाहिया, किरण सिंह, रामकली कोल, स्वाती सागर सहित 100सरपंच एवं 150 से अधिक पंचों ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की है।पंचायती राज संगठन के प्रदेश अध्यक्ष अभय मिश्र ने दावा किया कि जिला पंचायत सदस्य सहित करीब 300 पंचायत प्रतिनिधियों ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की है।

Congress
Balmukund Dwivedi Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned