शर्मनाक : चोरी की नींव पर खड़ा कर दिया शिक्षा का मंदिर, डीएम ने लगाया डेढ़ कराेड़ का जुर्माना

  • स्टांप घोटाला सामने आया तो कॉलेज के प्रबंधन पर लगा एक करोड़ 40 लाख का जुर्माना

By: shivmani tyagi

Updated: 21 Jan 2021, 05:57 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क
सहारनपुर ( Saharanpur ) स्टांप चोरी का बड़ा मामला सामने आया है। इससे भी बड़ी बात यह है कि राजस्व की हेरा फेरी कॉलेज प्रबंधन ने की। यानी स्टांप चोरी करके शिक्षा के मंदिर की बुनियाद रख दी गई। मामला उजागर होने पर जिलाधिकारी की अदालत ( Court order ) ने जेबीएस हिंदू कन्या इंटर कॉलेज की प्रबंधन समिति पर एक करोड़ 40 लाख 20 हजार का जुर्माना लगाया है। यह जुर्माना राशि प्रबंधन को मय ब्याज जमा करनी होगी।

यह भी पढ़ें: योगीराज में जमींदोज हुई बाहुबल के दम पर खड़ी की गई माफिया डॉन बद्दो की किलेनुमा हवेली

जेबीएस हिंदू कन्या इंटर कॉलेज प्रबंधन ने पिछले दिनों बैनामा कराया था जिसमें 40 लाख 20 हजार रुपये के स्टांप की चोरी की गई। जब यह मामला सहारनपुर जिलाधिकारी अखिलेश सिंह की अदालत में पहुंचा तो स्टांप की इतनी बड़ी चोरी देखकर वह भी हैरान रह गए। उन्होंने अपना निर्णय सुनाते हुए स्टांप चोरी पर एक करोड़ 40 लाख रुपए का जुर्माना लगाया। सहायक शासकीय अधिवक्ता अजय त्यागी ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि जेबीएस हिंदू कन्या इंटर कॉलेज प्रबंधन समिति को कुछ जमीन दान में मिली थी। प्रबंधन ने अलग-अलग जमीनों के बैनामे कराये थे। जमीन सेगमेंट के अंदर आती थी लेकिन बैनामों में स्टांप की चोरी की गई। जमीन का रेट लगभग 22 करोड़ 66 लाख रुपए था जिस पर एक करोड़ 58 लाख रुपये स्टाम्प शुल्क जमा होना था लेकिन प्रबंधन ने केवल 18 लाख 42 हजार का ही स्टांप शुल्क दिया। जब इसकी शिकायत हुई तो डीएम के न्यायालय में प्रबंधन समिति के खिलाफ वाद दर्ज हुआ। इस वाद को सुनने के बाद जिलाधिकारी की अदालत ने स्टांप अधिनियम की धारा 47 के जुर्माना लगाया है। अब प्रबंधन को प्रतिमाह रकम पर 8% ब्याज भी जमा करना होगा। ब्याज के साथ साथ अगर प्रबंधन जुर्माना जमा करने में देरी करता है तो उसके लिए अतिरिक्त शुल्क देना होगा। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि जुर्माने की रकम दो करोड़ तक भी जा सकती है।

यह भी पढ़ें: गुड़ चाकू के भाव बढ़े तो चीनी के दाम गिरे, जानिये आज के भाव

जिलाधिकारी की अदालत ने जल्द से जल्द जुर्माना जमा कराने के आदेश दिए हैं। यह पूरा मामला सेगमेंट की जमीन से जुड़ा हुआ है। प्रबंधन समिति ने सेगमेंट की जमीन में हेराफेरी करके सरकार को राजस्व का चूना लगाने की कोशिश की लेकिन अब जिलाधिकारी की अदालत में यह मामला सामने आने के बाद दोगुनी राशि प्रबंधन को जमा करनी होगी। माना जा रहा है कि अदालत के इस फैसले के बाद दूसरे भू-माफियाओं की भी आंखें खुलेंगी और जो लोग स्टांप चोरी करते हैं उनके लिए भी सहारनपुर के जिलाधिकारी की अदालत का यह फैसला नजीर के रूप में देखा जा रहा है।


अन्य बैनामों की भी होगी जांच
कॉलेज प्रबंधन समिति से जुड़े अन्य जमीनी मामलों की भी अब जांच की जाएगी। जेबीएस कॉलेज प्रबंधन समिति की ओर से की गई हेराफेरी सामने आने के बाद अब इस प्रबंधन समिति की ओर से पिछले वर्षों में जितने भी बैनामे किए गए हैं और प्रबंधन को जो भी जमीन दान में मिली है उन सभी की जांच भी की जाएगी। ऐसे में कुछ और नए मामले भी सामने आ सकते हैं।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned