मेडिकल कॉलेज के बाद अब सहारनपुर विश्वविद्यालय का नाम बदला

सहारनपुर विश्वविद्यालय ( university ) को अब मिलेगा मां शाकंभरी राज्य विश्वविद्यालय नाम, सहारनपुर के पूर्व सांसद राघव लखन पाल शर्मा और देवबंद विधायक ने उठाई थी मांग

 

By: shivmani tyagi

Updated: 23 Jul 2021, 07:37 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क
सहारनपुर ( Saharanpur ) सहारनपुर मेडिकल कॉलेज ( medical college ) का नाम बदले जाने के बाद अब सहारनपुर विश्वविद्यालय ( saharanpur university ) का नाम बदलने की कवायद भी तेज हो गई है। सहारनपुर विश्वविद्यालय को मां 'शाकंभरी राज्य विश्वविद्यालय' नाम मिला है। कैबिनेट में प्रस्ताव काे हरी झंडी मिल चुकी है। अंतिम सहमति के बाद सहारनपुर विश्वविद्यालय को शाकंभरी राज्य विश्वविद्यालय के नाम से जाना जाएगा।

यह भी पढ़ें: 6696 सहायक शिक्षकों को मिला नियुक्ति पत्र, सीएम योगी ने कहा मैं भी बेसिक शिक्षा परिषद स्कूल में ही पढ़ा हूं

सहारनपुर में बसपा की सरकार में मेडिकल कॉलेज की स्थापना हुई थी जिसका नाम 'मान्य कांशीराम मेडिकल कॉलेज' रखा गया था। बाद में समाजवादी पार्टी की सरकार आने के बाद सहारनपुर मेडिकल कॉलेज का नाम बदलकर शेखुल हिंद मौलाना महमूद हसन मेडिकल कॉलेज रख दिया गया था। बाद में भाजपा की सरकार आने के बाद एक बार फिर से मेडिकल कॉलेज का नाम बदले जाने की चर्चाएं उठी थी लेकिन मेडिकल कॉलेज का नाम नहीं बदला जा सका। अब सहारनपुर विश्वविद्यालय का नाम बदले जाने का प्रस्ताव दिया गया है। यूपी कैबिनेट में प्रस्ताव को लगभग मंजूरी मिल गई है।

यह भी पढ़ें: दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर नहीं होगा टोल बैरियर, जानिए कैसे कटेगा टोल टैक्स

पूर्व सांसद राघव लखन पाल शर्मा और देवबंद विधायक बृजेश सिंह ने सहारनपुर यूनिवर्सिटी का नाम बदलने की वकालत की थी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर दोनों जनप्रतिनिधियों ने सुझाव दिया था कि सहारनपुर यूनिवर्सिटी का नाम मां शाकंभरी देवी के नाम पर होना चाहिए। सहारनपुर यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार डीके वर्मा के अनुसार बुधवार को यूपी कैबिनेट में बैठक हुई जिसमें इस नाम पर सहमति बनी है। अभी अंतिम सहमति बननी शेष है ऐसे में साफ हो गया है कि अब सहारनपुर राज्य यूनिवर्सिटी का नाम बदलकर शाकंभरी राज्य विश्वविद्यालय हो जाएगा।


50 एकड़ में बन रही है यूनिवर्सिटी
सहारनपुर में प्रस्तावित विश्वविद्यालय का निर्माण कार्य पिछले वर्ष शुरू हो गया था यूनिवर्सिटी निर्माण के लिए 92 करोड़ स्वीकृत हो चुके हैं। 50 एकड़ में बनने वाली यह यूनिवर्सिटी वर्ष 2022 में शुरू हो जाएगी। यूनिवर्सिटी के शुरू होने के बाद सहारनपुर मंडल के करीब 300 डिग्री कॉलेज इस यूनिवर्सिटी से अटैच हो जाएंगे। अभी तक सहारनपुर में कोई सरकारी यूनिवर्सिटी ना होने की वजह से मेरठ यूनिवर्सिटी पर ही अधिक भार है। एक उम्मीद के मुताबिक यूनिवर्सिटी बनने के बाद करीब दो लाख छात्र- छात्राओं को लाभ होगा।

यह भी पढ़ें: Uttar Pradesh Assembly Elections 2022: बसपा फिर लौटी 'सोशल इंजीनियरिंग' के फॉर्मूले पर, 2007 का इतिहास दोहराने की कर रही कोशिश

यह भी पढ़ें: गोरखपुर में चार साल में 259 उद्योगपतियों ने ली गीडा से कारखाना लगाने को जमीन, चौंक गए

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned