बच्चों की पढ़ाई के लिए प्रधानाध्यापक ने बाटें कलर टीवी

प्रधानाध्यापक ने गांव में दिए चार कलर टीवी
ग्रामीण कर रहे इस पहल की अब सराहना

By: shivmani tyagi

Updated: 17 Jul 2021, 04:53 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क
सहारनपुर ( Saharanpur) अभी तक आपने अध्यापकों को बच्चों से टीवी ना देखने के लिए कहते हुआ सुना होगा लेकिन यह मामला बिल्कुल अलग है। सहारनपुर के एक प्राइमरी स्कूल के प्रधानाध्यापक ने बच्चों के परिवारों को अपनी जेब से कलर टीवी ( colour tv ) खरीद कर दिए हैं। इसके पीछे बच्चों की पढ़ाई वजह है। प्रधानाध्यापक का कहना है कि कोरोना काल के चलते बच्चे स्कूल नहीं पहुंच रहे ऐसे में उनकी पढ़ाई प्रभावित ना हो इसलिए उन्हें टीवी दिए गए हैं। बच्चे दूरदर्शन पर आने वाले पढ़ाई संबंधी कार्यक्रमों को इन टीवी पर देख सकेंगें और स्कूल में आए बगैर भी शिक्षा प्राप्त कर सकें।

यह भी पढ़ें: बच्चा होने के बाद पत्नी को मोटी बताकर दिया तीन तलाक, कोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका

प्रधानाध्यापक ( headmaster ) की इस पहल का पूरा गांव स्वागत कर रहा है। प्रधानाध्यापक के इस कार्य की आस-पास के गांव में भी तारीफ हाे रही है। दरअसल लॉक डाउन खुलने के बाद बेसिक स्कूल भी खुल गए हैं लेकिन अभी तक अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेज रहे हैं। इसके पीछे कोरोना की आशंकित तीसरी लहर काे वजह माना जा रहा है। शिक्षा विभाग ने भी अभिभावकों से उनकी मर्जी पूछी थी ऐसे में केवल 50 प्रतिशत अभिभावकों ने ही अपने बच्चों को स्कूल भेजने की सहमति दी थी। यही वजह है कि अभी स्कूलों में बच्चे नहीं जा रहे हैं। स्कूल भले ही खुल गए हों लेकिन बच्चे स्कूल नहीं जा रहे। ऐसे में बच्चों की पढ़ाई प्रभावित न हो यही साेचते हुए मुजफ्फराबाद के प्राथमिक विद्यालय सहजादपुर के प्रधानाध्यापक ने एक पहल करते हुए अपने वेतन से चार कलर टीवी खरीदकर गांव में परिवारों को दिए ताकि बच्चे टीवी पर आने वाले कार्यक्रमों को देखकर अपनी पढ़ाई जारी रख सकें।

यह भी पढ़ें: लोकतंत्र की धज्जियां उड़ा रही योगी सरकार, जहां हिंसा हुई रद्द हों चुनाव : प्रियंका गांधी

दरअसल सहारनपुर का मिर्जापुर क्षेत्र बेहद पिछड़ा हुआ क्षेत्र है और यहां पर टीवी अभी भी एक बड़ी बात है। प्रधानाध्यापक वीरेंद्र सैनी का कहना है कि गांव में टीवी नहीं हैं। ऐसे में उन्होंने चार करल टीवी ग्रामीणों को दिए हैं। इन टीवी से अब बच्चे अपनी पढ़ाई घर पर ही कर सकेंगे। टीवी पर बच्चे दूरदर्शन पर आने वाले शिक्षा संबंधी कार्यक्रम देखकर शिक्षा ग्रहण कर सकेंगे। गांव में एक सादे आयोजन के दौरान यह टीवी ग्रामीणों को भेंट किए गए। इस दौरान बड़ी संख्या में गांव में पौधारोपण भी किया गया और ग्रामीणों को पौधारोपण के लिए जागरूक किया गया। प्रधानाध्यापक की इस पहल की जहां चारों तरफ तारीफ हो रही है तो वहीं बच्चे भी टीवी मिलने के बाद बेहद खुश हैं।

यह भी पढ़ें: विंध्यवासिनी मंदिर में वीआईपी व्यवस्था पर भड़के लोग, बीजेपी विधायक ने सबके लिए खुलवाया रास्ता

यह भी पढ़ें: कोठी खासबाग में हुई थी देश की सबसे बड़ी चोरी, जानिए क्या हुआ था खजाने से चोरी

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned