ट्रक- बस की सीधी टक्कर, खलासी समेत दो की मौत

सभापुर क्षेत्र में सुतीक्षण आश्रम के पास हुआ हादसा, बस सवार दो दर्जन यात्री घायल हुए, गंभीर घायलों को बिरसिंहपुर से जिला अस्पताल भेजा, तीन थानों की पुलिस, प्रशासन, डॉक्टर सक्रिय रहे

By: Dhirendra Gupta

Published: 07 Mar 2020, 12:11 PM IST

सतना. झखौरा से सतना की ओर जा रही यात्री बस की सीधी टक्कर सुतीक्षण आश्रम के पास हो गई। शुक्रवार की सुबह करीब 8 बजे हुए इस हादसे को देखते ही आस पास खेतों में काम करने वाले मजदूर और किसान दौड़ पड़े। कुछ ही देर में पुलिस प्रशासन के अफसर भी पहुंचे और तेजी से बचाव कार्य शुरू कर दिया गया। लेकिन इस बीच ट्रक और बस में दबने से ट्रक के एक खलासी और बस सवार एक यात्री की मौत हो गई। घायल यात्रियों को सुरक्षित निकालते हुए बिरसिंहपुर के सरकारी अस्पताल भेजा गया। जहां से गंभीर घायल जिला अस्पताल रेफर कर दिए गए।
जानकारी मिली है कि पंकज ट्रेवल्स की बस एमपी 19 पी 1294 ग्राम झखौरा से चलकर कारीगोही के रास्ते देवरा, सुतीक्षण मोड़ होते हुए जा रही थी। सुतीक्षण मोड़ में तेज रफ्तार बस पहुंची तभी सामने से अपनी रफ्तार में आ रहे सिंह ट्रांसपोर्ट कर्वी के ट्रक यूपी 96 टी 1415 से बस टकरा गई।
इनकी हुई मौत
इस हादसे में बस सवार यात्री राजा भइया चौधरी पुत्र बाबूलाल चौधरी (26) निवासी करही भाद व ट्रक के खलासी गणेश वर्मा पुत्र छोटइया वर्मा (25) निवासी फतेहगंज जिला बांदा की मौत हो गई। मृतक राजा भइया के रिश्तेदार अशोक कुमार वर्मा पुत्र छोटे लाल निवासी वीरपुर पहुंच गए थे। जबकि मृतक गणेश के परिजनों को सूचना देकर बुलाया गया।
तेज धमाके की आवाज आई
स्थानीय लोगों का कहना है कि वह खेतों में काम कर रहे थे। जब दोनों वाहनों की टक्कर हुई तो तेज धमाके की आवाज सुनकर सभी दौड़ पड़े। बस से चीख पुकार मच रही थी। यात्री खुद को बचाने के प्रयास कर रहे थे। जो सुरक्षित रहे वह दूसरों की मदद में जुट गए। कुछ ही देर में पुलिस और प्रशासन के अफसर पहुंचे तो बचाव कार्य तेज हुआ।
तीन थानों की पुलिस
डायल 100 के पहुंचने के बाद सभापुर थाना प्रभारी आशीष धुर्वे, धारकुण्डी थाना प्रभारी विक्रम पाठक, जैतवारा थाना प्रभारी हरीश दुबे की टीमें सूचना पाते ही मौके पर पहुंच गईं। नायब तहसीलदार मनीष पाण्डेय भी पहुंचे। इधर मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी एके अवधिया भी खबर पाकर बिरसिंहपुर पहुंचे। जहां पहले से ही ड्यूटी पर तैनात रहे डॉ. रूपेश सोनी, डॉ. दीपक तिवारी, डॉ. पुष्पेन्द्र पटेल ने सहयोगी स्टॉफ की मदद से घायलों का बेहतर उपचार करने का प्रयास किया। एसडीएम हेमकरण धुर्वे, एडिशनल एसपी गौतम सोलंकी, नगगर परिषद सीएमओ अम्बिका प्रसाद पाण्डेय हादसे की सूचना पर पहुंचे और हालात सामान्य होने के बाद वहां से लौटे।
अस्पताल पहुंचे कलेक्टर
जब घायलों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया तो यहां कलेक्टर अजय कटेसरिया भी अस्पताल पहुंचे। उन्होंने घायलों का हाल लेने के बाद सिविल सर्जन प्रमोद पाठक से बात की और बेहतर इलाज के निर्देश दिए। यहां एक बात यह देखनेे को मिली कि कुछ घायलों को पलंग नहीं मिल सके। एेसे में जमीन पर ही उन्हें लेटाकर उपचार किया गया।
जेसीबी खदान से मंगाई
बस और ट्रक टकराने के बाद आपस में फंस गए थे। दोनों वाहनों के बीच फंसने से ही दो व्यक्तियों की मौत हुई है। दोनों वाहनों को अलग करने के लिए जेसीबी मंगाई गई। नायब तहसीलदार ने पास ही में संचालित एक खदान से मशीन बुलाकर दोनों वाहनों को अलग करते हुए मृतकों के शव बाहर निकलवाए। इसके बाद सभापुर थाना पुलिस दानों वाहनों को जब्त कर थाने ले गई।
मार्ग में नहीं संकेतक
स्थानीय लोगों का कहना है कि बिरसिंहपुर को जोडऩे वाले किसी भी मार्ग में संबंधित विभाग ने संकेतक नहीं लगाए हैं। जहां बस ट्रक की टक्कर हुई है वह ब्लैक स्पॉट माना जाता है। बावजूद इसके कोई इंतजाम इस स्थान पर नहीं किए जा सके। जैतवारा से सेमरिया मार्ग, बिरसिंहपुर सेमरिया मार्ग, बिरसिंहपुर पगार खुर्द मार्ग, बिरसिंहपुर पगार कलॉ मार्ग, बिरसिंहपुर से तिघरा और बिरसिंहपुर से कोटर मार्ग में कहीं संकेतक नहीं लगाए गए।
शव भेजे गए गृह ग्राम
नगर परिषद बिरसिंहपुर ने मृतकों के शव उनके गृह ग्राम भेजने के लिए वाहनों की व्यवस्था कराई। एक बात यह सामने आई कि पोस्टमार्टम के दौरान सीएमएचओ अवधिया ने एसडीएम को कहा है कि पोस्टमार्टम कक्ष के लिए जाने का मार्ग व्यवस्थित नहीं है। इसके लिए प्रयास होने चाहिए।

Dhirendra Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned