बगावती नेताओं ने बिगाड़ा गणित डेमेज कंट्रोल में भाजपा-कांग्रेस

बगावती नेताओं ने बिगाड़ा गणित डेमेज कंट्रोल में भाजपा-कांग्रेस

Manoj Vishwkarma | Publish: Nov, 11 2018 03:01:03 AM (IST) Sehore, Sehore, Madhya Pradesh, India

सीहोर, आष्टा और इछावर में भाजपा-कांग्रेस की फजीहत, दिग्गज नेताओं ने की बगावत

सीहोर. सीहोर जिले की चार विधानसभा सीट में से तीन पर भाजपा और कांग्रेस की फजीहत हो रही है। बगावती नेताओं ने दोनों ही पार्टियों का गणित बिगाड़ दिया है। राजनीतिक दलों के वरिष्ठ नेता बगावती नेताओं को मनाने का प्रयास भी कर रहे हैं, लेकिन मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही हैं। अभी सबसे ज्यादा दिक्कतें भाजपा की राह में दिख रही हैं, भाजपा से सीहोर, आष्टा और इछावर विधानसभा में कई दिग्गज भाजपाइयों ने पार्टी से बगावत की है।

 

भाजपा के साथ सबसे बड़ी बगावत बुदनी विधानसभा में हुई है। शनिवार को भाजपा के वरिष्ठ नेता सीहोर जिला पंचायत के पूर्व अध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह चौहान ने भोपाल में कांग्रेस का दामन थाम लिया। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह चौहान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के रिश्तेदार भी बताए जाते हैं। चौहान का बुदनी विधानसभा में काफी दखल है।

सीहोर विधानसभा: सीहोर विधानसभा में भाजपा के साथ बगावत कर पूर्व विधायक रमेश सक्सेना, भाजपा के वरिष्ठ नेता गौरव सन्नी महाजन मैदान में उतरे हैं। रमेश सक्सेना ने पत्नी ऊषा सक्सेना को निर्दलीय मैदान में उतारा है, वहीं गौरव सन्नी महाजन खुद मोर्चा संभाले हुए हैं। भाजपा उम्मीदवार सुरेश राय की तरह दोनों ही बगावती नेतों तैयारी में लगे हैं। यहां कांग्रेस की राह भी आसान नहीं दिख रही है।टिकट नहीं मिलने से नाराज नेताओं से भितरघात का पूरा डर बना हुआ है।

आष्टा विधानसभा: आष्टा विधानसभा में भाजपा से बगावत कर जिला पंचायत अध्यक्ष उर्मिला मरेठा ने नामांकन दाखिल किया है, वहीं कांग्रेस नेता पार्टी छोड़ रहे हैं। बीते रोज जिला महामंत्री एचआर परमाल भाजपा में चले गए। वरिष्ठ कांग्रेस नेता घनश्याम जागड़ा भी कांग्रेस उम्मीदवार गोपाल सिंह का विरोध कर रहे थे, हालांकि पार्टी ने इन्हें मना लिया, लेकिन भाजपा उम्मीदवार रघुनाथ मालवीय के लिए जिला पंचायत अध्यक्ष उर्मिला मरेठा अभी भी मुसीबत बनी हुई हैं।

इछावर विधानसभा: बगावती नेता भाजपा-कांग्रेस के लिए चुनौती दे रहे हैं। भाजपा उम्मीदवार करण सिंह वर्मा के खिलाफ अजय पटेल ताल ठोक रहे हैं, वहीं कांग्रेस उम्मीदवार शैलेन्द्र पटेल के लिए जिला पंचायत सदस्य तुलसीराम पटेल मुसीबत पैदा कर रहे हैं। पटेल ने तो निर्दलीय के रूप में नामांकन दाखिल कर कांग्रेस को खुली चुनौती दी है।

ये बोले पदाधिकारी

भाजपा विचार धारा के लोग अभी भी भाजपा के साथ हैं। पार्टी का प्रयास है जो लोग टिकट नहीं मिलने के कारण नाराज होकर इधर-उधर जा रहे हैं, उन्हें भी एकजुट कर लिया जाए। हम बगावती नेताओं को मनाने का प्रयास कर रहे हैं।

सीताराम यादव, जिला अध्यक्ष भाजपा

टिकट नहीं मिलने को लेकर नाराज कुछ नेताओं को मना लिया है। आष्टा में घनश्याम जागड़ा पार्टी के उम्मीदवार का विरोध कर रहे थे, उन्हें मना लिया है। परमाल को मैंने खुद समझाया, लेकिन वह नहीं माने। हमारा प्रयास है सभी पार्टी के लिए काम करें।

रतनसिंह ठाकुर, जिला अध्यक्ष कांग्रेस

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned