दो माह बाद हुआ समस्या का समाधान

मिट्टी निकालने के लिए जमीन आवंटित की थी।

By:

Published: 29 Mar 2019, 12:19 PM IST

सिवनी. नगर में वैनगंगा नदी तट के किनारे वर्षो से बसे कुम्हार समाज के लोग जिनके नाम से ही कुम्हारी वार्ड का नामकरण हुआ। जिनका मुख्य व्यसाय हैं मिट्टी से बने बरतन और मिट्टी से ही बनी हुई ईंट बनाकर अपना जीवन यापन करते हैं। इसी को देखते हुए सिंचाई विभाग ने कुम्हारों को ईट बनाने के लिए वैनगंगा नदी किनारे से मिट्टी निकालने के लिए जमीन आवंटित की थी। जिस पर क्षेत्र के कुछ दबंगों ने रोक लगा दी थी। इससे कुम्हारों और दबंगों के बीच विगत एक डेढ़ माह से विवाद की स्थिति बनी हुई थी। मामले की शिकायत कुम्हारो ने जनसुनवाई में कलेक्टर एवं लखनादौन अनुविभागीय अधिकारी से की थी। इसके बाद कलेक्टर प्रवीण सिंह के निर्देश पर लखनादौन एसडीएम अंकुर मेश्राम, छपारा राजस्व अमले के साथ पहुंचे और समस्या हल करने का आश्वासन दिया था। इस अवसर पर कुम्हार संघ के जिला अध्यक्ष और स्थानीय कुंभकार समाज के सभी लोग उपस्थित थे। कुम्हार समाज की महिलाओं ने राजस्व अमले को अपनी पीड़ा बताई थी। एसडीएम मेश्राम ने सिंचाई विभाग के एसडीओ को दस्तावेजों की जांच कर अवैध कब्जा धारियों को हटाने के निर्देश मौके पर दिए थे। साथ ही कुम्हारों की समस्या का जल्द निराकरण करने का आश्वासन दिया था।
छपारा थाना प्रभारी राजन उईके तथा सिचाई विभाग, नगर राजस्व अमला आवंटित जमीन पर बुधवार को मौके पर पहुंचकर जिन किसानों ने फसल लगाई थी उनको समझाइश दी गई और जो किसान विवाद कर रहे थे उन्हें भी समझाइश दी गई। किसानों ने बात मान ली और समस्या का निराकरण हो गया। कुम्हारों को आने जाने का रास्ता भी दिया गया और एक निश्चित जगह पर सीमा बनाकर जगह को चिन्हित किया गया। इस प्रकार विगत 2 माह से चली आ रही समस्या का वैकल्पिक निराकरण किया गया।
यह रहे उपस्थित -
कुम्हार समाज के जिला अध्यक्ष श्याम कुमार प्रजापति, छपारा नगर कुम्हार समाज से रमेश पाटर, संजय पाटर, मनोज पाटर, गेन्द्लाल पाटर, पप्पू पाटर, राजेश पाटर, सनी, मुकेश, बसंत, मोहन पॉटर इन सभी कुंभकार समाज के लोगों ने सिंचाई विभाग के अधिकारी नगर निरीक्षक छपारा और राजस्व विभाग के अधिकारी से लेकर कर्मचारियों सभी का दिया गया।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned