सीधी सड़क हादसे के बाद एक्शन मोड में प्रशासन : दस दिन में मिशन मोड पर किया जाएगा कार्य

समस्त व्यवसायिक भारी वाहन पूर्णत : प्रतिबंधित किए गए, यात्री बस और दो पहिया, चार पहिया वाहनों को वन वे ट्रैफिक सिस्टम के तहत होगी आवागवन की अनुमति, 22 फरवरी से लागू होगी नई व्यवस्था।

By: Faiz

Published: 18 Feb 2021, 11:03 PM IST

सीधी। सीधी जिले के रामपुर नैकिन थाना क्षेत्र के बाणसागर नहर में हुए भीषण सड़क हादसे में 51 लोगों की मौत के बाद अब सरकार और प्रशासन एक्शन मोड में आ गया है। 16 फरवरी को शहडोल-रीवा मार्ग पर छुहिया घाटी में जाम लगे होने से बस चालक द्वारा वैकल्पिक रास्ते से बस लेकर जाने पर सीधी जिले में बघवार के पास नहर में बस गिरने से 51 लोगों की अकाल मृत्यु हुई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह द्वारा छुहिया घाटी में लगने वाले जाम के समाधान के लिए पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों तथा मध्य प्रदेश रोड ट्रांसपोर्ट विभाग को सीधी प्रवास के दौरान समीक्षा बैठक में आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए थे।

 

पढ़ें ये खास खबर- सीधी बस हादसे से भी सबक नहीं : जारी है बसों में ओवर लोडिंग, हादसे के तीसरे दिन भी जिम्मेदार नहीं ले रहे सुध

 

दस दिनों के भीतर किया जाएगा सुधार कार्य

जिसके तारतम्य में छुहिया घाटी और उसके वैकल्पिक रास्ते रामपुर नैकिन, गड्डी होते हुए रीवा जाने और रामपुर नैकिन से बघवार, जिगना होते हुए रीवा जाने छुहिया घाटी के रास्ते का उमेश जोगा आईजी रीवा, अनिल सिंह कुशवाह पुलिस उप महानिरीक्षक रीवा, रविंद्र कुमार चौधरी कलेक्टर सीधी, इलैया राजा टी कलेक्टर रीवा, पंकज कुमावत एसपी सीधी, राकेश सिंह एसपी रीवा द्वारा भ्रमण किया गया। इसके बाद छुहिया घाटी के रास्ते का सुधार/मरम्मतीकरण करने एवं वैकल्पिक रास्तों का भी सुधार करने के लिए एक कार्य योजना बनाए जाने हेतु बघवार रेस्ट हाउस में संयुक्त बैठक की गई। जिसमें उक्त अधिकारियों के साथ एमपीआरडीसी के अधिकारी एवं ठेकेदार उपस्थित रहे।

 

वन ट्रैफिक सिस्टम के तहत लागू होगा आवागमन

छुहिया घाटी का तत्काल रिपेयरिंग कराने का निर्णय लिया गया। इस मरम्मत कार्य के लिये कम से कम 10 दिन (दिनांक 22 फरवरी से लेकर 3 मार्च तक) तक लगातार मिशन मोड पर सुधार कार्य किया जाएगा। इस दौरान छुहिया घाटी से गुजरने वाले समस्त व्यवसायिक भारी वाहन पूर्णत: प्रतिबंधित होंगे, मात्र 4 पहिया एवं 2 पहिया वाहन, यात्री बस ही सुधार कार्य के दौरान वन वे ट्रैफिक सिस्टम लागू कर आवागमन के लिए अनुमति दी जाएगी। प्रतिबंध के संबंध में कलेक्टर रीवा एवं सीधी द्वारा पृथक से धारा 144 सीआरपीसी के तहत आदेश जारी किया जाएगा।

 

पढ़ें ये खास खबर- भूमाफियाओं पर अबतक की सबसे बड़ी कार्रवाई, 3250 करोड़ की जमीन मुक्त कराई, 1500 हितग्राहियों को मिलेगा लाभ


भारी वाहनों के लिए वन-वे ट्रैफिक स्टार्ट

शुक्रवार 18 फरवरी को दोपहर बाद से सभी भारी वाहनों के वन वे ट्रैफिक स्टार्ट कर दिया गया है और बधवार की ओर से गोविंदगढ़ जाने वालों के लिए गोंविदगढ़ पहुंचने तक दूसरी तरफ से जाने वाले सभी भारी वाहन तब तक रोककर रखे जाएंगे, जब तक वाहन न निकल जाएं। इसी तरह गोविंदगढ़ से वाहन बघवार की ओर छोड़े जाएंगे। इस तरह जिला सीधी के बघवार पुलिस चौकी में सीधी जिले से उप पुलिस अधीक्षक नीरज नामदेव एवं गोंविदगढ़ से बघवार तरफ जाने वाले वाहनों के लिए जिला रीवा से उप-पुलिस अधीक्षक प्रतिभा शर्मा को ये जिम्मेदारी सौंपी गई है, जिनको पृथक से व्यवस्था बनाने के लिए संबंधित जिले के पुलिस अधीक्षक द्वारा यातायात एवं जिला बल के 15-15 जवान अतिरिक्त लगाए जाएंगे, जो स्टापर लगाकर वाहनों का कनवाय बनाना सुनिश्चित करेंगे। साथ ही, वायरलेस सिस्टम को भी लगाकर आपसी समन्वय हेतु संचार व्यवस्था को मजबूत किया जाएगा, ताकि किसी भी स्थिति में यातायात समस्या आने पर सूचनाओं का आदान-प्रदान किया जा सके।


इस तरह की जाएगी ट्रैफिक फ्लो की गणना

जिला सिंगरौली, शहडोल और सीधी तथा अन्य रास्तों से आने वाले उन समस्त वाहनों को 3 दिन तक लगातार उन्हीं तरफ से रीवा आने वाले ट्रैफिक के दबाव को कम करने के लिए एक टीम बनाई गई है, जो लगातार 24 घंटे तक ये देखेगी कि, कितने वाहन और किस प्रकार के वाहन प्रति घंटे आवागमन होता है, अर्थात ट्रैफिक के फ्लो की गणना भी की जाएगी, तदनुसार व्यवस्थाओं को और सुदृढ़ किया जाएगा।

 

पढ़ें ये खास खबर- पत्नी और ससुराल पक्ष की प्रताड़ना से परेशान था न्यायालयीन कर्मचारी! फांसी लगाकर की आत्महत्या


ओवर लोडिंग पर अभियान चलाकर कार्रवाई के निर्देश

पुलिस महानिरीक्षक रीवा के निर्देश पर दोनों जिलों में चलने वाली समस्त बसों की ओवरलोडिंग रोकने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिये गए हैं। साथ ही, बसों में बैठने की क्षमता ऐसे जगहों पर लिखने के लिए कहा गया है जो दृष्टव्य हो, बस में चढ़ते ही प्रवेश द्वार पर लिखने के निर्देश दिये गए हैं। क्षमता से अधिक सवारी होने पर कठोर कार्रवाई के निर्देश दिये गए। इस संबंध में लगातार अभियान चलाकर कार्रवाई के लिए भी निर्देशित किया गया है।

 

हादसों से नहीं ले रहे सबक - video

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned