माकपा नेता वृंदा करात ने अमित शाह व पीएम मोदी पर लगाए गंभीर आरोप

kamlesh sharma

Publish: Oct, 12 2017 08:53:36 (IST)

Sikar, Rajasthan, India
माकपा नेता वृंदा करात ने अमित शाह व पीएम मोदी पर लगाए गंभीर आरोप

माकपा नेता और जनवादी महिला समिति की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वृंदा करात ने कहा कि है कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह एनकाउंटर स्पेशलिस्ट रहे हैं।

सीकर। माकपा नेता और जनवादी महिला समिति की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वृंदा करात ने कहा कि है कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह एनकाउंटर स्पेशलिस्ट रहे हैं। अब वे मोदी के साथ मिलकर राजनीति का एनकाउंटर कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज राजनीति में सच्चाई, उसूलों और सिद्धांतों का एनकाउंटर किया जा रहा हैऔर अमित शाह इसमें एक्सपर्ट हैं।

मंगलवार को सीकर आई करात ने प्रेस वार्ता में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व अमित शाह पर जमकर आरोप लगाए। करात ने कहा कि भाजपा ने बेटी बचाओ का नारा दिया था लेकिन आजकल उनके सभी नेता बेटा बचाने में लग रहे हैं। इन्होंने भ्रष्टाचार मिटाने का दावा किया था लेकिन उनके खुद के राष्ट्रीय अध्यक्ष के द्वार पर ही भ्रष्टाचार खड़ा है। अमित शाह के बेटे का कारोबार 50 हजार से सीधे ही 80 हजार करोड़ तक कैसे पहुंच गया और अब केंद्र के सभी मंत्री उसको बचाने में लगे हैं। अमित शाह को तुरंत अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए और इसके बाद इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से डगमगा चुकी है। जीएसटी लोगों पर जबरदस्ती का बोझ डाला गया है।

केरल में झूठा प्रचार कर भ्रमित कर रहे हैं शाह
करात ने कहा कि अमित शाह केरल में झूठा प्रचार करके लोगों को भ्रमित कर रहे हैं। पिछले 15 साल में माकपा के 85 कार्यकर्ताओं को आरएसएस कार्यकर्ताओं ने मार डाला और इस अवधी में आरएसएस के 65 कार्यकर्ता मारे गए हैं। लाशों की गिनती कर राजनीति करना हमारा धर्म नहीं है। आरएसएस और भाजपा के कार्यकर्ता जगह जगह माकपा के कार्यालयों पर हमला कर रहे हैं। योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर में मरने वाले बच्चों की चिंता नहीं है लेकिन केरल की चिंता सता रही है।

किसानों के साथ हुआ समझौता लागु नहीं किया फिर होगा आंदोलन
करात ने कहा कि सीकर का किसान आंदोलन देशभर के किसानो के लिए प्रेरणास्त्रोत बन गया है। पूरे देश में हम इसका जिक्र करते हैं। सरकार जल्द से जल्द वे फैसले लागू करे जिसको लेकर किसानों के साथ समझौता हुआ है। जो लोग आंदोलन में किसानों के साथ नहीं थे वे ही अब इसको लेकर किसानो को बहका रहे हैं। सीकर के गल्र्स कॉलेज में खाली पदों को लेकर भी उन्होंने चिंता जाहिर की और कहा कि महिला मुख्यमंत्री के राज में ही महिलाओं के लिए कुछ नहीं हो रहा है। राजस्थान में आए दिन हो रही दुष्कर्म की वारदातें चिंता विषय हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned