scriptNikita got 98.50 percent marks in 10th board | Success Story. कोरोना से हार मानने के बजाय पढ़ाई में जुटी रही बेटी, 98.50 फीसदी के साथ रचा इतिहास | Patrika News

Success Story. कोरोना से हार मानने के बजाय पढ़ाई में जुटी रही बेटी, 98.50 फीसदी के साथ रचा इतिहास

सीकर. कोरोना में सब कुछ अनलॉक हो गया तो भी हमारे होनहारों का संघर्ष जारी रहा। इसी के दम पर हमारे होनहारों की प्रतिभा अब निखरकर सामने आई है।

सीकर

Updated: June 14, 2022 02:31:55 pm

सीकर. कोरोना में सब कुछ अनलॉक हो गया तो भी हमारे होनहारों का संघर्ष जारी रहा। इसी के दम पर हमारे होनहारों की प्रतिभा अब निखरकर सामने आई है। नवजीवन साइंस स्कूल की होनहार निकिता मीणा ने कक्षा दसवीं के परिणाम में 98.50 फीसदी अंक हासिल कर शेखावाटी का मान बढ़ाया है। खास बात यह है कि परिवार की सबसे छोटी बेटी ने बड़ी बहनों को भी दसवीं के परिणाम में पीछे छोड़ दिया है। होनहार निकिता का कहना है कि यदि योजना बनाकर मेहनत की जाए तो कोई भी लक्ष्य कठिन नहीं है। होनहार ने गणित विषय में 100 में से 100 अंक हासिल किए है। जबकि संस्कत में 99 अंक प्राप्त किए है। उन्होंने सफलता का श्रेय पिता महावीर मीणा व मां सावित्री देवी व संस्था के मानद निदेशक शंकर बगडिया को दिया है।

प्रेरणा: स्कूल के माहौल से मिली सीख
पत्रिका से खास बातचीत में निकिता ने बताया कि सफलता में सबसे अहम रोल स्कूल के माहौल का रहा है। उन्होंने बताया कि संस्थान में ज्यादातर मोटिवेशनल सेमीनार में आईएएस व आईपीएस अफसर आते है। इनके भाषण सुनकर आगे बढऩे की सीख मिली। उन्होंने बताया कि सफलता के लिए परिजनों के साथ स्कूल निदेशक शंकर बगडिया व अनिता चौधरी ने हमेशा प्रोत्साहित किया।

संघर्ष: 6 घंटे की ली नींद, पूरे साल रातभर पढ़ाई

Success Story. कोरोना से हार मानने के बजाय पढ़ाई में जुटी रही बेटी, 98.50 फीसदी के साथ रचा इतिहास
Success Story. कोरोना से हार मानने के बजाय पढ़ाई में जुटी रही बेटी, 98.50 फीसदी के साथ रचा इतिहास

दसवीं टॉप करने की राह में कई चुनौतियां आई। लेकिन बेटी ने हार मानने के बजाय संघर्ष के रास्ते को चुना। होनहार निकिता ने बताया कि सुबह पांच बजे से उसकी दिनचर्या शुरू हो जाती थी। इसके अलावा रात 12 बजे तक अपनी बहनों के साथ बैठकर पढ़ाई करती।

आगे लक्ष्य: कलक्टर बनना चाहती है बेटी
होनहार निकिता का कहना है कि वह भविष्य बीएससी के साथ सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करेगी। बेटी का सपना सिविल सेवा में भी टॉप रैंक हासिल कर कलक्टर बनना है।

संदेश: कोई भी लक्ष्य कठिन नहीं
जीवन में बड़े लक्ष्य को देखकर कभी हार नहीं मााननी चाहिए। उन्होंने बताया कि स्कूल में जो पढ़ाया जाता है उससे पहले वह उस टॉपिक को पूरा तैयार करती। इसके अलावा खुद के नोट्स बनाकर तैयारी की। निकिता ने बताया कि स्कूल से डाउट को दूर करने में काफी सहयोग मिला।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

कलकत्ता हाईकोर्ट की कड़ी टिप्पणी, कहा - 'पश्चिम बंगाल में बिना पैसे दिए नहीं मिलती सरकारी नौकरी'Jammu-Kashmir News: शोपियां में फिर आतंकी हमला, CRPF के बंकर पर ग्रेनेड अटैकओडिशा के 10 जिलों में बाढ़ जैसे हालात, ODRAF और NDRF की टीमों को किया गया तैनातकैबिनेट विस्तार के बाद पहली बार नीतीश कैबिनेट की बैठक, इन एजेंडों पर लगी मुहरशिमला में सेवाओं की पहली 'गारंटी' देने पहुंचेगी AAP, भगवंत मान और मनीष सिसोदिया कल हिमाचल प्रदेश के दौरे परममता बनर्जी के ट्विटर प्रोफाइल में गायब जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर, बरसी कांग्रेसमुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारकेंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह के मानहानि के बयान पर मंत्री जोशी का पलटवार, कहा-दम है तो करें मानहानि
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.