PNB घोटाले में बड़ी खबर, राजस्थान के तीन SHO के खिलाफ जारी हुआ ये आदेश

PNB fraud case of Dantaramgarh Sikar Rajasthan : दांतारामगढ़ स्थित पंजाब नेशनल बैंक की शाखा में वर्ष 2014 में ऋण घोटाला हुआ था।

By: vishwanath saini

Published: 16 May 2018, 07:46 PM IST

दांतारामगढ़. देश में 11 हजार के पीएनबी घोटाले का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ कि राजस्थान में पीएनबी घोटाले से जुड़ी खबर आई है। भारत के सबसे बड़ी बैंकिंग घोटाले को हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने अंजाम दिया है, वहीं राजस्थान का ये मामला सीकर जिले के दांतारामगढ़ इलाके से जुड़ा हुआ है।

 

READ : मकान मालकिन पर गंदी नजर रखने वाले किराएदार ने मौका मिलते ही नशे का इंजेक्शन लगाकर कर डाला रेप

 

 

मामले के अनुसार दांतारामगढ़ स्थित पंजाब नेशनल बैंक की शाखा में वर्ष 2014 में ऋण घोटाला हुआ था। करीब दो दर्जन किसानों को फर्जी दस्तावेजों से ऋण दिए जाने का मामला सामने आया था। तब जिम्मेदारों के खिलाफ पुलिस थाने में रिपोर्ट भी दर्ज करवाई गई थी।

 

OMG : मौत के कई साल बाद अचानक जिंदा हो गए ये दो शख्स, पूरे गांव में मच गया तहलका!

 

मामला न्यायालय तक में पहुंच गया था, मगर इस मामले में दांतारामगढ़ पुलिस थाने के थानाधिकारियों ने गंभीरता नहीं दिखाई। तीन थानाधिकारी तो ऐसे निकले, जिन्होंने राजस्थान के इस करोड़ों के पीएनबी घोटाले के संबंध में समय पर न्यायालय तक में उपस्थित नहीं हुए। ऐसे में अब दांतारामगढ़ न्यायलय ने दांतारामगढ़ के तत्कालीन तीन थानाप्रभारियों के खिलाफ गिरफ्तार वांरट जारी हुए हैं।

 

 

Isha Ambani का राजस्थान में यहां है ससुराल, मिला 5 करोड़ का तोहफा

 

 

पीएनबी ऋण घोटाले में लम्बे समय से न्यायालय में उपस्थित नहीं होने पर दांतारामगढ़ के अतिरिक्तमुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने दांतारामगढ़ थाने के तत्कालीन थानाप्रभारी पुलिस निरीक्षक धर्मवीर जानू, उपनिरीक्षक सोहनलाल व सुरेन्द्र सैेनी को गिरफ्तार कर न्यायालय मे पेश करने के आदेश दिए हैं।

 

READ : पुलिस थाने के पास लड़की के साथ जो हुआ, वो है बेहद शर्मनाक

 

इस मामले में तीनों थानाधिकारियों को गवाही के लिए न्यायालय में आना था, लेकिन वे लोग नहीं आए। बार-बार बुलाने पर भी न्यायालय में उपस्थित नहीं होने पर न्यायाधीश ने गिरफ्तारी वारंट जारी कर 24 मई को तीनों पुलिस अधिकारियों को न्यायालय में तलब किया है।

 

 

दांतारामगढ़ पुलिस थाने के तत्कालीन तीन थानाप्रभारी पुलिस निरीक्षक धर्मवीरजानू, उपनिरीक्षक सोहनलाल व सुरेन्द्र सैनी गवाह के तौर पर काफी समय से न्यायालय में उपस्थित नहीं हो रहे थे। अभियोजन अधिकारी हीरलाल कुमावत ने बताया कि विगत तीन माह से वे व्यक्तिगत तौर पर भी उनको सूचित कर चुके तथा पुलिस अधीक्षक को भी बार बार निवेदन कर चुके है उसके बावजूद वे उपस्थित नहीं हो रहे।

 

Show More
vishwanath saini Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned