एक जुलाई से बंद हो सकता है सर्व शिक्षा अभियान, राज्यस्तर पर कमेटी गठित

एक जुलाई से बंद हो सकता है सर्व शिक्षा अभियान, राज्यस्तर पर कमेटी गठित

Vinod Singh Chouhan | Publish: Apr, 17 2018 01:39:18 PM (IST) Sikar, Rajasthan, India

केंद्र सरकार की ओर से चलाया जा रहा सर्व शिक्षा अभियान (एसएसए) जल्द बंद किया जा सकता है।

सीकर.

केंद्र सरकार की ओर से चलाया जा रहा सर्व शिक्षा अभियान (एसएसए) जल्द बंद किया जा सकता है। इसको राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान (रमसा) में विलय किया जा सकता है। इसे एक जुलाई से बंद/विलय करने की तैयारी की जा रही है।
सूत्रों के अनुसार एसएसए व रमसा के विलय के बाद रमसा ही सक्रिय रहेगा। प्राथमिक शिक्षा विभाग के विद्यालयों में आधारभूत सुविधा बढ़ाने, शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने व प्रशिक्षण आदि कार्य एसएसए के माध्यम से करवाए जाते हैं, जबकि माध्यमिक शिक्षा के अधीन विद्यालयों में आधारभूत सुविधा बढ़ाने, शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने व प्रशिक्षण आदि कार्य रमसा के अधीन किए जाते हैं। वहीं रमसा व एसएस के विलय के बाद प्रदेश में माध्यमिक व प्रारम्भिक शिक्षा के एकीकरण की तैयारी शुरू हो गई है। एकीकरण के लिए विभागीय स्तर पर एक कमेटी भी गठित की जा चुकी है। विभाग के विशिष्ट शासन सचिव की अध्यक्षता में गठित कमेटी में दोनों विभागों के निदेशक, एसएसए व रमसा के आयुक्त व परियोजना निदेशक भी शामिल हैं।


जल्द ही कमेटी की बैठक होगी। शिक्षा विभाग के सभी भागों के एकीकरण से विभागीय आधारभूत ढांचे में भी सुधार की संभावना है।ब्लॉक स्तर से लेकर निदेशालय तक एकीकरण वर्तमान में पहली से आठवीं कक्षा तक प्रारम्भिक शिक्षा विभाग व नौवीं से दसवीं कक्षा तक के स्कूल माध्यमिक शिक्षा विभाग में आते हैं। ब्लॉक, जिला व निदेशालय स्तर तक दोनों के अधिकारी व कर्मचारी अलग हैं। तीनों ही ही स्तर पर एकीकरण होगा। डाइट व शिक्षा विभाग के अन्य भागों का भी एक ही सिस्टम में विलय किया जाएगा। अभी तक प्रारम्भिक व माध्यमिक विभाग के अधीन आने वाले अलग-अलग प्रकार के स्कूलों का एकीकरण हो चुका है।

 

Read More :

अब सरकारी विद्यालयों में दूर से आने वाले बच्चों का किराया देगी सरकार, विद्यार्थी ऐसे ले सकते है लाभ

मेरी लाश को मिले तिरंगा मरकर भी जी जाऊंगा...

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned