scriptCase of vandalism exposed in Sirohi Gandhi Park, | गांधी पार्क में तोडफ़ोड़ के मामले का पर्दाफाश, पांच किशोर निरुद्ध, कोतवाली पुलिस टीम ने 24 घंटें में किया खुलासा | Patrika News

गांधी पार्क में तोडफ़ोड़ के मामले का पर्दाफाश, पांच किशोर निरुद्ध, कोतवाली पुलिस टीम ने 24 घंटें में किया खुलासा

locationसिरोहीPublished: Nov 29, 2023 06:49:11 pm

सिरोही गांधी पार्क में पांचों किशोर झूला झूलने गए और शरारत सूझी तो कर दी तोडफ़ोड़ ...

रविवार रात की घटना, कोतवाली पुलिस टीम ने 24 घंटें में किया खुलासा

गांधी पार्क में तोडफ़ोड़ के मामले का पर्दाफाश, पांच किशोर निरुद्ध, कोतवाली पुलिस टीम ने 24 घंटें में किया खुलासा
sirohi patrika
सिरोही. जिला मुख्यालय स्थित गांधी पार्क में की गई तोडफ़ोड़ के मामले का कोतवाली पुलिस ने 24 घंटे में पर्दाफाश कर पांच किशारों को निरुद्ध किया है। पांचों नाबालिग गोयली रोड स्थित एक हॉस्टल में रहकर पढ़ाई कर रहे हैं। वे पार्क में झूला झूलने गए और शरारत सूझने पर तोडफ़ोड़ की घटना को अंजाम दे डाला। उल्लेखनीय है कि रविवार रात को सिरोही स्थित गांधी पार्क में तोडफ़ोड़ की घटना को अंजाम दिया गया था। इस मामले में नगर परिषद आयुक्त योगेश आचार्य ने अज्ञात लोगों के खिलाफ महात्मा गांधी की प्रतिमा के साथ छेड़छाड़ कर सार्वजनिक सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने का कोतवाली थाने में मामला दर्ज कराया था। पुलिस ने मामला दर्ज कर थानाधिकारी हंसाराम के नेतत्व में चार टीमों का गठन कर अज्ञात बदमाशों की तलाश शुरू की। पुलिस टीम की ओर से अभय कमाण्ड व शहर में विभिन्न निजी प्रतिष्ठानों के सामने लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। काफी लोगों से पूछताछ की गई। तकनीकी सहायता से टीमों द्वारा कड़ी मेहनत करते हुए गोयली गांव में स्थित एक निजी हॉस्टल में अध्ययनरत पांच नाबालिग किशोरों को संरक्षण में लेकर पूछताछ की गई।
पहले कार का शीशा फोड़ा, फिर पार्क में की तोडफ़ोड़
पुलिस के मुताबिक विधि से संर्घषरत किशारों ने घटना की रात्रि पहले रावल ब्राह्मण समाज छात्रावास के आगे खड़ी कार के पत्थर मारकर शीशा तोड़ा, फिर गोयली चौराहा आकर एक होटल से एक सिगरेट का पैकेट खरीदा। फिर गाधी पार्क में झूला झूलने के लिए गए। वहां पर सिगरेट पी और झूला झूलने के बाद शरारत सूझने पर गांधीजी की मूर्ति के चारों तरफ लगे लाइट के पिलर उखाडे व बैंचे व गमले गिरा दिए। गांधीजी की अनावरण शिलालेख को ढकने के लिए लगे प्लास्टिक के कवर को हटाकर गांधीजी की प्रतिमा पर रखा व अनावरण पट्टिका पर गीली मिट्टी लगा दी। फिर रामपुरा रोड पर सार्वजनिक निर्माण विभाग के साइन बोर्ड को भी उखाडऩे की कोशिश की और पुन: गांधी पार्क में जाकर टॉय ट्रेन को चलाने की कोशिश की, नहीं चलने पर इलेक्ट्रिक स्वीच बोर्ड को तोड़ दिया और दीवार फांद कर सर्किट हाउस के पीछे से होकर पैदल-पैदल पुन: गोयली रोड स्थित अपने हॉस्टल में जाकर सो गए। पुलिस ने पांचों किशोरों को प्रिङ्क्षसपल मजिस्ट्रेट सिरोही के समक्ष पेश किया, जहां से न्यायालय के आदेशानुसार किशोर सुधार गृह भेजा गया।
खुलासा करने में इस टीम का रहा योगदान

पुलिस टीम में थानाधिकारी हंसाराम, सहायक उप निरीक्षक नरपतङ्क्षसह, हैड कांस्टेबल सचेन्द्र रत्नु, वागाराम, कांस्टेबल महावीर ङ्क्षसह, सुरेन्द्र कुमार, नेहपाल ङ्क्षसह, दिलीपङ्क्षसह, गणपतलाल, सुबेङ्क्षसह, प्रकाश कुमार शामिल थे।

ट्रेंडिंग वीडियो