यूपी पुलिस का कारनामा, चेकिंग के लिये नहीं रुका तो मार दी गोली

यूपी पुलिस का कारनामा, चेकिंग के लिये नहीं रुका तो मार दी गोली
पुलिस ने मारी गोली

Mohd Rafatuddin Faridi | Updated: 15 Jul 2019, 05:07:00 PM (IST) Sonbhadra, Sonbhadra, Uttar Pradesh, India

  • सोनभद्र के कर्मा थानाक्षेत्र के कुचमरवा गांव के नजदीक हुई घटना।
  • एसपी सोनभद्र ने कहा है कि जांच की जा रही है, दोषी पुलिस वालों को बख्शा नहीं जाएगा।

सोनभद्र . राजधानी लखनऊ में एप्पल मैनेजर की गोली मारकर हत्या जैसी पुलिसिया कारिस्तानी यूपी के सोनभद्र में भी सामने आयी है। यहां चेकिंग के लिये न रुकने पर पुलिस ने एक बाइक सवार को गोली मार दी। उसे दो गोलियां मारी गयीं। गंभीर हालत में युवक का इलाज वाराणसी के ट्रॉमा सेंटर में चल रहा है। घटना हो जाने के बाद पुलिस ने भरसक प्रयास किया कि इसे सड़क हादसे का रूप दे दिया जाय, पर वह इसमें सफल नहीं हो सके, तो उसका आपराधिक रिकॉर्ड भी खंगाला, लेकिन वहां भी कोई कामयाबी नहीं मिल पायी। पुलिस अधीक्षक सलमान ताज पाटिल ने कहा है की प्रकरण की जांच करायी जा रही है। उन्होंने कहा है कि अगर इस मामले में सिपाही की गलती सामने आयी तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ें

5 लाख के मुफ्त इलाज का टूटा भरम, आयुष्मान कार्डधारक से सरकारी अस्प्ताल में वसूले 11 हजार 500 रुपये

बताया गया है कि मड़िहान थाने के ददरा गांव निवासी 26 साल का रविन्द्र कोल गांव में ही बने जौनपुरी ढाबे पर वेटर है। हाल ही मे उसने एक बाइक भी खरीदी है, जिसके लिये अपने हिस्से की जमीन बेचनी पड़ी। वेटर के काम में बहुत अच्छी इनकम न होने से वह मुंबई जाकर कुछ और काम करने जाने वाला था। नए काम में उसे तरक्की मिले तो इसके लिये ढाबे से खाली होकर किसी से ताबीज लेने के लिये सुकृत जा रहा था। इधर सोनभद्र में पुलिस की चेकिंग चल रही थी। सोनभद्र जिले की सीमा में कर्मा थानाक्षेत्र के कुचमरवा गांव के नजदीक गाड़ी का कागज और लाइसेंस वगैरह न होने के चलते वह पुलिस चेकिंग पर नहीं रुका तो पुलिस ने पीछाकर उसे दो गोली मार दी। वह बाइक समेत सड़क पर गिरकर तड़पने लगा। तत्काल उसे प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया गया। जब घायल रविन्द्र कोल के परिवार के लोग अस्पताल पहुंचे और रविन्द्र ने उन्हें पूरी बात बतायी तो पुलिस वहां से भाग खड़ी हुई।

इसे भी पढ़ें

पिता को बचाने कुएं में उतरे बेटे की मौत, जहरीली गैस से पिता की हालत गंभीर

उधर पुलिस वाले अब भी अपने बचने की जुगत में लगे हुए थे। खुद को बचाने के लिय वो रविन्द्र को अपराधी घोषित करने की संभावना तलाशने लगे। उसका आपराधिक इतिहास खंगाला, लेकिन कहीं शांति भंग जैसी मामूली धारा में भी उसके खिलाफ कोई शिकायत नहीं मिली। सोनभद्र के एसपी ताज पाटिल ने भी माना कि उसका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है और न ही कभी उसे शांति भंग तक में चालान किया गया है। उन्होंने कहा है कि इस मामले की निष्पक्ष जांच होगी और दोषी पाए जाने पर किसी को बख्शा नहीं जाएगा।

By Santosh

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned