माइक्रोबायोलोजी लैब के भवन में करने होंगे कुछ बदलाव

शहर के राजकीय जिला चिकित्सालय में बनने वाली माइक्रोबायोलोजी लैब के लिए इन दिनों कवायद तेजी पर है। जिला मुख्यालय से दो दिन पूर्व माइक्रोबायोलोजिस्ट डॉ.सतीश लेघा को बीकानेर की लैब देखने के लिए भेजा गया था। उनके साथ एनएचएम के अधिशासी अभियंता भी थे।

By: jainarayan purohit

Published: 24 May 2020, 10:15 AM IST

-लैब के लिए तैयारियां इन दिनों जोरों पर
-राजकीय जिला चिकित्सालय के माइक्रोबायोलोजिस्ट ने देखी है बीकानेर की लैब
श्रीगंगानगर. शहर के राजकीय जिला चिकित्सालय में बनने वाली माइक्रोबायोलोजी लैब के लिए इन दिनों कवायद तेजी पर है। जिला मुख्यालय से दो दिन पूर्व माइक्रोबायोलोजिस्ट डॉ.सतीश लेघा को बीकानेर की लैब देखने के लिए भेजा गया था। उनके साथ एनएचएम के अधिशासी अभियंता भी थे।

चिकित्सालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार लैब का जो भवन तैयार किया जाएगा, उसमें कुछ बड़े बदलाव जरूरी है। इस भवन में वायरस से संबंधित जांच की जानी है। ऐसे में किसी भी तरीके से वायरस लीक नहीं होने का विशेष ध्यान रखना होगा। ऐसे में इस भवन का निर्माण करते समय यह ध्यान रखना होगा कि इसकी छत एक विशेष किस्म से तैयार की जाए। इसके अलावा पार्टिशन भी कुछ इस तरह से लगाए जाएं कि ये वायरस जांच के दौरान पूरी तरह से सुरक्षित हो। निर्माण में कुछ बदलाव की जरूरत है। इस क्रम में शनिवार को डॉ.लेघा ने यहां की व्यवस्थाएं देखी। इसके अलावा उपकरणों की खरीद को लेकर भी कवायद चल रही है। इन उपकरणों की खरीद मेंटर मेडिकल कॉलेज के माध्यम से होने की संभावना जताई जा रही है। लैब से संबंधित तमाम व्यवस्थाएं पूरी कर इसे शीघ्र शुरू करने के निर्देशों के बाद विभागीय अधिकारी इसके लिए पूरी तरह जुट गए हैं। इसके अलावा लैब के लिए मानव संसाधन जुटाने के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं।

jainarayan purohit
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned