scriptWell was dug for India's fist president in Pandonagar, this is special | देश के प्रथम राष्ट्रपति के लिए पंडोनगर में ढाई दिन में खोदा गया था कुआं, ये है कुएं की खासियत | Patrika News

देश के प्रथम राष्ट्रपति के लिए पंडोनगर में ढाई दिन में खोदा गया था कुआं, ये है कुएं की खासियत

President News: वर्ष 1952 में अविभाजित मध्यप्रदेश में आए थे देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद (The first President of India), राष्ट्रपति के आगमन व रुकने के लिए तैयार किया गया था कुआं, जिस भवन में रुके थे उसे दी गई है राष्ट्रपति भवन की उपाधि, देश का दूसरा राष्ट्रपति भवन (President Bhavan) है पंडोनगर में

सुरजपुर

Published: May 25, 2022 01:03:32 pm

जयनगर. President News: देश के प्रथम राष्ट्रपति के लिए ढाई दिन में तैयार किया गया कुआं आज भी एक धरोहर के रूप में है। इसे देखने आज भी लोग दूर-दूर से आते हैं। गौरतलब है कि वर्ष 1952 में देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद सूरजपुर ब्लॉक अंतर्गत ग्राम पंचायत पंडोनगर (Pandonagar) में आए थे। राष्ट्रपति के आगमन व रुकने के साथ ही पीने के लिए यहां पर ढाई दिन में कुआं खोदकर तैयार किया गया था। ढाई दिन में तैयार किया गया कुआं आज भी गांव के लोगों की प्यास बुझा रहा है। कुएं की खासियत (Speciality of well) यह है कि यहां पर पानी कभी नहीं सूखता है। गर्मी हो या ठंड कुएं के पानी के कारण गांव के लोगों को बड़ी राहत मिलती है।
India's first president
President bhavan and well

गौरतलब है कि प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ग्राम पंचायत पंडोनगर में रुके थे और विशेष पिछड़ी समुदाय के पंडो जनजाति को गोद लेकर दत्तक पुत्र की उपाधि दी थी। प्रथम राष्ट्रपति जिस भवन में रुके थे, उसे राष्ट्रपति भवन की उपाधि दी गई है। यह देश का दूसरा राष्ट्रपति भवन के रूप में जाना जाता है।
ढाई दिन में तैयार किए गए कुएं को देखने व उसकी वास्तविक स्थिति से अवगत होने अक्सर लोग बाहरी इलाके से भी यहां पहुंचते हैं। वहीं इतने सालों में विशेष पिछड़े पंडो जनजाति के लोगों के विकास हेतु काफी कदम उठाए गए लेकिन अधिकांश विकासशील योजनाएं केवल कागजों में ही संचालित होतीं नजर आ रहीं हंै।
गत दिनों करीब 70 वर्षों बाद यहां राज्यपाल अनसुईया उइके ने पहुंचकर कहा कि प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद के सपनों को पूरा करेंगे। राज्यपाल के पंडोनगर आगमन से लोगों में नई उम्मीद जगी है।
यह भी पढ़ें
महिला की हिम्मत तो देखिए, ऑफिस में घुसकर तहसीलदार की मरोड़ दी कलाई, दी गालियां


पट्टा के लिए भटक रहे
ग्रामीणों ने बताया कि राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र (President adopted son) पंडो जनजाति के निवासरत अधिकांश लोगों को आज तक पट्टा नहीं मिल सका है। ग्रामीणों का आरोप यह भी है कि पट्टे के लिए वर्षों से कार्यालयों के चक्कर काट रहे हैं लेकिन उनकी सुध लेने वाला कोई नहीं है। विभागीय अधिकारियों की उदासीनता की वजह से दत्तक पुत्रों में नाराजगी व्याप्त है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: आदित्य ठाकरे ने एकनाथ शिंदे पर बोला हमला, कहा-सदन में बागी आंख नहीं मिला पाए; जनता का कैसे करेंगे सामना?296 किमी लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का शुभारंभ करने जालौन आएंगे पीएम मोदी और सीएम योगीMaharashtra: औरंगाबाद और उस्मानाबाद को नया नाम देने का मुद्दा विधानसभा में उठा, अबू आजमी ने उद्धव ठाकरे पर साधा निशाना, तो शिवसेना MLA ने दिया जवाबपश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के कोलकाता स्थित आवास में घुसा शख्स, गिरफ्तारपांच दिन बाद जयपुर में इंटरनेट हुआ शुरू, सीकर में फिर बंद कियामैं अलकायदा से बोल रहा हूं... मथुरा में किसको आया जान से मारने की धमकी वाला कॉल?7th Pay Commission: इन कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, 40,000 रुपए तक खाते में आएंगे पैसेओवैसी के गढ़ हैदराबाद में BJP का हिंदुत्व कार्ड, कैसे योगी की एंट्री से बदलेंगे समीकरण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.