video: साधारण सभा की बैठक चढ़ी हंगामे की भेंट, पट्टा फाइल के नाम पर रुपए लेने का लगाया आरोप

बैठक मेंआए सभी मामलों की जांच के लिए स्वायत्त शासन विभाग को पत्र भेजने का प्रस्ताव लिया।

 

 

 

By: pawan sharma

Published: 20 Jul 2018, 08:13 AM IST

टोंक. नगर परिषद सभापति लक्ष्मीदेवी जैन की अध्यक्षता में गुरुवार को अग्निशमन केन्द्र स्थित सभागार में हुई साधारण सभा कनिष्ठ अभियंता की नियुक्ति पर हंगामें की भेंट चढ़ गई। सभापति लक्ष्मीदेवी जैन ने कनिष्ठ अभियंता की पात्रता समेत अन्य आरोपों की जांच कराकर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।

 

इसके बाद सदन में शांति हुई। इस दौरान पार्षदों ने अन्य मुद्दों पर बहस की। बैठक शुरू होते ही वाल्मीकि समाज भी सभागार के बाहर आ कर बैठ गया और सफाई कर्मचारी भर्ती में कई अनियमितताएं बरते का आरोप लगाकर प्रदर्शन किया।

 

इस पर बोर्ड ने सर्व सहमति से सफाई कर्मचारियों की और भर्ती करने तथा उनके मामले की जांच के लिए स्वायत्त शासन विभाग को पत्र भेजने का प्रस्ताव लिया। प्रतिपक्ष नेता गायत्री चौरासिया ने महापुरुषों की प्रतिमा तथा सर्कल की अनदेखी बरतने का आरोप लगाकर हंगामा किया।

 

गायत्री ने कहा कि नगर परिषद ने छावनी स्थित इंदिरा गांधी सर्कल के सौन्दर्यकरण की अनेदखी बरती है। इस पर सभापति ने कहा कि जल्द ही सौन्दर्यकरण कराया जाएगा। इस दौरान पार्षद मोहम्मद यासीन ने कहा कि नगर परिषद ने हाल ही में कनिष्ठ अभियंता रिंकू चौधरी को जो नियुक्ति दी है, उसमें पात्रता का ध्यान नहीं रखा गया।

 

संविदा पर होने के बावजूद बिना बोर्ड बैठक के अनुमोदन के उसे नियुक्ति दे दी गई। जबकि शहर समेत राजस्थान के डिग्ग्री धारियों को मौका नहीं दिया गया। ना ही किसी प्रकार की निविदा निकाली गई। इस पर जेईएन की पात्रता मंगवाई गई, जिसमें उसके पास महज डिप्लोमा मिला।

 

इस पर पार्षदों ने कहा कि परिषद में डिग्ग्रीधारी ही होने चाहिए। साथ ही आरोप लगाया कि उक्त अभियंता पट्टा फाइल बनाने के नाम पर लोगों से रुपए लेते हैं। इस पर मामले की जांच कराने का प्रस्ताव लिया गया।

 

इस दौरान सभापति ने कहा कि जब सभी पार्षदों की मंशा हैकि ऐसे कर्मचारी को नहीं रखना चाहिए, तो नियुक्ति निरस्त कर दी जाएगी। सभा में उपसभापति अजय सैनी ने भी एकल निविदा जारी करने पर नाराज हो गए। अजय ने कहा कि बिना निविदा ही टेण्डर जारी किए जा रहे हैं।

 

इसका बैठक में अनुमोदन तक नहीं कराया जा रहा है। इस पर आयुक्त सीमा चौधरी ने कहा कि अब ऐसा नहीं होगा। पार्षद भागचंद जैन, विकास लोदी, रोहित जैन, रामअवतार धाभाई, राजेश बड़ीवाल, लियाकत अली, मनोज काला, शैलेन्द्र जैन, राजेश शर्मा, रामलाल सेलीवान, चौथमल सैनी, नवेद आदि ने भी विभिन्न मुद्दे उठाए।

 


बाहर बैठ गई महिलाएं
साधारण सभा शुरू होते ही वाल्मीकि समाज की महिलाएं सभागार के बाहर आकर बैठ गई। उन्होंने समाज की अनदेखी बरतने तथा कई अनियतिताओं के आरोप लगाए। इससे पहले उन्होंने विधायक अजीत मेहता को भी ज्ञापन सौंपा। इसमें बताया कि कई परिवारों के दो से तीन जनों को नियुक्ति दे दी गई। जबकि कई परिवार में एक को भी भर्ती में शामिल नहीं किया गया। इस पर उन्होंने नाराजगी जताई।

 

Patrika
Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned