अधेड़ की हुई संदिग्ध मौत, पुलिस ने पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सोँपा

थाना क्षेत्र के कठमाणा गांव निवासी एक अधेड़ की जयपुर के मुहाना थाना क्षेत्र के एक मकान में संदिग्ध मौत का मामला सामने आया है। मृतक कठमाना निवासी लड्डूराम खटीक है।

By: pawan sharma

Published: 14 Jun 2021, 02:40 PM IST

पीपलू. थाना क्षेत्र के कठमाणा गांव निवासी एक अधेड़ की जयपुर के मुहाना थाना क्षेत्र के एक मकान में संदिग्ध मौत का मामला सामने आया है। मृतक कठमाना निवासी लड्डूराम खटीक है। मृतक परिवार के साथ मुहाना के खेतान नगर में रहता था, लेकिन गत 9 महीने से परिवार में चल रहे अनबन के चलते वह मानसरोवर में रहने लगा। उसके पुत्र ने अपने चाचा को पिता की मौत की सूचना दी।

ऐसे में परिवार के लोग मुहाना के लिए रवाना हो गए, लेकिन मृतक के पुत्र शव को लेकर कठमाणा आ गए। ऐसे में मृतक भाई व भतीजों को कुछ शक हो गया। ऐसे में सूचना के बाद पीपलू थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई। वहीं मुहाना पुलिस भी सूचना के बाद कठमाणा आ गई। जहां पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। चिकित्सकों से जांच कराने के बाद शव परिवार चोट के निशान मिले हैं। बाद में पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया।

मामले में पुलिस ने मृतक के छोटे भाई पांचूलाल की रिपोर्ट के बाद जांच शुरू कर दी है। मुहाना थाना (जयपुर दक्षिण) थानाधिकारी लखनसिंह ने मृतक के पुत्र नंदकिशोर तंवर से मौत को लेकर पूछताछ की है। इसमें सामने आया कि उसका पिता लड्डूलाल करीब 9 महीने से पत्रकार कॉलोनी मानसरोवर में अलग रह रहा था। शनिवार को अपनी मां व भाई के साथ घर पर लाने के लिए लेने पहुंचे। जहां आनाकानी करने पर उनके बीच हाथापाई भी हुई थी।

जैसे-तैसे पुत्र व पत्नी पिता लड्डूलाल को वाहन से खैतान नगर स्थित घर ले आए। जहां उसे एक कमरे में बंद कर बाहर से कुंदी लगा दी। बंद करने के बाद लड्डूलाल द्वारा चिल्लाने व गेट खोलने की कोशिश में गेट की कुंदी खुल गई और वह सीढिय़ों में आकर गिर गया।

जिसके अचेत होने पर उसे जयपुर के सांगानेर स्थित निजी हॉस्पिटल ले जाया गया। जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। इसके बाद मृतक लड्डूलाल को कठमाणा गांव अंतिम संस्कार के लिए लेकर आ गए तथा वहीं से संदेह की शुरुआत हो गई। मुहाना थाना (जयपुर दक्षिण) थानाधिकारी लखनसिंह ने बताया कि मकान पर पुलिसकर्मी तैनात किए हैं जो मकान की तलाशी लेंगे।


आरोपी महिला गिरफ्तार
दूनी. पुलिस ने मुख्य बाजार स्थित सर्राफा की दुकान से गत वर्ष हुई लाखों के जेवर चोरी करने की आरोपी महिला को रविवार को गिरफ्तार कर एक नाबालिग को निरूद्ध किया है। साथ ही आरोपी महिला से चोरी गए जेवर भी बरामद किए हैं। उक्त चोरी मामले में पहले तीन महिलाओं को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।

थानाप्रभारी नाहरसिंह मीणा ने बताया की आरोपी महिला भूरीदेवी बागरिया को गिरफ्तार कर एक नाबालिग बालिका को निरूद्ध किया गया है। आरोपी महिला की निशानदेही से 20 जोड़ी सोने के टॉप्स बरामद किए हैं। गौरतलब है कि चोरी दूनी निवासी संजय पुत्र प्रकाशचंद जैन की दुकान पर हुई थी।

2 मार्च 2020 की शाम चार-पांच महिला प्रतिष्ठान पर आई और बच्चो के हाथों में पहनने के चांदी के कड़े व अन्य जेवर दिखाने को कहा। इस दौरान साथ आई महिला ने मौका पाकर शोकेस में रखा 200 ग्राम सोने के टॉप्स से भरा डिब्बा चुराकर अपनी शॉल में छिपा लिया। इसके बाद आरोपी महिलाओं ने खरीदारी कर चली गई थी।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned