करोड़ों का भवन छोड़ किराए के भवन में सीएमएचओ ऑफिस

करोड़ों का भवन छोड़ किराए के भवन में सीएमएचओ ऑफिस
- बड़ी स्थित स्वास्थ्य भवन को नकारा

bhuvanesh pandya | Updated: 15 Jun 2019, 09:26:57 PM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

- बड़ी स्थित स्वास्थ्य भवन को नकारा
- शिक्षा विभाग से किराये पर लिया स्कूल भवन

भुवनेश पण्ड्या

उदयपुर . मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के लिए बड़ी में करोड़ों रुपए खर्च बनाया गया स्वास्थ्य भवन को अब विभाग ने ही नकार दिया है। विभाग अब भूपालपुरा स्थित एक सरकारी स्कूल को भवन पांच हजार रुपए मासिक किराए पर लेकर यह कार्यालय चलाएगा।

बड़ी में कुछ वर्ष पूर्व ही करोड़ों रुपए खर्च कर स्वास्थ्य भवन बनाया गया है जिसमें चार ऑफिसर्स कक्ष यथा सीएमएचओ, आरसीएचओ, डिप्टी सीएमचओ, कम्प्यूटर ऑपरेटर व लेखाधिकारी कक्ष हैं। दो हॉल में से एक में डीपीएमयू व एनआरएचएम के तहत लगे संविदा कार्मिक बैठते हैं तो दूसरे में मलेरिया नियंत्रण, एपेडिमोलॉजिस्ट, नॉन गजेटेड, संस्थापन शाखा संचालित है। अन्य आठ कक्षों में आरसीएचओ ऑफिस संचालित है जिसकी ऊपरी मंजिल पर एक सुसज्जित कॉन्फ्रेंस हॉल है, जिसमें करीब ८० कार्मिक एक साथ बैठ सकते हैं। यह हॉल में प्रोजेक्टर व एलइडी से लेस है।

-----

किराए पर दिया भवन

भवन में पहले प्राथमिक स्कूल चलता था जो सेकंडरी स्कूल में समायोजित हो गया है। एेसे में भूपालपुरा में शिक्षा विभाग का यह भवन खाली पड़ा था, इसलिए उसे पांच हजार रुपए मासिक किराए पर चिकित्सा विभाग को दिया है।
भरत जोशी, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक मुख्यालय

----

पुराने भवन में नेट से जुडे़ काम नहीं हो पाते थे। कई प्रकार की समस्याएं थी, इसलिए शहर में भवन लिया गया है ताकि कोई परेशानी नहीं हो। स्वास्थ्य भवन को रिजनल व डिस्ट्रिक्ट ट्रेनिंग सेंटर के रूप में काम में लिया जाएगा। जिला कलक्टर से इसकी स्वीकृति मिलने के बाद कार्यालय को स्कूल भवन में शिफ्ट किया गया है।
डॉ दिनेश खराड़ी, सीएमएचओ उदयपुर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned