कृपलानी ने जूस पिलाकर तुड़वाया विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष चपलोत का अनशन

कृपलानी ने जूस पिलाकर तुड़वाया विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष चपलोत का अनशन

santosh trivedi | Publish: May, 18 2018 11:42:07 AM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

केबिनेट मंत्री श्रीचंद कृपलानी ने जूस पिलाकर चपलोत का अनशन तुड़वाया और आंदोलन को स्थगित करवा दिया।

उदयपुर।

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के प्रतिनिधि नगरी विकास मंत्री श्रीचंद कृपलानी के साथ भेजी गई चिट्ठी और संघर्ष समिति के प्रतिनिधिमंडल के साथ हुई वार्ता के बाद मेवाड़ वागड़ हाईकोर्ट बेंच संघर्ष समिति के संयोजक व विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष शांतिलाल चपलोत और राशन विक्रेता संघ के अध्यक्ष रोशन लाल सामोता ने अपना आमरण अनशन तोड़ दिया। केबिनेट मंत्री श्रीचंद कृपलानी ने जूस पिलाकर चपलोत का अनशन तुड़वाया और आंदोलन को स्थगित करवा दिया।

 

आंदोलन सशर्त इस बात पर समाप्त किया गया कि 19 मई को प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में विधि मंत्री शासन सचिव और संबंधित अधिकारियों की होने वाली बैठक में उदयपुर में हाईकोर्ट बेंच की खंडपीठ को लेकर सकारात्मक फैसला करेगा और इसके परिणाम मेवाड़ को मिलेंगे। इसके अलावा उदयपुर आए शहरी नगरी विकास मंत्री श्रीचंद कृपलानी ने कहां की सरकार इस दिशा में सकारात्मक कदम उठा रही है और मेवाड़ की जायज मांगों को मानने के लिए अपना समूचा प्रयास करेगी।

 

इस बीच बार एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री राम कृपा शर्मा ने घोषणा की है कि मांग पूरी नहीं होने तक उदयपुर में चल रहा क्रमिक अनशन जारी रहेगा। 18 ओर 19 को वर्क सस्पेंड रहेगा और आंदोलन यथावत जारी रहेगा। इस बीच मांग पूरी नहीं होने पर या सरकार के सकारात्मक रवैया को नहीं मिलने पर महासचिव चेतन पुरी गोस्वामी ने अधिवक्ताओं के समर्थन से आमरण अनशन पर बैठने की घोषणा की है।

 

सरकार का यह प्रयास मेवाड़ हित के लिए सकारात्मक साबित हो इस उम्मीद के साथ संघर्ष समिति के संयोजक चपलोत और रोशन लाल जी सामोता साहब ने श्री चंद कृपलानी के हाथों से जूस पीकर आमरण अनशन को तात्कालिक रुप से समाप्त किया है। इस आंदोलन को अंजाम तक पहुंचाने वाले सभी अधिवक्ता स्वयंसेवी संगठन राजनीतिक आर्थिक व्यापारिक एवं जनप्रतिनिधियों ने अपना सकारात्मक सहयोग दिया उसके लिए दिल से आभार। आप सब के लिए असीम प्रेम सहयोग और अटूट विश्वास के लिए मेवाड़ वागड़ हाई कोर्ट बेंच संघर्ष समिति आपका दिल से आभार व्यक्त करती है और उम्मीद करती है कि इस मांग के लिए हम क्रमिक अनशन तब तक जारी रहेंगे कि हमें हाई कोर्ट बेंच नहीं तो तत्काल राहत के रूप में सर्किट बेंच मिले।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned