स्मार्ट सिटी के निदेशक मंडल में अब कांग्रेस के दखल की तैयारी, यह होगा बदलाव ....

स्मार्ट सिटी के निदेशक मंडल में अब कांग्रेस के दखल की तैयारी, यह होगा बदलाव  ....

Mukesh Hingar | Publish: Dec, 31 2018 01:56:11 PM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

मुकेश हिंगड/उदयपुर . राजस्थान, मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार बनने के बाद इन राज्यों की स्मार्ट सिटी के निदेशक मंडल में अब कांग्रेस की दखल की तैयारी की जा रही है। राजस्थान में कांग्रेस ने इसकी तैयारियां शुरू करते हुए सरकार तक अपनी बात पहुंचा रही है। उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र के शोलापुरा व पुणे स्मार्ट सिटी कंपनी के निदेशक मंडल में विपक्ष के नेता शामिल हैं। निदेशक मंडल बनाने के समय जिस दल की प्रदेश में सरकार थी, उसने अपनी विचारधारा के लोगों का मनोनयन किया। उदयपुर स्मार्ट सिटी कंपनी के निदेशक मंडल में नगर निगम में विपक्ष के नेता को शामिल नहीं किया गया। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के साथ ही उदयपुर में भी यह बात उठ रही है कि स्मार्ट सिटी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में विपक्ष के नेता को शामिल किया जाए। बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में अफसरों के अलावा कुछ सदस्यों को भी मनोनीत किया जाता है, अभी उदयपुर के बोर्ड में महापौर व यूआईटी चेयरमैन डायरेक्टर हैं।

---
शोलापुर व पुणे में विपक्ष के नेता डायरेक्टर

महाराष्ट्र के शोलापुर नगर निगम में विपक्ष के नेता महेश विष्णुपंत कोठे तथा पुणे नगर निगम में विपक्ष के नेता चेतन विठ्ठल तुपे को स्मार्ट सिटी का बोर्ड ऑफ डायरेक्टर बना रखा है।

 

READ MORE ; गहलोत सरकार के इस फैसले पर कटारिया ने कह दी यह बात, कि अगर ऐसा हुआ तो.....

 

इनका कहना है....
स्मार्ट सिटी सीईओ के समक्ष मैंने यह बात रखी है कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के काम बेहतर तरीके से हो, इसके लिए जरूरी है कि बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में विपक्ष को भी शामिल करना चाहिए। ऐसा शोलापुर व पुणे में है। ऐसा होगा तो स्मार्ट सिटी की भावना के अनुरूप करोड़ों रुपए के विकास कार्यों पर जनता के चुने हुए प्रतिनिधियों की पैनी नजर रहेगी और सही समय पर गुणवत्ता पूर्ण काम हो सकेंगे। - महेश शर्मा, एक्सपर्ट
----

वैसे यह होना चाहिए कि इतने बड़े प्रोजेक्ट में पक्ष के साथ विपक्ष का प्रतिनिधि भी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में होना चाहिए। इससे अच्छे परिणाम ही आएंगे। हम सरकार के समक्ष यह बात रखेंगे कि दूसरी स्मार्ट सिटी कंपनी की तरह ही प्रदेश में भी विपक्ष का प्रतिनिधि बोर्ड में हो। - डॉ. गिरिजा व्यास, पूर्व केन्द्रीय मंत्री

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned