कलेक्टर ने सुनाया फरमान

Shahdol online

Publish: Nov, 14 2017 05:44:43 (IST)

Umaria, Madhya Pradesh, India
कलेक्टर ने सुनाया फरमान

लापरवाही पर पटवारी निलंबित

उमरिया. टीएल बैठक भावांतर भुगतान योजना के पंजीयन में ददरौडी में आपरेटर एवं पटवारी द्वारा सही परीक्षण नहीं करने पर तत्काल निलंबित करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर ने जिले के समस्त ग्राम पंचायतों के अंतर्गत संचालित योजनाओ एवं कार्यक्रमों की तहकीकात करने के लिए 234 नोडल अधिकारी नियुक्त किए है जो प्रत्येक सप्ताह भ्रमण कर वस्तु स्थिति से रूबरू होते है और प्राप्त कमियों को दूर कराने के लिए सर्व संबंधित अधिकारियों को सूचित करते है। कलेक्टर ने समस्त अधिकारियों से कहा है कि फील्ड की जो भी कमियां नोडल अधिकारी द्वारा बताई जाती है उसका निराकरण एक सप्ताह के अंदर करते हुए कलेक्टर सहित नोडल अधिकारी को बताएंगे। विभाग के अधिकारियो से कहा है कि आगामी दिनों में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उमरिया जिले के भ्रमण पर आएंगे। इस दौरान किसी भी गांव का भ्रमण करने के पश्चात स्वरोजगार मेले में उपस्थित होकर हितग्राहियों को मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना सहित अन्य योजनाओ से संबंधित हितग्राहियों को मौके पर लाभान्वित करेंगे। कलेक्टर माल सिंह ने कहा है कि समस्त हितग्राही मूलक विभाग मेले में स्टाल लगाकर अधिकाधिक हितग्राहियों को लाभान्वित कराए। इस कार्य में लापरवाही किसी भी दशा में क्षम्य नहीं होगी। उन्होने कहा है कि कोई भी पंजीकृत किसान अपनी फसल उत्पाद के विक्रय के लिए परेशान नही हो इस हेतु मण्डी से 15 किमी दूर के किसानों हेतु वाहन की व्यवस्था निषुल्क रूप से सुनिश्चित की गई है।
बालिका छात्रावास वार्डन एवं चौकीदार को हटाएं
टी एल बैठक में कलेक्टर ने कहा कि घुनघुटी बालिका छात्रावास में भारी अनियमितता है और वहां की छात्राएं अपने को असुरक्षित महसूस कर रही है, साथ ही साफ -सफाई, भोजन नास्ता, आदि भी सही तरीके से उपलब्ध नही कराया जा रहा है। इसे गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर ने डीपीसी को निर्देशित किया है कि सहायक वार्डन एवं चौकीदार को तत्काल निलंबित करे और चुस्त दुरूस्त व्यवस्था बनाये रखने हेतु आवष्यक कार्यवाही सुनिश्चित करे। कलेक्टर ने कहा है कि व्यवस्था में बदलाव नही हुआ तो डीपीसी के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी।
75 किसानों ने अब तक उठाया लाभ
उमरिया। भावांतर भुगतान योजना के तहत पंजीकृत कृषको में से अब तक 75 किसानों ने 438.756 क्विटल फसल विक्रय कर 9 लाख 40 हजार 713 रूपये का भुगतान प्राप्त किया है। इन किसानों को माडल मण्डी की दर में जो अंतर की राषि आयेगी सीधे किसानों के खाते में अंतरित की जाएगी। कृषि उपज मण्डी उमरिया से प्राप्त जानकारी के अनुसार 44 किसानो ने 277.26 क्विटल सोयाबीन, 6 किसानों ने 71.406 क्विटल मक्का, एक किसान ने 98 किलो मूंग, 22 किसानों ने 82.06 क्ंिवटल उड़द तथा 2 किसानों ने 7.45 क्ंिवटल तिल का विक्रय भावांतर भुगतान योजना के तहत मण्डी में किया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned