scriptArtists from Kashi and Tamil Nadu amazing performances cultural evening Kashi-Tamil Sangamam | काशी-तमिल संगमम 2.0 की सांस्कृतिक संध्या में काशी और तमिलनाडु के कलाकारों ने दी अद्भुत प्रस्तुति | Patrika News

काशी-तमिल संगमम 2.0 की सांस्कृतिक संध्या में काशी और तमिलनाडु के कलाकारों ने दी अद्भुत प्रस्तुति

locationवाराणसीPublished: Dec 28, 2023 08:54:46 pm

Submitted by:

SAIYED FAIZ

वाराणसी में 17 दिसंबर से प्रधानमंत्री ने नमो घाट पर काशी-तमिल संगमम का उद्घाटन किया था। रोजाना काशी के नमो घाट पर संध्याकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रम के आयोजन हो रहे हैं, जिसमें काशी और तमिलनाडु के कलाकार अपनी प्रस्तुति दे रहे हैं। इसी क्रम में गुरुवार को भी कलाकारों ने अद्भुत प्रस्तुति दी।

Kashi Tamil Sangamam
काशी-तमिल संगमम 2.0 की सांस्कृतिक संध्या में काशी और तमिलनाडु के कलाकारों ने दी अद्भुत प्रस्तुति
वाराणसी। धर्म की नगरी काशी में लगातार दूसरे वर्ष काशी तमिल संगमम का आयोजन किया गया है। इस आयोजन तमिलनाडु के युवा, अध्यापक, बिजनेसमैन, और अन्य वर्ग के लोग काशी पहुंच रहे हैं और यहां की सभ्यता और कल्चर से रुबरू हो रहे हैं। इसी काशी तमिल-संगमम का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 17 दिसंबर के वाराणसी दौरे पर किया था। इस संगमम में रोजाना हो रहे संध्याकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रम में गुरुवार को काशी और तमिलनाडु के कलाकारों ने दोनों राज्यों के शास्त्रीय और लोक नृत्य, लोक गायन और वाद्य वादन आदि की प्रस्तुति दी, जिससे उपस्थित श्रोता मंत्रमुग्ध हो गए।
काशी-तमिल संगमम की 11वीं सांस्कृतिक संध्या के मुख्य अतिथि रहे प्रोफेसर डॉक्टर टीजी सीताराम, अध्यक्ष, अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई), समारोह के दौरान वो मंत्रमुग्ध दिखे और उन्होंने सभी कलाकारों की प्रतिभा को सराहा और प्रधानमंत्री की प्रेरणा से हो रहे इस आयोजन को करवाने वालों को साधुवाद दिया।
kashi_tamil_sangamam2_.jpgनमो घाट पर हुई कुल 9 प्रस्तुति

काशी-तमिल संगमम के द्वितीय संस्करण के सांस्कृतिक कार्यक्रमों की ग्यारहवीं संध्या पर काशी और तमिलनाडु के नौ सांस्कृतिक कार्यक्रम हुए। गुरुवार की शाम दोनों राज्यों के शास्त्रीय और लोक नृत्य, लोक गायन और वाद्य वादन आदि प्रस्तुतियों ने नमो घाट को संगीतमय कर दिया। मां गंगा के तट पर आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमों का लुत्फ उठाकर समस्त डेलीगेट्स काफी मुग्ध नजर आए। काशी तमिल संगमम के द्वितीय संस्करण के सांस्कृतिक संध्या का आयोजन उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र प्रयागराज एवं दक्षिण क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र तंजावूर, संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार द्वारा किया गया है। इस दौरान कुल 9 प्रस्तुतियां दी गईं।
kashi_tamil_sangamam_4.jpgइन्होने दी प्रस्तुति

सांस्कृतिक संध्या में बनारस घराने से युवाओं ने प्रस्तुति दी जिसमें राहुल-रोहित मिश्रा और उनकी टीम ने शास्त्रीय गीत गंगे पर प्रस्तुति देकर दर्शकों मां गंगा की पौराणिकता और पवित्रता से परिचित कराया। इसके अलावा वाराणसी से हरी पौडियाल और उनकी टीम ने वाद्य यंत्रों की प्रस्तुति दी। घाट पर बैठे लोगों को गंगा मां की भक्ति से सराबोर कर दिया। वहीं तमिलनाडु से पी महेंद्रियन और टीम ने ओयलाट्टम, उरुमी, नैयांडिमेलम और टी गोकुल ने अपनी टीम के साथ पंबई, काई सिलांबटम, कवाडिअट्टम पर जोरदार प्रस्तुति दी। इस विधा में तमिल कलाकारों ने कई तरह के हैरतअंगेज करतब भी दिखाए। इसके बाद डांस मास्टर ए माधवर्मन और उनकी नृत्यांगनाओं की टीम ने भरतनाट्टयम पर प्रस्तुति दी। इसके अलावा, एस जयती और टीम ने थपट्टम, कारगम और अंतिम नौवीं प्रस्तुति के भारनी ने सिवान, पार्वती और सामयट्टम की प्रस्तुति दी जिसे देख लोगों ने जमकर तालियां बजाई।

kashi_tamil_sangamam_6.jpg

ट्रेंडिंग वीडियो